समाचार

एलेक्स सिल्वा के खिलाफ बाउट को नई ऊंचाई पर पहुंचने का मौका मानते हैं स्टीफर रहार्डियन

अगस्त 14, 2019

अगले शुक्रवार यानी 16 अगस्त को ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड में महज एक जीत स्टीफ़र “द लायन” रहार्डियन के करियर को बदल सकती है।

इंडोनेशियाई हीरो का सामना थाईलैंड के बैंकॉक में ब्राजील के एलेक्स “लिटिल रॉक” सिल्वा से होगा। पूर्व ONE स्ट्रॉवेट विश्व चैंपियन के खिलाफ एक जीत उसे गोल्ड की अपनी खोज के करीब ले जाएगी।

उन्होंने कहा कि वह अपने विरोधी के लिखाफ संघर्षपूर्ण फाइट करने को आतुर है। वह उनके तरकस में शामिल सभी तीरों का इस फाइट में उपयोग करेंगे। वह अपने पूर्व विश्व चैंपियन रहे अपने विरोधी का पूरा सम्मान करते हैं और वह जानते हैं उनके खिलाफ मिली एक जीत इस मंच पर उन्हें खुद को साबित करने का मौका देगी।

उन्होंने कहा यदि वह जीत हासिल कर पाए तो नई ऊंचाइयों की ओर बढ़ जाएंगे। वह भगवान से यही प्रार्थना करते हैं कि उन्होंने अब तक जो भी अभ्यास किया है, उसके दम पर वह शीर्ष पर काबिज हो सकते हैं।

जकार्ता निवासी ने बाली एमएमए में प्रशिक्षण लिया और रिंग में वापसी के मौके की तैयारी तथा अपने कौशल को धार देने के लिए जनवरी में हुए अपने पिछले मुकाबले के बाद से ही कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

जब उसे पता चला कि फाइट में उनका मुकाबला एक ब्राज़ीलियाई जिउ-जित्सू ब्लैक बेल्ट धारी से होगा तो उन्होंने अपने प्रशिक्षण के समय को और अधिक बढ़ा दिया। उन्हें पता है कि अपने आक्रामक विरोधी के सामने उनकी थोड़ी सी भी चूक उन्हें बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में उसे फाइट में बने रहने के लिए अपना पूरा फोकस मात्र प्रशिक्षण पर कर दिया।

अपने अभ्यास के दौरान उन्होंने मैट पर लिटाने वाले टैलेंटेड ग्रेप्लर्स के साथ राउंड के बाद राउंड फाइट कर खुद को अपने कंफर्ट ज़ोन से बाहर निकालने का प्रयास किया और खुद को मजबूत किया है।

32 वर्षीय कहते हैं कि उन्होंने बाउट में अधिक आक्रमण करने व विरोधी की कमियों का लाभ लेने का भी अभ्यास किया है। उन्होंने एंड्रयू और एंथोनी लियोन के साथ बहुत मेहतन की है। वो भी उनसे ज्यादा भारी हैं। बाउट में उन्हें इसका लाभ मिल सकता है, लेकिन एलेक्स का सामना करने के लिए उन्हें वास्तव में बहुत कड़ी मेहतन करनी होगी।

उन्होंने कहा कि वह सभी ग्रेपलरों के साथ साथ प्रशिक्षण लिया है, क्योंकि वहां के सभी ग्रेपलर उसने काफी मजबूत हैं। उन्होंने मुझे कुछ ग्रेपलरों के साथ भी रखा, जिससे वह मजबूत प्रहार करने का अभ्यास कर सकें। इनमें जो एंड्रयू, एंथोनी, मुहम्मद आईमन, कान ओफिली और गियानी सुब्बा आदि शामिल हैं।

बाली एमएमए को आक्रमण प्रेमी व जमीनी खेल में महारथ रखने वाले प्रतियोगियों के लिए स्वर्ग माना जाता है, लेकिन राहार्डियन का कहना है कि वह अपने स्टैंड-अप कौशल के साथ बहुत आगे आ गए हैं। वह विशेष रूप से मुहम्मद “जंगल कैट” अईमैन की मदद के लिए आभारी है।

मलेशियाई ने ONE: डॉन ऑफ हीरोज में “द टर्मिनेटर” सुनौटो के साथ अपनी बाउट के लिए अपने इंडोनेशियाई समकक्ष के साथ प्रशिक्षण लिया था और और उन्होंने “द लायन” की स्पीड और फुटवर्क को एक नए स्तर पर लाने में मदद की।

वह बेहद मददगार थे। चूंकि अईमैन विश्व स्तरीय स्ट्राइकर हैं। ऐसे में उन्हें निश्चित रूप से अधिक गति का अभ्यास करना होगा। उनके हमले ताकतवर, असहनीय और अप्रत्याशित हैं। इससे उन्हें सुधार करने में मदद मिली है।

सिल्वा भले ही ONE चैंपियनशिप में सबसे अधिक ऊंचाइयों पर पहुंच गए हों, लेकिन रहार्डियन को पता है कि वह अजेय नहीं हैं, क्योंकि उन्होंने
पिछले साल योशिताका “नोबिता” नाइटो और योसुके “द निंजा” सरुता से मुकाबला किया था, जिन्होंने उन्हें हरा दिया था।

प्रेरणा के लिए उन अन्य पूर्व विश्व चैंपियनों को देखकर और पहले से कहीं अधिक तेज कौशल विकसित करके “द लायन” को विश्वास है कि वह अपने करियर की सबसे बड़ी जीत का दावा कर सकते हैं और The Home Of Martial Arts में एक नए स्तर पर पहुंच सकते हैं।

वो कहते हैं कि उन्होंने इन दोनों फाइटरों का उदाहरण इसलिए दिया है कि उनमें आक्रमण की भावना थी और दोनो ने उनको हराया है। बाकी वह खुद वहां रहेंगे और अपनी तकनीकी को मजबूत करने का अभ्यास करेंगे। उन्हें अपने कोच व टीम पर पूरा भरोसा है।

बैंकॉक | 16 अगस्त | 5.30PM | ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट: http://bit.ly/onegold19