न्यूज़

राजिंदर सिंह मीणा ने बताया कि लोगों को COVID-19 महामारी से मिलेगी बहुत बड़ी सीख

Apr 15, 2020

COVID-19 महामारी की वजह से पूरी दुनिया में आम से लेकर खास हर आदमी परेशानी में है। दुकानों से लेकर बड़े ऑफिस, छोटे जिम से लेकर बड़े ट्रेनिंग सेंटर भी फिलहाल के लिए बंद हो गए हैं।

आम लोगों की तरह ही एथलीट्स पर भी इसका खासा प्रभाव पड़ रहा है, जो एथलीट्स, ट्रेनर्स, इंस्ट्रक्टर्स पहले जिम में अपने दिन के कई घंटे बिताते थे, आज उन सभी को एहतियातन घरों में रहना पड़ रहा है।

भारत के सबसे अनुभवी मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट राजिंदर सिंह मीणा भी लॉकडाउन की वजह से अपना समय घर पर ही बिता रहे हैं। बातचीत के दौरान उन्हें अपनी दिनचर्या, जिंदगी पर पड़े असर के साथ-साथ युवाओं को संदेश भी दिया।

ONE Championship: देश में लॉकडाउन लगने के बाद से आपकी दिनचर्या क्या रहती है?

राजिंदर सिंह मीणा: लॉकडाउन की वजह से दिनचर्या पूरी तरह से बदल गई है। अभी सुबह और शाम को वर्कआउट हो रहा है। इसके अलावा फाइट्स और ट्रेनिंग की वीडियो, फिल्में, न्यूज देखने के अलावा परिवार के साथ वक्त बिता रहा हूं।

ONE Championship: क्या आपके वर्कआउट और डाइट में किसी तरह का बदलाव आया है?

राजिंदर सिंह मीणा: देश में लॉकडाउन लगने की वजह से पूरी तरह से अच्छा वर्कआउट नहीं हो पा रहा है, लेकिन फिटनेस को बनाए रखने के लिए स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और कार्डियो लगातार कर रहा हूं। डाइट पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है क्योंकि मैं घर का खाना ही खाता हूं और पूरी तरह से नेचुरल डाइट लेता हूं।

ONE Championship: कोरोना वायरस की वजह से बने हालात में खुद को प्रेरित करने के लिए क्या-क्या करते हैं?

राजिंदर सिंह मीणा: खुद को प्रेरणा देने के लिए फाइट्स और ट्रेनिंग की वीडियो देखता रहता हूँ। जो भी वर्ल्ड के टॉप एथलीट्स हैं, वो किस तरह से जीवन की मुश्किलों को पार कर आगे बढ़े हैं, उनकी वीडियो और कहानियां पढ़ता हूं और उनसे सीखने की कोशिश करता हूं।



ONE Championship: आपको किन चीजों से प्रेरणा मिलती है?

राजिंदर सिंह मीणा: मेरी जिंदगी का एक ही सिद्धांत है कि मुश्किलें सभी की लाइफ में आती हैं। हमें मुश्किलों से भागना नहीं चाहिए बल्कि उनका सामना करते हुए आगे बढ़ना चाहिए और मैं इसी बात को फॉलो करता हूं क्योंकि आपको खुद से ज्यादा अच्छी तरह से कोई नहीं जानता इसलिए सेल्फ-मॉटिवेशन होना बहुत जरूरी है।

ONE Championship: आप लॉकडाउन में किस चीज को सबसे ज्यादा मिस कर रहे हैं?

राजिंदर सिंह मीणा: मैं अपने वर्कआउट, ट्रेनिंग पार्टनर्स और ONE Championship के इवेंट्स को सबसे ज्यादा मिस कर रहा हूं। ONE के इवेंट्स के लिए इतने अच्छे फाइट कार्ड बने थे, जो सब स्थगित हो गए।

ONE Championship: समय बढ़ने के साथ-साथ लोगों के लिए घर पर रहना मुश्किल होता जा रहा है। ऐसे में आप उन्हें क्या कहना चाहेंगे जिससे वो खुद को प्रेरित कर पाएं।

राजिंदर सिंह मीणा: मुश्किल जरूर हो रही होगी लेकिन इस समय जिंदगी से ज्यादा कुछ महत्वपूर्ण नहीं है। युवाओं को यही कहूंगा कि आपको जो ये समय हासिल हुआ है, उसमें अपने भविष्य के गोल के बारे में सोचें और उसे कैसे हासिल किया जाए, इस बारे में भी विचार करें। ये समय सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए बहुत मुश्किल है। खुद और अपने परिवार को प्रेरित करें और घर पर सुरक्षित रहें।

Rajinder Singh Meena

ONE Championship: मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है?

राजिंदर सिंह मीणा: मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट्स के नजरिए से देखा जाए तो सबसे अधिक प्रभाव उनके वर्कआउट पर पड़ेगा क्योंकि वो सही ढंग से वर्कआउट नहीं कर पा रहे हैं और ना ही प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले पा रहे हैं। इसके लिए एथलीट्स को फिटनेस लेवल बढ़ाने के लिए कड़ी ट्रेनिंग करनी पड़ेगी और ज्यादा से ज्यादा इवेंट्स में भाग लेना होगा।

ONE Championship: जब ये महामारी खत्म हो जाएगी तो आपके जीवन पर किस तरह का प्रभाव पड़ेगा?

राजिंदर सिंह मीणा: सबसे बड़ा असर तो वर्कआउट को लेकर ही पड़ेगा क्योंकि कहते हैं ना कि खिलाड़ी ट्रेनिंग सेशन में एक दिन भी मिस करता है, वो एक महीने पीछे चला जाता है और यहां तो इतना समय मिस हो गया है।

Rajinder Singh Meena applying submission move

ONE Championship: लोगों को इस महामारी से क्या बात सीखने को मिलेगी?

राजिंदर सिंह मीणा: मुझे लगता है कि लोगों में एकता और एक दूसरे के लिए इज्जत बढ़ेगा क्योंकि जिस तरह सारी दुनिया इस महामारी से एक साथ मिलकर लड़ रही है, उससे लोगों में भाईचारा बढ़ेगा। लोगों को समझ आएगा कि पैसे से बढ़कर कोई चीज है, जो कि इंसानियत है।

ये भी पढ़ें: 6 भारतीय मार्शल आर्ट्स जिनके बारे में सभी को जरूर जानना चाहिए