मॉय थाई

5 मुकाबले जो बताते हैं कि रोडटंग जित्मुआंगनोन किसी सुपरहीरो से कम नहीं हैं

मात्र 15 महीनों के अंदर रोडटंग “द आयरन मैन” जित्मुआंगनोन ने खुद को दुनिया के सबसे बेस्ट मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट्स में शामिल कर लिया है।

थाईलैंड के स्टार एथलीट को अभी तक अपने ONE Championship करियर में हार नहीं मिली है। इस दौरान उन्होंने 6 बड़े प्रतिद्वंदियों को हराया है। वो अब ना केवल बड़े स्टार बन चुके हैं बल्कि ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन भी हैं।

उन्हें अब जोनाथन “द जनरल” हैगर्टी के खिलाफ चैंपियनशिप रीमैच में जीत हासिल करने के लिए अपनी फॉर्म को बनाए रखना होगा। वो ग्लोबल स्टेज पर अभी तक बेहतरीन प्रदर्शन करते आए हैं इसलिए 10 जनवरी को इस 22 वर्षीय एथलीट को रोक पाना काफी मुश्किल होगा।

#1 डेब्यू मुकाबले में ही धमाकेदार जीत दर्ज की

सितंबर 2018 में ONE Super Series फ्लाइवेट डिविजन के अपने पहले मुकाबले में रोडटंग ने सर्जियो विल्ज़न को हराया था।

सूरीनामी एथलीट इस मैच में कई प्रतिभाओं के धनी और वर्ल्ड चैंपियन के रूप में आए थे लेकिन ONE: CONQUEST OF HEROES में “द आयरन मैन” की आक्रामकता का उनके पास कोई जवाब नहीं था।

विल्ज़न लगातार अपने प्रतिद्वंदी के बराबर रहने की कोशिश कर रहे थे लेकिन जल्दी ही उन्हें समझ आ गया कि ये रणनीति काम नहीं करने वाली क्योंकि रोडटंग ने उन्हें पहले ही राउंड में जबरदस्त लेफ्ट हुक लगाया था।

इससे Sityodtong Amsterdam टीम के मेंबर को समझ आ गया था कि उनके लिए इस मैच में जीत हासिल करना आसान नहीं है। वो कभी मैच में वापसी कर ही नहीं पाए और रोडटंग के पास जितने भी मूव्स थे, वो बेहद आसानी से उनका इस्तेमाल कर रहे थे।

वो आगे आने की कोशिश कर रहे थे लेकिन रोडटंग ने धैर्य ना खोते हुए अपने प्रतिद्वंदी को ही पीछे धकेलना शुरू कर दिया और दबाव बढ़ाना शुरू कर दिया। मैच के आखिरी सेकेंड्स में सर्जियो काफी थक चुके थे और आखिर में जोरदार पंच के बाद रोडटंग को सर्वसम्मत निर्णय से विजेता घोषित किया गया।

इस जीत से उन्होंने अन्य एथलीट्स को सचेत कर दिया था कि वो इस डिविजन पर राज करने आ रहे हैं।

#2 “द ग्लैडिएटर” से सामना

कुछ महीनों बाद ही “द आयरन मैन” ने सर्कल में वापसी की और इस बार उनके सामने फेहदी “द ग्लैडिएटर” खालेद थे। उनके हाथों में इतनी ताकत थी कि एक बार फिर उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया और पहले ही राउंड में अपने प्रतिद्वंदी को नीचे गिराने में सफलता पाई थी।

इस एक पंच ने ONE: HERO’S ASCENT में हुए इस मैच की दिशा तय कर दी थी और थाई सुपरस्टार ने मैच में अपना वर्चस्व कायम रखा था। हालांकि, फेहदी हार मानने को तैयार नहीं थे जबकि उन्हें लगातार पंच और स्ट्राइक्स झेलनी पड़ रही थीं और वो लगातार रोडटंग के अटैक को रोकने का प्रयास भी कर रहे थे।

रोडटंग जीत की ओर आगे बढ़ रहे थे लेकिन साथ ही निराश भी हुए क्योंकि खालेद हार मानने के बजाय काउंटर कर रहे थे। इसके बावजूद उन्होंने ये सुनिश्चित किया कि फिलीपींस के लोगों का पूरा मनोरंजन हो और मैच 3 राउंड तक चला।

रोडटंग कभी ऐसी स्थिति में नजर ही नहीं आए, जहाँ से जीत उनसे दूर जा सकती थी। इस एक और जीत ने उन्हें वर्ल्ड चैंपियनशिप के एक कदम और करीब पहुंचा दिया था।

#3 घरेलू फैंस के सामने मिला पहला फिनिश

मई में सोक थय के खिलाफ मैच में उन्होंने दर्शा दिया था कि उनकी स्ट्राइक्स कितनी दर्दनाक हो सकती हैं।

ONE: WARRIORS OF LIGHT में रोडटंग ने कंबोडियन कुन खमेर वर्ल्ड चैंपियन को दूसरे राउंड में पूरी ताकत से लो किक्स लगाते हुए हराया था।

