5 बड़ी बातें जो हमें ONE Friday Fights 34: Rodtang Vs. Superlek से पता चलीं

Superlek Kiatmoo9 Rodtang Jitmuangnon ONE Friday Fights 34 84

बैंकॉक के लुम्पिनी बॉक्सिंग स्टेडियम में हुए ONE Friday Fights 34: Rodtang vs. Superlek से ऐसे दौर की शुरुआत हुई है, जहां अगले 2 हफ्तों में भी फैंस को ब्लॉकबस्टर इवेंट्स देखने को मिलेंगे। इवेंट के 11 मैचों के कार्ड ने फैंस को बिल्कुल निराश नहीं किया।

ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन रोडटंग जित्मुआंगनोन और ONE फ्लाइवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन सुपरलैक कियातमू9 की मॉय थाई सुपर फाइट को देख दुनिया भर के फैंस उत्साहित हो उठे थे।

उनके अलावा भी कई अन्य एथलीट्स ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यादगार जीत दर्ज कीं, जो उनके करियर को नई ऊंचाइयों पर पहुंचा रही होंगी।

आइए जानते हैं उन 5 बड़ी बातों के बारे में जो हमें ONE Friday Fights 34 से पता चलीं।

रोडटंग और सुपरलैक उम्मीदों पर खरे उतरे

पिछले 50 साल की सबसे बड़ी मॉय थाई फाइट का भार रोडटंग और सुपरलैक के कंधों को झुका रहा होगा, लेकिन दोनों एथलीट्स ने इसे अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया। उनकी भिड़ंत ONE Championship इतिहास के सबसे धमाकेदार मुकाबलों में से एक साबित हुई।

3 राउंड्स के जबरदस्त एक्शन के दौरान थाई मेगास्टार्स ने एक-दूसरे का बुरा हाल करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

पहले राउंड में रोडटंग की एल्बो से सुपरलैक के माथे से खून बहने लगा था, लेकिन “द किकिंग मशीन” ने हंसते हुए स्थिति अनुसार खुद को ढाला और दूसरे राउंड में अपने हमवतन एथलीट को नॉकडाउन करते हुए मैच का रुख अपनी ओर मोड़ा। अंतिम राउंड में दोनों ने पूरी ताकत से अटैक किया, जहां क्राउड उनकी हर एक स्ट्राइक के प्रति उत्साह दिखा रहा था।

9 मिनट के कांटेदार नॉन-टाइटल मुकाबले के अंत में सुपरलैक ने मौजूदा ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन को हराने में सफलता पाई।

ये मैच सबकी उम्मीदों पर खरा उतरा है, जिससे एथलीट्स, एक्सपर्ट्स और फैंस उन्हें दोबारा भिड़ते हुए जरूर देखना चाहेंगे। ये शायद एक ऐतिहासिक प्रतिद्वंदिता की शुरुआत मात्र है।

प्राजनचाई की नजरें 2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन बनने पर

मौजूदा ONE अंतरिम स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन प्राजनचाई पीके साइन्चाई और 3 बार के ISKA किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन अकरम हमीदी के बीच हुए स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग मैच का विजेता अगले संभावित टाइटल चैलेंजर के रूप में उभर कर सामने आने वाला था।

अंत में थाई स्टार ने सर्वसम्मत निर्णय से जीत दर्ज करते हुए अपने लक्ष्य की ओर एक कदम आगे बढ़ा दिया है।

हालांकि प्राजनचाई अपने प्रदर्शन से संतुष्ट दिखाई नहीं दिए, जिन्होंने अपने फ्रेंच-अल्जीरियाई एथलीट को कॉम्बिनेशंस, शानदार स्ट्राइकिंस, स्पीड और पावर के दम पर झकझोर दिया था। मैच का परिणाम आने तक थाई एथलीट साबित कर चुके थे कि वो दुनिया के सबसे बेस्ट फाइटर्स को भी हराने का दम रखते हैं।

अन्य फैंस की तरह 28 वर्षीय एथलीट भी ONE Fight Night 15 में होने वाले ONE स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच पर नजर बनाए रखेंगे, जिसमें अपराजित चैंपियन जोनाथन डी बैला को डेनियल विलियम्स के खिलाफ अपनी बेल्ट को डिफेंड करना होगा।

कुलबडम सबके लिए बड़ा खतरा

कुलबडम सोर जोर पिएक उथाई ने टायसन हैरिसन के खिलाफ मैच में शुरुआत से ही अपने इरादे स्पष्ट कर दिए थे। 2 बार के पूर्व Lumpinee Stadium वर्ल्ड चैंपियन रह चुके कुलबडम अपने घरेलू फैंस के सामने बड़ी जीत दर्ज करना चाहते थे और ऐसा करने में सफल भी रहे।

हैरिसन ONE Friday Fights के उभरते हुए स्टार्स में से एक हैं और कई बड़ी जीत दर्ज कर चुके हैं, जिनमें कई नॉकआउट फिनिश भी शामिल हैं। मगर इस बार उन्होंने खुद से लंबे ऑस्ट्रेलियाई प्रतिद्वंदी को ऐसे मूव्स लगाकर धराशाई किया, जिनके लैंड होने की आवाज लुम्पिनी स्टेडियम में गूंज रही थी।

पहले राउंड के अंत में हैरिसन के चेहरे की दशा मैच की स्थिति बयां कर रही थी। डॉक्टर और रेफरी ने हैरिसन की जांच की, जिसके बाद फाइट दूसरे राउंड में प्रवेश ही नहीं कर पाई।

ये कुलबडम के लिए बड़ी जीत रही, जिसने साबित किया कि 24 वर्षीय स्टार के हाथों में गज़ब की ताकत है, जो उन्हें डिविजन के अन्य सभी फाइटर्स के लिए बड़ा खतरा साबित करती है।

Fight Night इवेंट्स के लिए तैयार हैं सेकसन

सेकसन ओर क्वानमुआंग को देख ऐसा लगता है जैसे वो Fight Night इवेंट्स की चकाचौंध के लिए तैयार हैं।

“द मैन हू यील्ड्स टू नो वन” ने 140-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मुकाबले में अमीर नासेरी को सर्वसम्मत निर्णय से हराकर ONE में अपने परफेक्ट रिकॉर्ड को कायम किया है। उन्होंने लगातार 3 राउंड्स में दिखाया कि वो क्यों मिस्टर Friday Night बन गए हैं।

ONE Friday Fights में लगातार 6 मैचों में शानदार प्रदर्शन करने के बाद वो अपने करियर के अगले पड़ाव पर पहुंच गए हैं। संभव है कि अगले मैच के लिए उन्हें ONE Fight Night इवेंट के कार्ड में जगह मिल सकती है।

सेकसन ने अभी तक एशियाई प्राइमटाइम ऑडियन्स का मनोरंजन किया है और कुछ ही समय बाद वो यूएस प्राइमटाइम फैंस का मनोरंजन करते हुए नजर आ सकते हैं।

‘थंडर किड’ की धमाकेदार वापसी

जब कोई एथलीट घुटने की चोट से उबर कर वापसी कर रहा हो, तब उनके लिए वापसी करना आसान नहीं होता, लेकिन लिटो “थंडर किड” आदिवांग ने इन मान्यताओं को गलत साबित कर दिया है।

करीब डेढ़ साल तक फाइटिंग से दूर रहने के बाद फिलीपीनो स्टार ने ONE Friday Fights 34 में वापसी की, जहां उन्होंने एड्रियन मैथिस को केवल 23 सेकंड में तकनीकी नॉकआउट से हरा दिया।

ये आदिवांग के लिए परफेक्ट वापसी रही, जिसका महत्व उनके लिए काफी अधिक है। इस जीत से उन्होंने स्ट्रॉवेट MMA डिविजन के अन्य कंटेंडर्स को चेतावनी देकर दर्शाया है कि वो वापस आ गए हैं और उनका लक्ष्य वर्ल्ड चैंपियन बनना है।

“थंडर किड” ने दिखाया कि क्यों उन्हें सबसे दिलचस्प MMA फाइटर्स में से एक माना जाता है।

किकबॉक्सिंग में और

Elias Mahmoudi Edgar Tabares ONE Fight Night 13 28
Ok Rae Yoon Alibeg Rasulov ONE Fight Night 23 36
Tye Ruotolo Jozef Chen ONE Fight Night 23 32
Kulabdam Sor Jor Piek Uthai Nabil Anane ONE Friday Fights 69 34
OkRaeYoon AlibegRasulov 1920X1280
Kulabdam NabilAnane CeremonialFaceoff 1920X1280
Oumar Kane Marcus Almeida ONE Fight Night 13 95
BoucherKetchup 1200X800
Kulabdam Sor Jor Piek Uthai Wins 1200X800
Oumar Kane Marcus Almeida ONE Fight Night 13 61
Prajanchai PK Saenchai Jonathan Di Bella ONE Friday Fights 68 77
Prajanchai PK Saenchai Jonathan Di Bella ONE Friday Fights 68 48