न्यूज़

आगे-पीछे के फ्लाईवेट रोमांच में चान रोथना ने गुस्तावो बालार्ट को नीचे गिराया

Aug 17, 2019

चान रोथाना को शुक्रवार 16 अगस्त को उसके फ्लाईवेट मिक्सड मार्शल आर्ट मुकाबले की सीमा तक पहुंचा दिया गया था लेकिन अंततः उन्होंने थाईलैंड, बैंकॉक के इम्पैक्ट एरिना को अपने करियर की सबसे बड़ी जीत के साथ छोड़ा।

वह क्यूबा के पहलवान गुस्तावो “एल ग्लैडीएडर” बालार्ट के साथ ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड पर एक आगे-पीछे की लड़ाई में लगे हुए थे। और तीन कठिन दौर के बाद उन्होंने एक सर्वसम्मत निर्णय से जीत अर्जित की। यह कंबोडियन स्ट्राइकर के लिए एक आसान रात नहीं थी।

बालार्ट- तीन बार के पैन अमेरिकन ग्रीको-रोमन रेसलिंग चैंपियन अपनी कुश्ती की विशेषज्ञता के साथ पहले दो राउंड में बहुत हावी रहा। 32 वर्षीय क्यूबन ने ओपनिंग स्टेंजा में दो बार बड़े टेकडाउन हासिल कर शीर्ष स्थान से एक्शन को नियंत्रित कर अपने लंबे प्रतिद्वंद्वी को निराश किया।

न केवल वह दूरी को कम करने में सफल रहा बल्कि उसने रोथाना को अपने पैर पर गिराने के लिए खतरनाक ओवरहैंड का भी इस्तेमाल किया।

Cambodian martial arts phenom Chan Rothana lands a roundhouse kick on Gustavo Balart

दूसरे दौर में बालार्ट कार्रवाई को आगे बढ़ाता रहा लेकिन हर बार “एल ग्लैडीएडर” एक टकेडाउन की तलाश में आगे बढ़ जाता। रोथाना घुटने उसके धड़ पर जवाबी प्रहार करता है।

क्यूबाई की आक्रामकता के बावजूद 33 वर्षीय नोम पेन्ह निवासी अप्रभावित था। कुछ भी हो वह मजबूत हो रहा था। रोथना फाइनल राउंड में जोश से भर गया। सेलपाक प्रतिनिधि ने अपने थके हुए प्रतिद्वंदी को प्रहार किया और सभी प्रकार के संयोजनों का इस्तेमाल- सीधे राइट से लेकर वज्र के समान किक तक का।

बालार्ट शॉट्स में डूबा और पीछे हट गया। उसने अपनी उखड़ी सांस नियंत्रित करने की कोशिश की लेकिन कम्बोडियन ने अपने हमले बंद नहीं किए। “एल ग्लैडीएडर” ने प्रतियोगिता के अंतिम क्षणों में एक लास्ट डिच टेकडाउन मारा लेकिन यह जीत को सुरक्षित करने के लिए पर्याप्त नहीं होगा।

Chan Rothana poses with the Cambodian flag, the winner's medal, and the ring girls

15 मिनट के आगे-पीछे के एक्शन के बाद तीनों जजों ने सर्वसम्मति से रोथना को विजेता घोषित किया। यह निसंदेह रोथाना के पेशेवर करियर की सबसे बड़ी जीत है क्योंकि उसने एक एथलीट को हराया था जिसने हाल ही में ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड ग्रांड प्रिक्स में प्रतिस्पर्धा की थी।

इस जीत ने कम्बोडियन के रिकॉर्ड को 7-3 तक बढ़ा दिया और इसने उसे अपने करियर की पहली तीन-लड़ाई की रेखा में डाल दिया।