थाई एथलीट ने रिंग पर अपना नियंत्रण नहीं खोया और पूरी ताकत से अपने कंबोडियन प्रतिद्वंदी के पैरों को क्षति पहुंचाते रहे। जब सोक थय ने वापसी करने की कोशिश की तो रोडटंग को आश्चर्य नहीं हुआ बल्कि उन्होंने उसी अंदाज में उस काउंटर का जवाब भी दिया।

पहले राउंड के अंतिम सत्र में रोडटंग के प्रहार से सोक लंगडाने लगे थे। “द आयरन मैन” को एहसास हो चुका था कि उनके प्रतिद्वंदी चोटिल हैं। फैंस भी रोडटंग को चीयर करने लगे और लंबे इंतज़ार के बाद उन्हें अपने ONE करियर में पहला फिनिश हासिल हुआ।

साथ ही ये उनकी लगातार चौथी जीत रही जिससे वो वर्ल्ड टाइटल की लाइन में एक स्थान और आगे बढ़ गए थे।

#4 बाउट ऑफ द ईयर

ONE: DAWN OF HEROES में रोडटंग का सामना ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच में जोनाथन हैगर्टी से हुआ और फैंस को साल 2019 में ONE Super Series का सबसे धमाकेदार मुकाबला देखने को मिला था।

शुरुआती राउंड्स में हैगर्टी को बढ़त मिल रही थी क्योंकि वो अपनी रीच/पहुंच का फायदा उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे थे। लेकिन फैंस भी जानते थे कि कुछ सेकेंडों में ही मैच पलट सकता है और हुआ भी कुछ ऐसा ही।

आखिरकार तीसरे राउंड में रोडटंग ने वापसी की और जिस अंदाज के लिए उन्हें जाना जाता है, उसी अंदाज में बॉडी और सिर पर हुक लगाने शुरू कर दिए, इससे इंग्लिश एथलीट बैकफुट पर जाने को मजबूर हो गए थे।

हैगर्टी पर दबाव बढ़ता जा रहा था, रोडटंग की वापसी हो चुकी थी और धीरे-धीरे वो जीत के करीब पहुंचते जा रहे थे। आखिरकार जबड़े पर एक क्लीन राइट हैंड से हैगर्टी नीचे गिर पड़े और “द आयरन मैन” की जीत लगभग सुनिश्चित कर दी थी।

खैर, अभी मुकाबला समाप्त नहीं हुआ था। आखिरी राउंड में दोनों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली। अंत में 22 वर्षीय रोडटंग को सर्वसम्मत निर्णय से जीत मिली और ONE फ़्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन बने।

#5 अपना वर्चस्व कायम रखा

बहुत से मार्शल आर्टिस्ट्स मानते हैं कि कोई एथलीट तब अच्छा वर्ल्ड चैंपियन बनता है, जब वो उसे डिफेंड करने में सफल रहे और रोडटंग ने अपने टैलेंट के सहारे ऐसा करने में भी सफलता हासिल की।

अक्टूबर में हुए ONE: CENTURY PART II में उनका सामना वॉल्टर गोंसाल्वेस से हुआ। फैंस को एक और 5 राउंड तक चला क्लासिक मुकाबला देखने को मिला।

गोंसाल्वेस ने अच्छी शुरुआत की और हेड किक भी लगाई लेकिन ये सभी चीजें “द आयरन मैन” को अपनी फॉर्म में वापस आने को मजबूर कर रही थीं। जैसे ही रोडटंग ने अटैक करना शुरू किया, चैलेंजर को अपने अटैक का पूरा भुगतान करना पड़ा।

रोडटंग ने मैच के दौरान वॉल्टर की बॉडी पर जोरदार प्रहार करना जारी रखा था और कई बार वर्ल्ड चैंपियन रह चुके वॉल्टर को अपने आक्रामक रुख के दर्शन करवाए। स्थिति ऐसी थी कि रोडटंग को अटैक करने के लिए पूरे सर्कल में घूमना पड़ रहा था क्योंकि गोंसाल्वेस पूरी तरह डिफेंसिव रणनीति अपना चुके थे।

मैच के अंतिम क्षणों में जब गोंसाल्वेस ने एक और हेड किक लगाने की कोशिश की, तो वो रोडटंग की चिन पर नहीं लग सकी। उन्हें इसका भी भुगतान करना पड़ा और आखिर में जजों ने “द आयरन मैन” को विभाजित निर्णय से विजेता घोषित किया।

इस तरह के प्रदर्शन से ये सोच पाना भी मुश्किल है कि इम्पैक्ट एरीना में होने वाले ONE: A NEW TOMORROW में उन्हें जीत क्यों नहीं मिलेगी।

ये भी पढ़ें: रोडटंग जित्मुआंगनोन का साल 2019: चैंपियन बने और अब नए रिकॉर्ड बनाने की चाह

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें