कॉम्बैट खेलों ने किस तरह विक्टर पिंटो को Esports में सफलता दिलाई

Victor Pinto at ONE A NEW TOMORROW DC 4937

ONE Super Series ऐसी अकेली जगह नहीं है जहां विक्टर “लियो” पिंटो किसी प्रतियोगिता में भाग लेते हैं।

शुक्रवार, 12 नवंबर को ONE: NEXTGEN II के शुरुआती मुकाबले में बेंटमवेट मॉय थाई स्ट्राइकर का सामना हान ज़ी हाओ से होगा। पिंटो एक अच्छे फाइटर होने के साथ ई-स्पोर्ट्स लवर भी हैं।

उन्होंने कहा, “मैं गेमिंग स्ट्रीमर हूं। मैं फेसबुक पर गेम्स खेलते हुए ज्यादा लाइव स्ट्रीम करता हूं।”

“मैं पिछले 4 साल से स्ट्रीमिंग कर रहा हूं और फाइटिंग के अलावा ये मेरे सबसे पसंदीदा कामों में से एक है। गेमिंग करना मुझे बहुत पसंद है।”

28 वर्षीय पिंटो ई-स्पोर्ट्स में उसी तरह आगे बढ़े हैं, जैसे वो अपने मॉय थाई करियर में आगे बढ़े थे। इसी कारण वो मॉय थाई के अलावा गेमिंग वर्ल्ड में भी सफलता प्राप्त कर सके हैं।

उनका मानना है कि जैसे-जैसे गेमिंग फॉर्मेट बढ़ेगा, वैसे-वैसे इसे ज्यादा सम्मान मिलने लगेगा और लोग जान पाएंगे कि गेमिंग वर्ल्ड के टॉप पर पहुंचना आसान नहीं है।

पिंटो ने कहा, “मैं PUBG (Players Unknown’s Battleground) खेलता हूं।”

“ई-स्पोर्ट्स इंडस्ट्री अब अच्छा कर रही है और मुझे लगता है कि स्पोर्ट्स का फ्यूचर यही है। इसे भी खेलों में जगह दी जानी चाहिए क्योंकि लोग सोचते हैं कि गेमिंग केवल गेम्स खेलना होता है।”

“अगर आप टॉप लेवल पर पहुंचना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको बहुत कड़ी मेहनत करनी होगी, दिन में 5 से 6 घंटे, जैसे आप किसी फाइट के लिए ट्रेनिंग करते हैं।”



ONE Championship में आने से पहले पिंटो का अपने भविष्य को लेकर कोई लक्ष्य नहीं था और काफी समय बाहर घूमते हुए बिताया करते थे।

इस दौरान उन्हें ई-स्पोर्ट्स के बारे में पता चला और इसी से उन्हें कॉम्बैट खेलों के बारे में जानकारी मिली।

उन्होंने बताया, “ई-स्पोर्ट्स ने मेरी बहुत मदद की है क्योंकि मैं फाइटिंग से 2 साल तक दूर रहा और इसने मुझे अनुशासित रहना सिखाया है। जब आप किसी चीज़ में प्रोफेशनल बन जाते हैं तो आपको अनुशासित रहते हुए अपना पूरा ध्यान एक ही जगह पर केंद्रित करना होता है।”

ONE में पहुंचने के बाद पिंटो को अहसास हुआ कि वाकई में टॉप पर पहुंचने के लिए दृढ़ता बहुत जरूरी होती है। वो मानते हैं कि फाइट्स के लिए ट्रेनिंग के दौरान उन्हें किसी ना किसी चीज़ का त्याग करना ही था।

फ्रेंच स्टार अभी भी गेमिंग करते हैं, लेकिन वो अपना खाली समय अपनी प्रो टीम – पिंटो गेमिंग को देते हैं। साथ ही वो उभरते हुए ई-स्पोर्ट्स स्टार्स को एलीट लेवल तक पहुंचने में मदद करते हैं।

उन्होंने बताया, “अब मैं फाइटिंग में वापस आया हूं इसलिए गेमिंग को थोड़े समय के लिए रोकना पड़ेगा क्योंकि मैं एक ही समय पर 2 चीज़ें नहीं कर पाऊंगा। मैं अपना पूरा ध्यान फिलहाल फाइटिंग पर केंद्रित करना चाहता हूं।”

“अलग-अलग गेम्स में हमारी 4 टीम हैं और हमारी ज्यादातर टीमें हाई लेवल पर खेल रही हैं। हमारी 2 टीम वर्ल्ड लेवल कॉम्पिटिशंस में भाग ले रही हैं इसलिए हम उन्हें भी सपोर्ट करने की कोशिश कर रहे हैं।

“मैं पहले ज्यादा खेला करता था क्योंकि हमारे पास ज्यादा प्लेयर नहीं थे। मैं अच्छा खेल सकता हूं, लेकिन अब युवा प्लेयर्स को ज्यादा अवसर देता हूं, जिन्हें शायद अच्छी टीम के लिए खेलने के मौके नहीं मिल पाते।”

Victor "Leo" Pinto gets introduced at ONE: A NEW TOMORROW.

“लियो” चाहे गेमिंग से कितना ही प्यार क्यों ना करते हों, लेकिन कॉम्बैट स्पोर्ट्स आज भी उनका पहला प्यार है और यही खेल उनके एनर्जी लेवल को स्थिर रखता है।

वो जानते हैं कि एक ऐसा भी दिन आएगा जब वो अपना पूरा ध्यान ई-स्पोर्ट्स पर लगा पाएंगे, लेकिन फिलहाल के लिए उनका ध्यान इस शुक्रवार होने वाले हान के खिलाफ मैच पर है।

उन्होंने कहा, “मैं हमेशा फाइटिंग नहीं कर पाऊंगा इसलिए रिटायर होने के बाद मैं दूसरे तरीके के अनुभव हासिल करना चाहता हूं।”

“मगर मेरा दिल अभी फाइटिंग की ओर झुका है क्योंकि मैं बहुत छोटी उम्र से कॉम्बैट खेलों से जुड़ा हुआ हूं।”

ये भी पढ़ें: सैमापेच Vs. रिट्टेवाडा: मेन इवेंट मैच में जीत के 4 तरीके

मॉय थाई में और

Superlek Kiatmoo9 Takeru Segawa ONE 165 34 scaled
Tawanchai PK Saenchai Jo Nattawut ONE 167 115
Luke Lessei Eddie Abasolo ONE Fight Night 19 29 scaled
Bampara Kouyate Shakir Al Tekreeti ONE Fight Night 15 45 scaled
Nong O Hama Nico Carrillo ONE Friday Fights 46 2 scaled
Nakrob Fairtex Tagir Khalilov ONE Friday Fights 67 40
Tagir Khalilov Yodlekpet Or Atchariya ONE Friday Fights 41 22 scaled
Tagir Khalilov Yodlekpet Or Atchariya ONE Friday Fights 41 47 scaled
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 142
Nakrob Fairtex Muangthai PK Saenchai ONE Friday Fights 10
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 137
Tawanchai PK Saenchai Jo Nattawut ONE 167 78