ONE Fight Night 5 में अहम रीमैच से पहले जोश में जैकी बुंटान और एम्बर किचन

Smilla Sundell Jackie Buntan ONE156 1920X1280 72

5 साल पहले जैकी बुंटान और एम्बर किचन की भिड़ंत हुई थी। अब फिर से दोनों स्ट्राइकर्स एक दूसरे का सामना करने के लिए पूरे जोश के साथ तैयार हैं।

शनिवार, 3 दिसंबर को दोनों युवा स्टार्स ONE Fight Night 5: De Ridder vs. Malykhin के लीड कार्ड पर रीमैच में नजर आएंगी।

इस बाउट के नतीजे का विमेंस स्ट्रॉवेट मॉय थाई डिविजन और दोनों फाइटर्स के करियर पर काफी गहरा असर पड़ने वाला है।

इतना सबकुछ दांव पर लगा होने की वजह से बुंटान और किचन ने फिलीपींस में मनीला के द मॉल ऑफ एशिया एरीना में जीत हासिल करने की अहमियत के बारे में बताया।

किचन के खिलाफ खुद को साबित करने के लिए उत्सुक हैं बुंटान

हालांकि, शुरुआती मुकाबला किचन ने साल 2017 में जीता था, लेकिन अब भी इंग्लिश स्ट्राइकर ONE Championship में खुद को स्थापित करने के लिए संघर्ष कर रही हैं। वहीं बुंटान को इस दौरान ढेर सारी सफलताएं मिलीं।

फिलीपीनो-अमेरिकी एथलीट ने लगातार 3 मुकाबले जीतकर ONE विमेंस स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल का मौका हासिल कर लिया था, लेकिन बुंटान उस मुकाबले में स्मिला संडेल से हार गई थीं। उस पराजय ने उन्हें पहले से ज्यादा मेहनत करने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने कहा:

“उस वर्ल्ड टाइटल की हार से मुझे काफी प्रोत्साहन मिला और उसने ही मेरे अंदर नया जोश जगा दिया। ऐसा सच में हुआ है। हारना किसी को अच्छा नहीं लगता, लेकिन मैंने अपनी पूरी जिंदगी में हार मानकर शांत बैठना नहीं सीखा है। मैं ऐसा कर ही नहीं सकती हूं।

“ऐसे में जाहिर है कि मैं जीत की राह पर वापस लौटना चाहती हूं। मैं फिर से टाइटल के लिए मुकाबला करने की दौड़ में शामिल होना चाहती हूं।”

किचन से 2017 में मुकाबला करने के बाद Boxing Works की प्रतिनिधि को पता है कि उन्हें इस शनिवार को काफी तगड़ी विरोधी का सामना करना पड़ेगा। इसके साथ ही उन्हें लगता है कि वो कुछ कमजोरियों का फायदा भी उठा सकती हैं।

किसी भी दूसरी चीज से ज्यादा बुंटान अपनी रफ्तार बढ़ाना चाहती हैं और विरोधी पर दबदबा बनाकर खुद को विमेंस स्ट्रॉवेट मॉय थाई की टॉप कंटेंडर साबित करना चाहती हैं।

25 साल की एथलीट ने बताया:

“मैं एम्बर को कम नहीं आंक रही हूं। मुझे लगता है कि वो एक शानदार फाइटर हैं। वो फिजिकली काफी तगड़ी फाइटर हैं। पहली बार जब हमारा सामना हुआ था, तब मुझे ऐसा ही लगा था। वो काफी हमलावर हो सकती हैं, लेकिन मैं कहना चाहती हूं कि मुकाबले के बीच में सुस्त पड़ जाना उनकी कमजोरी बन जाता है।

“अगर अपने बारे में बात करूं तो मेरी चीजें साफ हैं और मैं उन्हें चोट पहुंचाने वाली हूं। ये वो चीज है, जिससे मैं पॉइंट्स के आधार पर जीत जाऊंगी, लेकिन सच में मैं उन्हें गहरी चोट पहुंचाकर जीतना चाहती हूं। मैं उन्हें इसलिए नुकसान पहुंचाना चाहती हूं क्योंकि मुझे खुद को साबित करना है।”

मनीला में एम्बर के लिए ‘करो या मरो’ की स्थिति

ONE Championship में शामिल होने के बाद से एम्बर किचन ने दो बड़े मुकाबलों में हिस्सा लिया, लेकिन दोनों ही बार जजों के निर्णय में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा।

इस बात को ध्यान में रखते हुए 23 साल की एथलीट खुद को महान स्ट्राइकर्स में शामिल करने के हिसाब से अपनी योजना बना रही हैं।

“AK 47” ने कहा:

“मेरे लिए ये करियर का सबसे बड़ा मुकाबला है। अब तक ONE में मैं दो बार हार चुकी हूं। ऐसे में इस बार मुझे हर हाल में जीत हासिल करनी होगी। खासकर तब, जब मेरे विरोधी के पास ONE का काफी सारा अनुभव है। हालांकि, मुझे कमजोर आंका जाना खराब नहीं लगता और ऐसा लगता है कि अब मेरे पास खोने के लिए कुछ भी नहीं है। मैं भले दो बार हार चुकी हूं, लेकिन अब और नहीं हारूंगी। इस बार मैं पक्के इरादे के साथ मुकाबला करने जा रही हूं।

“इस बार मैं जीत के साथ सीधे शिखर पर पहुंचने वाली हूं या फिर लगातार तीन हार झेलने वाली हूं। हालांकि, इस बार मैं अपने नाम के साथ पराजय को नहीं जोड़ना चाहती हूं। अब मेरे लिए ‘करो या मरो’ जैसी स्थिति है।”

अपने पहले मुकाबले में बुंटान को हराने के चलते किचन कुछ आत्मविश्वास के साथ इस मुकाबले में शामिल होने जा रही हैं। उन्हें ये अच्छी तरह से पता है कि पिछले 5 साल में काफी कुछ बदल गया है।

इसके बावजूद ब्रिटिश एथलीट का पूरा ध्यान अपने मुकाबले पर लगा है और वो ये साबित करने के लिए उत्सुक हैं कि उन्होंने खुद में बड़े सुधार करके अपनी स्किल सेट अच्छी कर ली है। फिर भले चाहे नतीजे उनके पक्ष में ना आए हों।

उन्होंने कहा:

“मुझे लगता है कि बुंटान को हराया जा सकता है। ONE में अभी तक केवल स्मिला संडेल के साथ ही उनकी तगड़ी फाइट हुई है। एक अच्छे फाइटर के तौर पर मुझे बढ़ते हुए देखने के बाद उन्हें काफी हैरानी होने वाली है।

“मुझे लगता है कि ONE में दो हार झेलने के बाद वो मुझे कमजोर आंक रही हैं क्योंकि अगर आप उस समय के स्तर पर नजर डालें, जब हमारी पहली भिड़ंत हुई थी, तब से मेरा स्तर काफी सुधर चुका है।

“जाहिर है कि हम दोनों ने काफी सुधार किया है। हम दोनों अनुभवी हो चुके हैं और उनके पास तो मुझसे ज्यादा अनुभव है, लेकिन मुझे सच में ऐसा लग रहा है कि मेरे जीतने का समय आ चुका है। खुद को साबित करने के लिए ये काफी बड़ी छलांग होने जा रही है।”

न्यूज़ में और

Rambolek Chor Ajalaboon Soner Sen ONE Friday Fights 51 12 scaled
Rodtang Jitmuangnon Jacob Smith ONE157 1920X1280 31
Petsukumvit Boi Bangna Kongsuk Fairtex ONE Friday Fights 53 14 scaled
Songchainoi Kiatsongrit Rak Erawan ONE Friday Fights 71 8
1157
Hiroba Minowa Gustavo Balart ONE 165 53 scaled
Sean Climaco Josue Cruz ONE Fight Night 22 44
Maurice Abevi Zhang Lipeng ONE Fight Night 22 5
Mayssa Bastos Kanae Yamada ONE Fight Night 20 8
Shamil Gasanov Oh Ho Taek ONE Fight Night 18 19 scaled
Jarred Brooks Joshua Pacio ONE 166 5
Danielle Kelly Jessa Khan ONE Fight Night 14 62 scaled