Mixed Martial Arts

साल 2020 में नई चुनौतियों के लिए तैयार हैं जिओंग जिंग नान

Dec 24, 2019

ONE विमेंस स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन “द पांडा” जिओंग जिंग नान इस साल के 2 सबसे महत्वपूर्ण मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मुकाबलों का हिस्सा रही हैं।

Xiong Jing Nan stops the "Unstoppable!" The ???? showcases her trademark power in a stunning TKO of Angela Lee at 1:37 of Round 5!

Xiong Jing Nan stops the "Unstoppable!" The ???? showcases her trademark power in a stunning TKO of Angela Lee at 1:37 of Round 5!Watch the full event on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp | TV: Check local listings for global broadcast

Posted by ONE Championship on Sunday, 31 March 2019

साल 2019 के मार्च में आयोजित हुए ONE: A NEW ERA के को-मेन इवेंट में उन्होंने एटमवेट क्वीन एंजेला ली “अनस्टॉपेबल” के खिलाफ अपना टाइटल डिफेंड किया था।

इस मुकाबले को ONE Championship के इतिहास के सबसे बेहतरीन विमेंस मैच की संज्ञा दी गई और ये उसका हक़दार भी था। 5 राउंड के जबरदस्त एक्शन के बाद चीनी एथलीट को अपनी प्रतिद्वंदी पर तकनीकी नॉकआउट के जरिए जीत मिली थी।

जिओंग ने ना केवल सिंगापुर की एंजेला ली की अनडिफेटेड स्ट्रीक को तोड़ा बल्कि उन्हें 2 डिविजन की ONE वर्ल्ड चैंपियन बनने से भी वंचित रख दिया था। “द पांडा” को इसके बाद एंजेला ली की ही तरह 2 डिविजन चैंपियन बनने का मौका मिला।

जिओंग ने अपने भार वर्ग में बदलाव किया और ONE: CENTURY PART I के मेन इवेंट में एंजेला ली के खिलाफ ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने का प्रयास किया।

पहले मुकाबले की तरह इनके बीच दूसरा मैच भी धमाकेदार साबित हुआ, जिसका अंत एंजेला ने रीयर-नेकेड चोक लगाकर किया था। मुकाबले में केवल 12 सेकेंड शेष थे, तभी एंजेला के चोक से जिओंग को टैप-आउट करना पड़ा।

The Home Of Martial Arts में अपनी पहली हार के बाद से जिओंग शांत ही रही हैं लेकिन अब उन्होंने हालिया इंटरव्यू में सभी सवालों के जवाब दिए हैं। चीनी एथलीट ने बताया कि उन्हें क्या सबक सीखने को मिला और उनके साल 2020 के लिए क्या प्लान हैं। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि क्या वो एंजेला के साथ रबर मैच के लिए तैयार हैं या नहीं।

ONE Women's Strawweight World Champion Xiong Jing Nan dabs before her clash in Tokyo, Japan

ONE Championship: आपने साल की शुरुआत में एंजेला ली के खिलाफ धमाकेदार जीत दर्ज की और आप उन्हें हराने वाली पहली एथलीट बनीं। उस जीत पर कैसा महसूस हुआ?

जिओंग जिंग नान: मैंने जब उनके खिलाफ अपना पहला मैच जीता तो मुझे बहुत खुशी हुई। वो अब तक की सबसे महान एथलीट्स में से एक हैं।

मैं उनका बहुत सम्मान करती हूँ और हम दोनों लगातार एक-दूसरे से नई चीजें सीखने का प्रयास करते रहते हैं। मुझे खुशी है कि मैंने उनसे इतनी चीजें सीखी हैं और मैं अपने फैंस के लिए भी काफी खुश हूँ। मैंने फैंस के लिए कड़ी मेहनत की है और उनके लिए एक उदाहरण स्थापित करना चाहती हूँ।

ONE: आपने अपना आखिरी मैच एंजेला के खिलाफ रीमैच में लड़ा था और वो साल के सबसे क्लासिक मुकाबलों में से एक रहा लेकिन आपको जीत नहीं मिल पाई। उस हार से क्या सबक मिला था?

जिओंग: उस हार को अब 2 महीने बीत चुके हैं और उसके बाद मैंने कई चीजें सीखी हैं। जैसे मुझे कौन सी स्किल्स में सुधार की जरूरत है और मेरी कमजोरी क्या है। मुझे पता है कि ताकतवर कैसे बनना है।

मैंने उस हार से कई सबक लिए हैं और जिनमें जरूरी बात रही कि आप कितने भी लंबे क्यों ना हों, यदि आप शुरुआत से ही पिछड़ रहे हैं तो आपको ये नहीं भूलना चाहिए कि आप क्या हैं। खुद को प्रेरित रखें, कड़ी मेहनत करते रहें, खुद पर भरोसा रखें और उस चीज से बाहर निकलने की कोशिश ना करें जिसमें आप बेस्ट हैं।

ONE Women's Strawweight World Champion Xiong Jing Nan unleashes her boxing

ONE: एटमवेट डिविजन में आकर कैसा लग रहा है? क्या आपको ये डिविजन स्ट्रॉवेट से ज्यादा पसंद आ रहा है?

जिओंग: मैं जानती हूँ कि मैंने स्ट्रॉवेट डिविजन से ही शुरुआत की थी, मैं अच्छा प्रदर्शन भी कर रही हूँ लेकिन सच्चाई ये है कि मुझे इसी डिविजन में ज्यादा अच्छा महसूस होता है।

लेकिन मुझे हमेशा से नई चीजें सीखना पसंद रहा है और अगर आप अपने फील्ड से बाहर निकलकर दूसरी जगह किस्मत आज़माते हैं तो चुनौती दोगुनी हो जाती है, इसलिए मैं लगातार कोशिश करती रहूंगी। अलग-अलग लोगों से सीखने को मिलेगा और एटमवेट में लड़ने से मुझे काफी अच्छा महसूस हो रहा है।

ONE: क्या आप एंजेला ली के साथ एक और मैच चाहती हैं?

जिओंग: इसमें ना कहने वाली कोई बात ही नहीं है। मैं बेस्ट एथलीट्स का सामना करना चाहती हूँ और उनसे सीखना भी चाहती हूँ। परिणाम जो भी हो, मुझे उसमें खुशी मिलेगी।

ONE: अगर आपका ली के साथ एक और मैच हुआ तो आपको किन चीजों में सुधार की जरूरत होगी?

जिओंग: मुझे अपनी ग्राउंड स्किल्स में सुधार की जरूरत है। इसी चीज पर मुझे अपना ध्यान केंद्रित रखना है और कड़ी मेहनत करनी है। ये मेरा लक्ष्य है कि मैं उन्हें ग्राउंड स्किल्स में पीछे छोड़ पाउंगी। अगर मेरी कमजोरी ही ताकत बन जाए तो उससे बेहतर चीज कोई नहीं होगी।

ONE Women's Strawweight World Champion strikes Angela Lee in March 2019

ONE: अगर आप पूरे साल पर एक नजर डालें, तो कौन सा सबसे बड़ा सबक आपने सीखा है?

जिओंग: मैंने कई चीजें सीखी हैं जिनमें ये भी शामिल है कि मैं हार के खराब दौर से आगे कैसे बढ़ सकती हूँ, अपने अंदर जुनून को कैसे जगाए रखें, धैर्य कैसे रखें, उम्मीद को कैसे जगाए रखें और सकारात्मक कैसे रहें।

जितना हो सकता है, उतने ऊंचे लेवल पर पहुंचना चाहती हूँ और ऐसा करने का एक ही तरीका है कि आप लगातार अच्छा प्रदर्शन करते रहें। मुझे कोई नहीं रोक सकता।

ONE: साल 2020 के लिए क्या प्लान हैं?

जिओंग: साल 2020 में मेरा सबसे बड़ा लक्ष्य यही होगा कि मैं हर मैच में अपनी कमजोरियां ढूंढ सकूं, लगातार ट्रेनिंग करती रहूं और अपनी कमजोरियों को ताकत बनाने की ओर आगे भी बढ़ती रहूं। मैं अच्छी एथलीट बनना चाहती हूँ और इसके लिए मैं हमेशा नई चीजें सीखने के लिए तैयार हूँ।

मैं जिस भी मैच का हिस्सा रहने वाली हूँ, मैं कोशिश करूंगी कि बिना चोट के उन्हें जीतने में सफल रहूं। मैं इसके साथ आगे बढ़ना चाहती हूँ, दूसरे फील्ड्स और दूसरी स्किल्स की प्रैक्टिस भी करना चाहती हूँ। मैं एक अलग ही स्तर पर पहुंचना चाहती हूँ, सुनने में जरूर ये मुश्किल प्रतीत हो रहा है लेकिन मैं प्रयास करती रहूंगी।

ONE Strawweight World Champion Xiong Jing Nan defends her belt at ONE: A NEW ERA

ONE: आपने अपने भतीजे के बारे में पहले भी कई बार जिक्र किया है। क्या आप उन्हें नई तकनीक सीखने में मदद कर रही हैं?

जिओंग: मैं अपने करियर में इतनी कड़ी मेहनत इसलिए कर रही हूँ जिससे मैं अपने भतीजे के लिए उदाहरण स्थापित कर सकूं। कड़ी मेहनत से आगे बढ़ रही हूँ और उसे भी मार्शल आर्ट्स काफी पसंद है। इसलिए कभी-कभार मैं उसे बेसिक मूवमेंट और किक्स लगाना सीखने में मदद करती हूँ।

ये भी पढ़ें: कैसे साल 2019 में मार्टिन गुयेन के करियर को मिली नई दिशा?

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें