न्यूज़

ONE:IGNITE वेबिनार सीरीज़ का पहला एडिशन

ONE: IGNITE सीरीज़ के पहले वेबिनार एडिशन में दुनिया भर से लोगों ने अपने घरों में बैठकर हिस्सा लिया, इसकी शुरुआत ONE Esports के सीईओ कार्लोस अलीमुरुंग द्वारा शुरू की गई ।

300 से भी ज्यादा इंडस्ट्री लीडर्स और प्रोफेशनल्स ने इस एक घंटे लंबे सेशन के लिए साइन-अप किया था। इसमें esports कम्यूनिटी, पार्टनरशिप्स और कई बड़ी चुनौतियों से जुड़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई, जो आज की दुनिया में मार्केटर्स और ब्रैंड्स को झेलने पड़ रहे हैं।

अगर आपने सेशन को मिस कर दिया हो तो आप उसे यहाँ एक बार फिर देख सकते हैं।

उपस्थित लोगों ने अलीमुरुंग के साथ पोल और लाइव Q&A (सवाल और जवाब) सेशन भी इस वेबिनार का हिस्सा रहा।

यहाँ हम इस वेबिनार के दौरान पूछे गए कुछ सवाल आपके सामने रख रहे हैं और अलीमुरुंग ने उनका कैसे जवाब दिया।

CEO of ONE Esports, Carlos Alimurung

सवाल: COVID-19 के समय बाकी खेलों में दिलचस्पी लेने वाले लोग esports में समय बिता रहे हैं। इस फैनबेस को वापस पाने के लिए आप COVID-19 महामारी के बाद क्या करने वाले हैं?

कार्लोस अलीमुरुंग: ONE Esports का लक्ष्य esports स्टार्स को दुनिया के सामने लाने का है जो अपनी उम्मीद, ताकत, सपनों और प्रेरणा से दुनिया को साथ बांधे रखें। ONE Esports की टीम का हर एक मेंबर इस प्लान से सहमत है क्योंकि हम सभी esports के प्रचारक हैं और अच्छी स्टोरीटेलिंग ही esports को सफल बनाती है।

ओलंपिक्स इसका सबसे अच्छा उदाहरण है कि स्टोरीटेलिंग कैसे किसी बिज़नेस को बढ़ाती है और फैंस को अपने साथ बांधे रखती है। मैं विश्वास के साथ कह सकता हूँ कि मैं अगले ओलंपिक्स में ट्रैक एंड फ़ील्ड स्पोर्ट्स को जरूर देखूंगा। ऐसा इसलिए क्योंकि उन एथलीट्स की जीवनगाथाएं बहुत प्रेरणादायक और प्रोत्साहन देने वाली होती हैं और ONE Esports में भी हम उसी तरह काम करते हैं। अगर आप oneesports.gg पर जाएंगे तो आपको पता चलेगा कि हम esports हीरोज़ की उपलब्धियों, जीत-हार, अनुशासन, साहस और उनकी दृढ़ता को कैसे प्रदर्शित करते हैं।

हमें ये ही मानना है कि अच्छी स्टोरीटेलिंग ही esports को सफल बनाने का एक अहम पहलू है क्योंकि लोग स्पोर्ट के बजाय एथलीट्स की उपलब्धियों और संघर्ष को ज्यादा तवज्जो देते हैं।

सवाल: आप उनके लिए क्या कहना चाहेंगे जो esports बैकग्राउंड से तो नहीं आते लेकिन इस फ़ील्ड में काम करना चाहते हैं?

कार्लोस: अन्य चीजों की ही तरह कड़ी मेहनत, मुसीबतों का डटकर सामना करना और रचनात्मकता सबसे अहम है। उभरती हुई फ़ील्ड्स में जगह बनाना हमेशा एक मुश्किल काम होता है। जो लोग फील्ड में आ गए हैं और जो नहीं आ पाए हैं, उनके बीच केवल यही अंतर है कि वो अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अपनी व्यक्तिगत बाधाओं से पार नहीं पा सके।

esports में दाखिल होने के लिए ऐसा करना बहुत जरूरी होता है। जो esports में जगह बना लेते हैं वो आमतौर पर निम्नलिखित चीजें करते हैं:

  1. वो esports से जुड़े ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ संपर्क में आने की कोशिश करते हैं। वो कॉन्फ्रेंस में जाते हैं, वेबिनार में उपस्थित रहते हैं। Reddit, Discord समेत कई अन्य माध्यमों से उनके साथ बात करते रहते हैं। वो इंडस्ट्री से जुड़ी न्यूज़ और नए डेवलपमेंट्स के बारे में भी पूरी जानकारी रखते हैं।
  2. वो बहुत जल्दी esports के रंग में रंगने का प्रयास करते हैं। वो ये बात समझ चुके होते हैं कि esports के कई पहलू हैं। वो 1-2 गेम टाइटल्स और कम्यूनिटी के साथ निरंतर बने रहने की कोशिश करते हैं। वो esports की अपनी 1-2 क्षमताओं पर ध्यान केंद्रित करते हैं। जितना ज्यादा ज्ञान उन्हें प्राप्त होगा, उतनी ही ज्यादा esports की समझ उन्हें होती जाएगी और उतने ही सफल हो पाएंगे।
  3. वो हार भी नहीं मानते हैं।

Carlos Alimurung

सवाल: क्या आप भी ऑनलाइन गेम्स खेलते हैं?

कार्लोस: बिल्कुल, मैं Magic: The Gathering का बड़ा फैन रहा हूँ। मैं हर रात कुछ देर ऑनलाइन जरूर खेलता हूँ। मुझे इस गेम की गहराई और जटिलता बहुत पसंद है। फिलहाल मैं mono-red agro deck खेल रहा हूँ और ये एक ऐसा गेम है जिसमें मुझे आँखों और हाथों के बीच तालमेल बैठाने में भी ज्यादा समस्या नहीं आती, फिर चाहे मेरी उम्र बढ़ ही क्यों ना रही हो।

ये भी पढ़ें: डैनी किंगड और जोशुआ पैचीओ को है ई-स्पोर्ट्स से गहरा लगाव