विशेष कहानियाँ

ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री- अब तक की कहानी

अक्टूबर 1, 2019

जापान के टोक्यो में 13 अक्टूबर को रयोगोकू कोकुगिकन में जब मार्शल आर्ट के सबसे बड़े इवेंट के तहत तीन ग्राउंडब्रेकिंग टूर्नामेंट आयोजित होंगे तो सभी की नजरें उस पर टिकी होंगी।

पुरस्कार राशि के मामले में सबसे प्रतिष्ठित बाउट ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री फाइनल की होगी। जिसमें विजेता को 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर का पुरस्कार दिया जाएगा। हालांकि इसमें केवल पुरस्कार राशि पर ध्यान देने वाले शानदार एथलीटों और मुकाबलों को नजरअंदाज कर सकते हैं।

जियोर्जियो पेट्रोसियन “द डॉक्टर” ONE: CENTURY PART II पर होने वाले खिताबी मुकाबले में सैमी सना “ऐके47” का सामना करेंगे, लेकिन इससे पहले नजर डालते हैं कि आखिर किस प्रकार ये दोनों दिग्गज पिछली सात प्रतियोगिताओं में शानदार प्रदर्शन करते हुए यहां तक पहुंचे हैं।

बिग किक-ऑफ

अपेक्षाएं उस समय पहले से ही कहीं अधिक थी जब दुनिया का सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन पृथ्वी के सर्वश्रेष्ठ स्टैंड-अप मार्शल कलाकारों में से आठ को अपने पहले टूर्नामेंट के लिए एक साथ लाया था, लेकिन उस दौरान ONE Championship ने सबसे बड़ी पुरस्कार राशि की घोषणा करते हुए इस टूर्नामेंट को इतिहास का सबसे बड़ा इवेंट बना दिया।

ऐसा लगता है कि ONE: ENTER THE DRAGON पर अपनी बाउट से पहले एथलीटों का जोश पूरे उफान पर था। विशेष रूप से ब्रैकेट के दाईं ओर। इसी चलते उन्होंने साल के दो सर्वश्रेष्ठ मुकाबले प्रस्तुत किए।

यह सब तीन राउंड की रोमांचकारी फाइट के साथ उस समय शुरू हुआ, जब डझाबर अस्केरोव “चंगेज खान” तीन दौर की रोमांचक थ्रिलर के साथ शुरू हुआ जैसा कि दज़बहार “जेंगीस खान” और एनरिको खेल “द हरिकेन” सिंगापुर के इंडोर स्टेडियम में तीसरी बार भिड़े।

अपनी पहली दो बाउटों की ही तरह ही अस्केरोव ने अपने हाथों का बखूबी इस्तेमाल करते हुए फाइट का आगाज किया। उन्होंने पूरे 9 मिनट
तक अपनी पूरी ताकत से पंचों का उपयोग किया और इसके अलावा कुछ बेहतरीन रोलिंग थंडर किक का भी उपयोग किया।

यह उम्मीद करना उचित होगा कि इससे बेहतर एक्शन नहीं हो सकता, लेकिन यह दर्शकों के लिए अब तक की सर्वश्रेष्ठ फाइटों में से एक रही। योद्संकलाई IWE फेयरटेक्स “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” टूर्नामेंट विजेता के रूपए में सबसे पसंदीदा एथलीट था, लेकिन वह खुद और पूरे दर्शक एक अभूतपूर्व प्रदर्शन से हैरान थे।

थाई नायक ने 2013 में सना को लगातार सात साल तक जीत के रिकॉर्ड के क्रम में हराया था, लेकिन फ्रांसीसी ने उन्हें बार भी तकलीफ नहीं पहुंचाई। वह तीसरे राउंड के लिए आगे बढ़े और अपने प्रतिद्वंद्वी की तुलना में कहीं अधिक हमले किए। इसके दम पर उन्होंने सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल करते हुए सेमीफाइनल में जगह बना ली।

एक और बार

ब्रैकेट के दूसरे पक्ष को दुनिया भर की दो नहीं, बल्कि तीन फाइटों के साथ मार्शल आर्ट के शौकीन मिले। शुरुआत में बाउट बिना किसी परेशानी से आगे बढ़ रही थी, लेकिन तीसरे राउंड में जो नटावट “स्मोकिन” ने अपने बेहतरीन कौशल का प्रदर्शन करते हुए साशा मोइसा पर नॉकआउट के जरिए बेहतरीन जीत हासिल कर ली।

