मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

जानें टियाल थैंग की कुआलालंपुर में भावात्मक जीत के पीछे की कहानी

टियाल थैंग “द ड्रैगन लेग” की ONE: MARK OF GREATNESS में जीत ने उन्हें फिर से शुरुआत करने और खुद को एक अतिरिक्त पायदान ऊपर लाने में मदद की। उनके आगे बढ़ने के लिए यह एक सही रास्ता था।

Myanmar star Tial Thang ???????? dominates Kim Woon Kyoum en route to a unanimous decision win!

Myanmar star Tial Thang ???????? dominates Kim Woon Kyoum en route to a unanimous decision win!????: How to watch ???? http://bit.ly/ONEMOGHowToWatch????: Book your hotel ???? bit.ly/ONEhotelplanner????: Watch on the ONE Super App ???? bit.ly/ONESuperApp????: Shop official merchandise ???? bit.ly/ONECShop"

Posted by ONE Championship on Friday, 6 December 2019

शुक्रवार 6 दिसंबर को मलेशिया के कुआलालंपुर में किम वून क्यूम “द किड” के खिलाफ म्यांमार के बड़े प्रतिशाली योद्धा ने प्रभावशाली जीत दर्ज की। उन्होंने अपने प्रदर्शन से साबित कर दिया कि कैसे वह मार्शल आर्ट्स के साथ अपने जीवन को मोड़ने में कामयाब रहे हैं।

26 वर्षीय योद्धा बताते हैं, “यह एक भावनात्मक जीत थी।”

“बहुत से लोग मेरी कहानी नहीं जानते हैं। मैं इस देश में एक शरणार्थी लड़के के रूप में रहा करता था। मैं एक छोटा लड़का था, जो रात को उठकर कुछ रिंगिट बेचने के लिए डिब्बे इकट्ठा करता था।”

“उस वक्त मैं फिर उसी जगह पर लौट आया था लेकिन तब मुझे एक अलग मंच के लिए घर पर बुलाया गया था। यह एक सम्मान और मेरे लिए जादुई पल की तरह था।”

“अब मैं एक बेहतर और बड़ी जगह पर हूं। मैं अब पैसे के लिए डिब्बे इकट्ठा नहीं कर रहा हूं। मैंने उस गरीब छोटे बच्चे के रूप में खुद को वहीं छोड़ दिया। मैं अब एक मार्शल आर्टिस्ट के रूप में लौट आया हूं।”



हालांकि, टियाल थैंग नियमित मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट के रूप में वापस नहीं आए हैं। उन्होंने सर्कल में कदम रखा और वह ONE Championship के बैंटमवेट डिवीजन में सबसे चमकदार संभावनाओं में से एक साबित हुए।

चार बार के चिन स्टेट रेसलिंग चैंपियन दक्षिण कोरियाई विरोधी पर हावी हो गए और अपने बेहतरीन कौशल के दम पर उन्होंने विरोधी पर सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल कर ली।

म्यामांर के योद्धा ने कहा, “मेरा प्रदर्शन बहुत अच्छा था। मुझे ऐसा लगता है कि मैं गेम प्लान में फंस गया हूं और इससे मुझे वह जीत मिली, जिसकी मुझे जरूरत थी। मेरा प्रतिद्वंद्वी एक सख्त आदमी था लेकिन मैं पूरे दिन से उसके लिए तैयार था। वह मजबूत था लेकिन मैं जीतने के लिए बहुत प्रेरित था।

“पहले दौर में मैंने वो सब कुछ किया, जो मैं करने वाला था। राउंड के बीच में उसने मुझे एक अच्छा किक देते हुए हैरत में डाल दिया। वह मेरी पसली को तोड़ने की फिराक में था। एक बेहतर मुकाबले में मेरी क्षमता को उसने छीनने की कोशिश की।”

“इसके अलावा, यह अच्छा मुकाबला था। मैंने अपने कॉर्नर के लोगों को बहुत अच्छे से सुना इसलिए मैं इससे बहुत खुश हूं।”

Here comes ground and pound from Tial Thang

अमेरिका में फ्लोरिडा के हार्ड नॉक्स शिविर में अपनी पसली की चोट को और बढ़ाने पर उनके लिए हार पर इस्तीफा देना आसान हो गया था लेकिन दर्द के बावजूद “द ड्रैगन लेग” को लड़ाई जारी रखने के लिए आवश्यक प्रेरणा मिली।

उन्होंने अपनी टीम के साथी ONE वर्ल्ड चैंपियंस आंग ला न संग “द बर्मीज़ पाइथन” और मार्टिन गुयेन “द सीटू-एशियन” को कोने में पाया और लड़ाई को जारी रखने के लिए उन्हें उनकी काफी प्रेरणा मिली।

टियाल थैंग ने बताया, “आंग ला न संग ने मुझसे ये शब्द कहे कि क्या आप जीतना चाहते हैं?”

“मैंने कहा, ‘हां, मैं जीतना चाहता हूं। जब आप जीवन में कुछ चाहते हैं, तो यह आपके हाथ में होता है। आप जो भी पिंजरे के अंदर या बाहर करते हैं, वो सब आपके हाथों में होता है।”

“मैं जीत से कम कुछ भी नहीं चाहता था। इस लड़ाई में मेरे लिए यही सबसे बड़ी प्रेरणा थी। ”

Following his win, ONE World Champions Aung La N Sang and Martin Nguyen give advice to Tial Thang

टियाल थैंग गरीबी से ऐसी जगह पर लौट आए थे, जहां उन्हें एशिता एरिना के अंदर हजारों प्रशंसकों के सामने प्रतिस्पर्धा करनी होती थी। इनमें से कई प्रशंसक तीन दौर के मुकाबले के लिए उनका नाम जोर-जोर से लेते थे।

थांग के सफल होने में म्यामांर के हमवतन ने उनका समर्थन बहुत किया और उन्हें प्रेरित किया, ताकि “द ड्रैगन लेग” अपनी दूसरी पेशेवर मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स जीत के लिए आगे बढ़ सकें।

म्यांमार का एथलीट 2-0 से आदर्श स्थिति में है। उसे विश्वास है कि वह बढ़ता रहेगा और अंततः एक दिन वह इसका स्तंभ बन जाएगा।

“विश्व चैंपियन बनने के लिए आप इस खेल में उतरते हैं। यदि यह आपकी योजना नहीं है तो मैं इस बात को नहीं समझता कि आप लड़ाई क्यों करते हैं। मैं विश्व चैंपियन बनने के लिए ही इस लड़ाई में शामिल हुआ हूं।”

मैं सभी बैंटमवेट्स से लड़ना चाहता हूं। मैं जानता हूं कि मैं कौन हूं। अगर मैं स्वस्थ हूं तो मैं उनसे लड़ने के लिए तैयार हूं। कहीं भी और कभी भी।

और पढ़ें: ONE: MARK OF GREATNESS के विजेताओं का अब किन एथलीट्स से होगा सामना