मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

जकार्ता में नॉकआउट से जीत दर्ज करना चाहते हैं कोयोमी मत्सुशीमा

कोयोमी “मौशिगो” मत्सुशीमा पिछले साल ONE वर्ल्ड टाइटल पाने के अपने प्रयास में विफल रह गए थे लेकिन उन्होंने ONE: WARRIOR’S CODE में होने वाली बाउट जीतकर फिर से शीर्ष पर जाने के लिए मेहनत करनी शुरू कर दी है।

इस शुक्रवार, 7 फरवरी को इंडोनेशिया के जकार्ता में जापानी फेदरवेट “द फाइटिंग गॉड” किम जे वूंग का सामना करके मेन कार्ड की शुरुआत करेंगे।

दक्षिण कोरियाई नॉकआउट आर्टिस्ट ने 2019 में राफेल नुनेज को फिनिश करके ग्लोबल स्टेज पर एक विस्फोटक प्रदर्शन किया था। हालांकि, इससे मत्सुशीमा चिंतित नहीं हैं बल्कि वो उनसे बाउट करने के लिए पहले से ज्यादा उत्साहित हैं।

वो कहते हैं, “जैसे-जैसे मैच की घड़ी करीब आ रही है, मैं आखिरी चरण में ज्यादा ट्रेनिंग ले रहा हूं। मैं सर्कल में जाने के लिए उत्साहित हो रहा हूं। मैं जल्द से जल्द वहां पहुंचना चाहता हूं।”

मत्सुशीमा के आखिरी दो बाउट में उनके कुश्ती के कौशल की मजबूत रणनीति देखने को मिली थी। ऐसे में किम जो वूंग को अपने प्रतिद्वंदी से इस्तोरा सेनयन में एक रोमांचक मैच की उम्मीद होगी। हालांकि, “मौशिगो” की मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स स्किल्स स्ट्राइकिंग की मजबूत नींव पर बनी हैं। ऐसा लगता है कि वो फिर से अपनी ताकत दिखाने के लिए काफी एक्साइटेड हैं।

बीते दिनों उन्होंने अपनी ग्रैपलिंग क्षमता बढ़ाने के लिए इस पर अतिरिक्त समय देकर काम किया है। Kyokushin कराटे ब्लैक बेल्ट एथलीट ने अपने पंचेज और फुटवर्क को अपग्रेड करने की कोशिश की है, ताकि वो अपने ONE करियर की शुरुआत की तरह यादगार जीत हासिल कर सकें।

वो कहते हैं, “मैंने एक बॉक्सिंग जिम जॉइन किया और अपनी स्ट्राइकिंग को एक नया रूप दिया।”

“किम एक कंप्लीट स्ट्राइकर हैं। वो सोच रहे होंगे कि मैं सिर्फ एक ग्रैपलर हूं इसलिए मैं सॉलिड स्ट्राइक्स के साथ जीतना चाहता हूं। ये दिखाना चाहता हूं कि मैं बिना किसी चूक के अपने गेम पर नियंत्रण रख सकता हूं।

“मेरे विरोधी के पास स्ट्राइकिंग की बहुत विशिष्ट, मजबूत और दबाव वाली शैली है। वो जबरदस्त लय में हैं इसलिए निर्णायक रूप से मैं उन्हें रोकना चाहता हूं। वो बॉक्सिंग रेंज में फाइट करते हैं। इस वजह से मुझे उनकी सीमा से बाहर आकर हमले करते रहने होंगे।”



मत्सुशीमा के पास कई मौके आ सकते हैं लेकिन वो Extreme Combat and Top Gym BF प्रतिनिधि की ताकत और खतरे को भली-भांति समझते हैं।

किम के पास अपराजित मुक्केबाज के रूप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने 10 में से छह मैचों में जीत नॉकआउट से दर्ज की है। इसके अलावा, पहली ही बाउट ने उनकी निडर एथलीट के रूप में छवि प्रदर्शित की, जो उनके बराबरी से लड़ने की क्षमता को जाहिर करती है।

“मौशिगो” बताते हैं, “मेरे विरोधी शारीरिक रूप से बहुत मजबूत हैं। वो जब सर्कल में मैच कर रहे होते हैं तो उन्हें जरा भी डर नहीं लगता है। मैं ये नहीं सोचता कि उन पर दबाव बनाना जरा सा भी आसान होगा।”

“सर्कल में हमें एक-दूसरे को समझने में थोड़ा वक्त ले सकते हैं। मैं उनकी सीमा में जाकर नहीं लड़ना चाहता हूं लेकिन मुझे लगता है कि वो अपनी सीमा से बाहर लो किक मारने की ही कोशिश करते हैं इसलिए मैं वहां उन्हें पछाड़ने के मौके तलाश सकता हूं।”

Pancrase ISM Yokohama प्रतिनिधि ने ये भी देखा है कि “द फाइटिंग गॉड” अपने मजबूत हाथों से कितने खतरनाक हैं। लेकिन वो मानते हैं कि उनका सबसे अच्छा दांव अपनी ताकत पर ध्यान देना होगा।

Koyomi Matsushima defeats Kwon Won Il

उन्होंने कहा, “बेशक अपने आखिरी मैच में उन्होंने बॉडी पर अटैक से जीत हासिल हुई है। इस वजह से मुझे लगता है कि उस पक्ष में वो बेहद मजबूत हैं। हालांकि, मुझे उस पर ध्यान देने की कोई जरूरत नहीं है।”

“अगर ये करता हूं तो मैं अच्छी तरह से मूव नहीं कर पाऊंगा। सबसे पहले मैं अपने मूवमेंट पर ध्यान केंद्रित करना चाहता हूं। मुझे लगता है कि मेरा टेकडाउन काफी अच्छा है। मैं लगातार टेकडाउंस की तरफ जाऊंगा और उनके हमलों का इंतजार नहीं करूंगा। अगर मैच में मैं ऐसा कर सकता हूं तो ये ठीक रहेगा।

“मुझे लगता है कि मेरे प्रतिद्वंदी ने अब तक अपने सिर्फ मजबूत पहलू ही दिखाए हैं इसलिए मुझे अब अपने मजबूत पहलुओं को सामने लाना होगा। मुझे लगता है कि उन्होंने कहा है कि वो मुझे हरा सकते हैं इसलिए मैं उन्हें गलत साबित करना चाहता हूं।”

ये भी पढ़ें: मार्शल आर्ट्स के सिद्धांतों से भविष्य के स्टार्स तैयार कर रहे हैं रीनियर डी रिडर

जकार्ता | 7 फरवरी | ONE: WARRIOR’S CODE | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं