किकबॉक्सिंग

निडर होकर क्रीकलिआ को वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए चैलेंज करेंगे आयगुन

रोमन क्रीकलिआ अपने प्रोमोशनल डेब्यू मैच में ONE लाइट हेवीवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन बनने में सफल रहे थे। अब मुरात “द बुचर” आयगुन भी उसी तरह अपने प्रोमोशनल डेब्यू को यादगार बनाना चाहते हैं।

डच-टर्किश एथलीट शुक्रवार, 4 दिसंबर को ONE: BIG BANG में क्रीकलिआ को उनके टाइटल के लिए चैलेंज करेंगे और उनका मानना है कि वो चैंपियन को हराने में सक्षम हैं।

आयगुन ने कहा, “ONE Championship बेल्ट मेरे लिए बहुत महत्व रखती है और मैं इसे जीतना चाहता हूं।”

“ONE एक बहुत बड़ी कंपनी है और मैं हर चीज में बेस्ट करना चाहता हूं इसलिए ONE Championship में भी बेस्ट एथलीट बनने का पूरा प्रयास करूंगा।”

आयगुन का रिकॉर्ड 16-1 का है और वो जानते हैं कि क्रीकलिआ को हराना आसान नहीं होगा और ना ही वो स्टाइल्स की तुलना करना चाहते हैं।

उनका खुद का स्टाइल फ्रंटफुट पर रहकर अटैक करना है और चिन (ठोड़ी) बहुत मजबूत है। इसलिए SB Gym के प्रतिनिधि दमदार शॉट्स के प्रभाव झेलने के साथ अपने शॉट्स लगाने के लिए भी तैयार हैं।

“द बुचर” इससे पहले कभी नॉकआउट नहीं हुए हैं और उनकी एकमात्र हार तब आई जब चोट के कारण मैच समाप्त हो गया था। उस मैच में भी वो बढ़त प्राप्त कर चुके थे। अब वो अपने बढ़े हुए आत्मविश्वास के साथ Gridin Gym के एथलीट को हराने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा, “मैं ज्यादा मूवमेंट नहीं करना चाहता और फ्रंटफुट पर रहकर उन्हें पंच लगाने की कोशिश करूंगा।”

“मैं एक फाइटर हूं इसलिए कभी पीछे मुड़कर नहीं देखता। मुझे पंच जरूर लग सकते हैं लेकिन मुझे कमजोर करना बहुत कठिन है क्योंकि मेरा सिर बहुत मजबूत है। मुझे अहसास हो रहा है कि मैं हार नहीं सकता और ना ही नॉकआउट हो सकता हूं।”

दूसरी ओर, क्रीकलिआ भी कभी नॉकआउट नहीं हुए हैं और वो अपने प्रतिद्वंदी से दूर रहकर अटैक करना पसंद करते हैं।

नवंबर 2019 में हुए ONE: AGE OF DRAGONS में भी इसी तरह की स्किल्स का प्रयोग कर वो तारिक “द टैंक” खबाबेज़ को हराकर ONE लाइटवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन बने थे।

यूक्रेनियाई एथलीट ने दूसरे राउंड में खबाबेज़ के शॉट्स को ब्लॉक किया और लगातार पंच लगाते रहने के कारण TKO से जीत प्राप्त की।

आयगुन जानते हैं कि क्रीकलिआ को हराना आसान नहीं होगा, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि अंदर से मजबूत होना उन्हें मेन इवेंट मैच में जीत दिलाने में मदद करेगा।

उन्होंने कहा, “रोमन क्रीकलिआ एक बेहतरीन एथलीट हैं, लंबे हैं, दूर रहकर स्ट्राइक्स लगाना पसंद करते हैं और उनका सबसे बड़ा हथियार उनकी नी स्ट्राइक्स हैं।”

“मेरा स्टाइल आक्रामक है और अपने प्रतिद्वंदियों के करीब जाकर स्ट्राइक्स लगाना पसंद है, लेकिन मुझे नॉकडाउन करना बिल्कुल भी आसान नहीं है। यही मेरा स्टाइल है और यही चीज मुझे खास बनाती है और कभी हार नहीं मानता।”

क्रीकलिआ के मूवसेट को ध्यान में रख आयगुन ने भी अपनी रणनीति तैयार कर ली है। वो वर्ल्ड चैंपियन को हराकर वर्ल्ड टाइटल जीतने की पूरी तैयारी कर चुके हैं।

“द बुचर” को भरोसा है कि उन्हें ही इस मैच में जीत मिलने वाली है।

आयगुन ने कहा, “मैं उनसे बेहतर प्रदर्शन करना चाहता हूं, मूव्स को काउंटर करूंगा और उनसे तेज मूव्स का इस्तेमाल करूंगा। मुझे उम्मीद है कि इस मैच में मुझे नॉकआउट से जीत मिलेगी।”

ये भी पढ़ें: शानदार डेब्यू के बाद क्रीकलिआ पहले वर्ल्ड टाइटल डिफेंस के लिए हैं तैयार