हालांकि, पेचरमोरकोट पेचैंडी अकादमी ने जज के स्कोरकार्ड के अनुसार तीन राउंड के शानदार एक्शन के बाद छोटे से अंतर से पेट्रोसियन को हरा दिया और टूर्नामेंट के लिए आगे की ओर एक कदम बढ़ा लिया।

यह एक बड़ी गड़बड़ी थी या फिर पहले की तरह दिख रहा था कि कार्यनिष्पादन की समीक्षा में थाई स्टार के क्लिनिक के उपयोग के कारण “द डॉक्टर” पर अनुचित लाभ लेने की बात सामने आ गई। इसलिए कुछ सप्ताह बाद ही ONE: MASTERS OF DESTINY पर शीघ्र रीमैच कराने का निर्णय किया गया।

विश्व-स्तरीय फाइटरों की इस जोड़ी के बीच दूसरा मैच वाकई में बहुत शानदार रहा। दोनों फाइटरों ने एक-दूसरे को रोकने व सप्ष्ट परिणाम हासिल करने के लिए एक-दूसरे पर बिजली सी गति के हमले किए। अंततः, इतालवी ने एक सर्वसम्मति से निर्णय हासिल करने के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया और कई महिनों बाद अपनी तीसरी बाउट की तैयारी के लिए चले गए।

सेमीफ़ाइनल के लिए जोश

ONE: DREAMS OF GOLD में पहले सेमीफाइनल से पहले एक बड़ा सवाल यह था कि क्या अस्केरोव अपनी शक्ति को हासिल करने के लिए सना की पहुंच के अंदर जा सकते है।

इसक जवाब बेहतरीन नहीं था, क्योंकि “ऐके47” ने उनकी सीमाओं का फायदा उठाया। उनके एक दमदार राइट हैंड ने अपने रूसी प्रतिद्वंद्वी को पहले ही राउंड में गिरा दिया और वहां से वापसी का कोई रास्ता नहीं था। उन्होंने “जंगेस खान” को अपने सर्वश्रेष्ठ हमले करने का कोई मौका नहीं दिया और बहुमत का फैसला हासिल करने के लिए सब कुछ ठीक किया।

रयोगोकू कोकुगिकन में अगली तारीख के लिए दूसरे फाइटर की तलाश में सब कुछ यहीं छोड़ दिया गया। इसके लिए अप्रैल 2018 ONE सुपर सीरीज एनकाउंटर के रीमैच में जो नटावट और पेट्रोसियन आमने-सामने हुए।

उस दौरान “डॉक्टर” ने तीन राउंड के बाद जीतने के लिए सटीक, काउंटर-स्ट्राइक प्रदर्शन किया, लेकिन इस बार उन्होंने निर्णय लेने के लिए रैफरियों को थोड़ा समय दे दिया।

पांच बार के किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन ने जो नटावट “स्मोकिन” की ठोडी पर बाएं हाथ के पंच से सीधा हमला किया। इस हमले ने उनके विरोधी को दुबारा उठने का मौका नहीं दिया।

इस बाउट ने 13 अक्टूबर को ग्रैंड फिनाले में दो अलग-अलग कौशलों के टकराव की नींव रख दी। ऐसे में अब दर्शक रिंग में बेहतरीन मार्शल आर्ट का जलवा देखने की उम्मीद कर सकते हैं।

ONE: CENTURY | ONE Championship का 100 वां लाइव इवेंट | टिकट खरीदने के लिए यहां क्लिक करें

  • यूएसए में PART I 12 अक्टूबर को 8 ईएसटी पर और PART II 13 अक्टूबर को सुबह 4 बजे ईएसटी पर देखें
  • भारत में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 5:30 बजे IST और PART II 1:30 बजे IST पर देखें
  • जापान में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 9 बजे JST और PART II को शाम 5 बजे JST में देखें
  • इंडोनेशिया में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 7 बजे WIB और PART II 3pm WIB पर देखें
  • सिंगापुर में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे एसजीटी और PART II 4 बजे एसजीटी पर देखें
  • फिलीपिंस में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे पीएचटी और PART II 4 बजे पीएचटी पर देखें

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट शैलियों का प्रदर्शन करेंगे। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप इवेंट आयोजित नहीं किए हैं।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रोयोगोकू कोकूगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच लाने के साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन पर दस्तक देगा।