विशेष कहानियाँ

कैसे टीमवर्क ने रोडटंग जित्मुआंगनोन का सपना पूरा किया

अक्टूबर 5, 2019

रोडटंग जित्मुआंगनोन “द आयरन मैन” के लिए ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन के रूप में छा जाने का उद्देश्य केवल जीवन के सपने को पूरा करना ही नहीं बल्कि अपनी जिम के लिए एक दायित्व है।

22 वर्षीय फाइटर अगले रविवार 13 अक्टूबर को वाल्टर गोंक्लेव्स के खिलाफ ONE: CENTURY PART II में अपनी बेल्ट का पहला बचाव करने उतरेंगे। उनका कहना है कि वह सब कुछ अपनी टीम के लिए समर्पित करेंगे। जिसने उन्हें शीर्ष पर पहुंचने में मदद की है। वह अपना रिकॉर्ड 259-41-10 पर पहुंचाने और अपनी असाधारण प्रतिभा और काम की नैतिकता के साथ गोल्ड जीतने में कामयाब रहा तो इसके लिए उन सभी का योगदान है जो इस राह में उनके साथ खड़े रहे।

वह कहते हैं कि “हर फाइटर और एथलीट एक टीम से जुड़ा होता है। आप केवल अपने दम पर बेहतर नहीं कर सकते। आपकी टीम हर जगह आपके लिए खड़ी रहती है। उनके बिना आप कुछ नहीं कर सकते। वह आपको मौके देती है। ऐसे में आप उसे दरकिनार नहीं कर सकते। मेरे जिम ने मेरे लिए सब कुछ किया है। ऐसे में अब मुझे उनका अहसान चुकाने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देनी चाहिए।”

दक्षिणी थाइलैंड के पट्टालुंग के मूल निवासी बचपन से गरीबी के बीच पले-बढ़े। उन्होंने अपने जीवन को सशक्त बनाने के लिए और अपने परिवार की कठिनाइयों को दूर करने के लिए मॉय थाई को समाधान के रूप में इस्तेमाल किया। जब से वह ONE सुपर सीरीज की रैंक में पहुंच गए तो उन्होंने खुद को अंतर्राष्ट्रीय सुपरस्टारडम में पहुंचा दिया।

हालांकि जब उन्होंने पहली बार “द आर्ट ऑफ एट लिम्बस” में शुरुआत की तो पैसा नहीं कमा सके। उन्हें इस बात का भी ज्ञान नहीं था कि भविष्य को सुरक्षित करने के लिए पैसा कैसे कमाया जाए। तब जित्मुआंगनोन जिम के लोगों ने उन्हें रिंग के बाहर की दुनिया में गुजारा करने के लिए कौशल विकसित में मदद की।



वे कहते हैं कि “मेरे जिम ने सचमुच मेरी हर चीज में मदद की है। वह मेरा परिवार है जिसने मुझे एक बेटे की तरह पाला है। छोटी उम्र से लेकर अब तक उन्होंने मुझे सिखाया है कि कैसे परिपक्व बना जाता है। पैसे का ख्याल रखने से लेकर जीवन जीने की कला तक। इस सभी बातों ने मुझे बड़ा बनाया। जब मेरे पास पैसा नहीं था तो उन्होंने मेरी मदद की। मैं उनसे हर तरह की मदद मांग लेता था।”

दूसरों के प्रति दायित्व थाईलैंड के राष्ट्रीय खेल की संस्कृति का हिस्सा है। एथलीटों को सिखाया जाता है कि वे यह कभी न भूलें कि वे कहां से आते हैं, जिन्होंने उन्हें स्थापित करने में मदद की है। यह भी सुनिश्चित करता है कि आने वाली पीढ़ियों के पास समृद्धि का वही मौका है जैसा उन्हें मिला था। जिम को समृद्ध बनाने में मदद करना रोडटंग को बोझ नहीं बल्कि खुशी देता है।

उन्हाेंने कहा कि “मेरे जिम ने मेरे लिए बहुत कुछ किया है। अब यह मेरा कर्त्तव्य बनता है कि मैं कड़ी मेहनत करके अपने जिम रूपी घर के लिए जीत हासिल करूं। ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने सफलता की राह में मदद की है। अब उनके अहसानों का बदला चुकाने के लिए उनकी मदद करें।”

वैश्विक स्तर पर प्रतिनिधित्व करने से उनका दायित्व बहुत बढ़ जाता है। इसके लिए रोडटंग को रोजाना विनम्र और अनुशासित रहने की जरूरत है। वह कहते हैं कि “यह बात मायने नहीं रखती कि हम कितने अच्छे हैं अगर हम जिम में आलसी हैं, या नियमों का पालन नहीं करते हैं तो हमारे पास कुछ भी नहीं होगा।”

अब युवा थाई फाइटर इतिहास में एक सबसे बड़े ONE फ्लाइवेट के रूप में नाम दर्ज कर जित्मुआंगनोन जिम को गौरवान्वित करना चाहते हैं। टोक्यो, जापान में ONE: CENTURY में अपने ताज का बचाव करके वहां मौजूद हर किसी को गर्व करने का मौका मिलेगा।

वे कहते हैं कि “जिम ने मेरे लिए सब कुछ किया है और अब वापस देने की बारी मेरी है। शुरुआत में मेरे पास कुछ भी नहीं था। मैं सिर्फ एक औसत फाइटर था। अब मैं शीर्ष पर हूं। सबसे अधिक भुगतान पाने वाले फाइटरों में से एक हूं। दुनियाभर में जिम का परचम लहरा रहा हूं। मुझे जिम के लिए कुछ करने में सक्षम होने पर वास्तव में गर्व है।”

ये भी पढ़ें : रोडटंग ने अनुसार विश्व चैंपीयन के लिए आवश्यक है विनम्रता

टोक्यो | CENTURY | ONE Championship का 100वां लाइव इवेंट | टिकट खरीदने के लिएः यहां क्लिक करें

  • यूएसए में PART I 12 अक्टूबर को 8 ईएसटी पर और PART II 13 अक्टूबर को सुबह 4 बजे ईएसटी पर देखें
  • भारत में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 5:30 बजे IST और PART II 1:30 बजे IST पर देखें
  • जापान में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 9 बजे JST और PART II को शाम 5 बजे JST में देखें
  • इंडोनेशिया में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 7 बजे WIB और PART II 3pm WIB पर देखें
  • सिंगापुर में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे एसजीटी और PART II 4 बजे एसजीटी पर देखें
  • फिलीपिंस में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे पीएचटी और PART II 4 बजे पीएचटी पर देखें

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट्स प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट्स का प्रदर्शर करेंग। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप के आयोजनों को बढ़ावा नहीं दिया।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रयोगोकु कोकुगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच के साथ-साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन तलाश करेगा।