मॉय थाई

योडसंकलाई और पेटमोराकोट के कोचों ने वर्ल्ड टाइटल मुकाबले से पहले दी अपनी राय

इस शुक्रवार ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी को अपनी बेल्ट का बचाव हमवतन व मॉय थाई के जीते-जागते लैजेंड “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” योडसंकलाई IWE फेयरटेक्स से करना होगा।

थाइलैंड के बैंकॉक में होने जा रहे ONE: NO SURRENDER के को–मेन इवेंट से पहले दोनों ओर के कोच ने अपनी तरफ की तैयारी और मुकाबला किस ओर जा सकता है, इस बारे में बता की।

चेट्टाह वॉनचैट – योडसंकलाई के कोच

चेट्टाह वॉनचैट को पता है कि योडसंकलाई के सामने ONE वर्ल्ड चैंपियन के खिलाफ चुनौती भरी रात होगी और उनका मानना है कि ऐसा होने का एक बड़ा कारण उनके बीच उम्र व बॉडी टाइप का अंतर है।

कोच ने कहा, “ये एक दिलचस्प बाउट होने वाली है। पेटमोराकोट युवा हैं।”

“वो लंबे हैं इसलिए काफी परेशानी पैदा कर सकते हैं। साथ ही उनके घुटने की मार (नी स्ट्राइक) काफी तगड़ी है। उनकी किक्स काफी तेज हैं। आप उन पर से अपना ध्यान नहीं हटाना चाहेंगे और उनके ये हथियार काफी खतरनाक हैं।”

हालांकि, योडसंकलाई के पास मॉय थाई का अनुभव है, जिससे उनका पक्ष मजबूत होता है। “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” के पास अपने युवा विरोधी की तुलना में लंबा और परखा हुआ करियर है और ये वो चीज है, जिस पर वॉनचैट का ध्यान है।

ट्रेनर ने कहा, “योडसंकलाई काफी अनुभवी हैं। वो कई तरह की बाउट्स खेल चुके हैं और कई स्तर के एथलीट्स से भिड़ चुके हैं।”

जब बात गेम प्लान की आती है तो वॉनचैट का मानना है कि उनके फाइटर के पास भारी हाथों के साथ फाइट आईक्यू का फायदा है।

कोच ने कहा, “क्योंकि योडसंकलाई के पंच ताकतवर हैं, उनसे पेटमोराकोट को नुकसान हो सकता है। इसके साथ ही उनके पास बेहतरीन फाइट का नजरिया है और वो काफी सटीक भी हैं।”

अगर “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” अपने ताकतवर लेफ्ट हैंड मारने का तरीका नहीं खोज पाए तो मेंटॉर ने बताया कि उनके पास एक दूसरा हथियार भी है लेकिन उस सीक्रेट का खुलासा होने की उम्मीद न करें।

वॉनचैट ने कहा, “हमारे पास भी कुछ स्पेशल ट्रिक्स हैं लेकिन उसके लिए आपको 31 तारीख का इंतजार करना होगा।”



एपिवाट इम्वॉन्ग – पेटमोराकोट के कोच

पेटमोराकोट को ONE वर्ल्ड चैंपियनशिप तक ले जाने के बावजूद एपिवाट इम्वॉन्ग को पता है कि उनके स्टार स्टूडेंट फेयरटेक्स प्रतिनिधि के साथ कठिन मुकाबले में हैं।

इम्वॉन्ग ने कहा, “मैं योडसंकलाई को तब से देख रहा हूं, जब वो युवा हुआ करते थे।”

“उनके पास कई सारे धमाकेदार हाथियार हैं। उनके पास ताकतवर पंच और नुकसान पहुंचाने वाली लेफ्ट किक्स हैं। वो एक लैजेंड हैं और पेटमोराकोट के आदर्श हैं।”

ये सच है कि पेटमोराकोट को शुक्रवार रात योडसंकलाई के प्रति सम्मान को किनारे रखना होगा। खासकर तब जब वो “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” के एक और शिकार बनने से बचना चाह रहे हों।

इम्वॉन्ग ने कहा, “उन्होंने दुनिया भर में लोगों को नॉकआउट किया है इसलिए वो काफी खतरनाक हैं।”

शुक्रवार के मुकाबले की तैयारी को लेकर पेटयिंडी कोच पेटमोराकोट पर काफी सख्ती कर रहे हैं, ताकि वो अपने विरोधी के ताकतवर पंच और किक्स को सह सकें।

उन्होंने बताया, “आने वाले मुकाबले के लिए हम पेटमोराकोट की बॉडी स्ट्रेंथ पर काम कर रहे हैं। उनके शरीर को 100 प्रतिशत प्रदर्शन करना होगा।”

“हमें थोड़ा ज्यादा सावधान रहना होगा क्योंकि योडसंकलाई बेहतरीन फाइटर हैं। वो सबसे अच्छे मॉय थाई फाइटर हैं, जिनसे पेटमोराकोट का सामना होगा। ONE Championship के इस डिविजन में वो सबसे बेहतरीन फाइटर हैं।”

वानचैट की ही तहर इम्वॉन्ग ने भी किसी ऐसी ठोस रणनीति के बारे में नहीं बताया, जो सर्कल में उनके स्टूडेंट लागू करेंगे। हालांकि, वो चाहेंगे कि ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन इस मुकाबला का अंत ज्यादा अंकों के साथ करें।

कोच ने कहा, “हम पेटमोराकोट के लॉन्ग रेज हथियार और अच्छे गेम प्लान के साथ इस बाउट को जीतने की कोशिश करेंगे। मैं चाहूंगा कि पेटमोराकोट एक क्लीन नॉकआउट के साथ जीतें, ताकि हमें पॉइंट्स के लिए ज्यादा फिक्र न करनी पड़े।”

ये भी पढ़ें: सुपरबोन का महान किकबॉक्सिंग और मॉय थाई सुपरस्टार बनने तक का सफर