जॉर्जिया का शहर और वो व्यक्ति जिसने डेविट कीरिया को बड़ा स्टार बनाया

Giorgio Petrosyan Davit Kiria FISTS OF FURY 1920X1280 1

ग्लोबल स्टेज पर अपने डेब्यू में हार के बाद डेविट कीरिया दूसरे मैच में बड़ी जीत दर्ज करने को बेताब हैं। इस बार वो ONE: FIRST STRIKE में फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री में परफॉर्म कर रहे होंगे।

शुक्रवार, 15 अक्टूबर को जॉर्जियाई स्ट्राइकर का सामना ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री के क्वार्टरफाइनल में एनरिको “द हरिकेन” केह्ल से होगा।

ग्रां प्री के चैंपियन को सिल्वर बेल्ट और सबसे पहले ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन के खिलाफ मैच भी मिलेगा।

इस तरह का कॉम्पिटिशन कीरिया को अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित कर रहा है। मगर इसके साथ वो अपने होमटाउन ज़गडीडी में युवाओं के लिए रोल मॉडल भी बनना चाहते हैं।

किस जगह सपने देखने शुरू किए?

कीरिया करियर में आगे बढ़ने के मौके ढूंढने के लिए अपने शहर को छोड़ कर चले गए थे, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि वो पुराने समय को भुला चुके हैं।

उनका जन्म 1988 में यूरोपीय देश जॉर्जिया के ज़गडीडी नाम के शहर में हुआ था। जो काला सागर और इगरीसी के पहाड़ी इलाकों के बीच स्थित है।

1980 के दशक के आखिरी सालों में उनका शहर बहुत पिछड़ा और भ्रष्ट हुआ करता था।

कीरिया ने कहा, “सोवियत संघ मेरे घर से 5 किलोमीटर दूर के क्षेत्र पर कब्जा कर रहा था। इससे वहां कोई बिजली और ना ही कोई सामाजिक जीवन बचा था। मैं स्कूल जाता था, लेकिन वहां रह पाना बहुत मुश्किल काम था।”

उनके शहर के लोगों के पास अच्छे खाने, अच्छे कपड़ों की कमी थी और कुछ लोगों के पास रहने को घर भी नहीं थे। देश के काफी लोग गरीबी में जी रहे थे और देश को आर्थिक उत्थान की जरूरत थी।

उनके पिता एक रेलवे कंपनी में काम करते थे, लेकिन उन्हें भी अपनी नौकरी गंवानी पड़ी। जिसके बाद उन्होंने लोकल मार्केट में मछली बेचने का काम भी किया। उनकी मां को कोई काम नहीं मिल रहा था और घर पर रहकर सभी के लिए खाना बनाती थीं।

हालांकि, बचपन में कीरिया को ज्यादा सुविधाएं नहीं मिल पाईं, लेकिन उन्हें दूसरों का साथ जरूर मिल रहा था।

उन्होंने कहा, “हम सभी एक-दूसरे का साथ देते थे और पूरा दिन बाहर खेलते हुए बिताते थे।”

“हमारे पड़ोस के लोग बहुत अच्छे थे और एक-दूसरे के बहुत करीब थे। उसी वातावरण में मेरा जीवन गुजरा और उसके अलावा मुझे ज्यादा चीजों के बारे में नहीं पता था।”

उस वातावरण में कीरिया के लिए दूसरी चीजों पर ध्यान लगा पाना बहुत मुश्किल था।

उन्होंने कहा, “बचपन में मैं बहुत सपने देखा करता था। लेकिन बचपन में आपके पास चीजों का ज्ञान नहीं होता इसलिए आप छोटे सपने देखते हैं।”

अपने गुरु से मिले

कीरिया ने फुटबॉल के जरिए अपने सपनों की दुनिया में कदम रखा, लेकिन कुछ समय बाद ही उन्हें अहसास हुआ कि वो टीम स्पोर्ट्स के लिए नहीं बने हैं। तभी उन्हें पड़ोस में एक कराटे क्लास के बारे में पता चला।

उन्होंने कहा, “मैंने ट्रेनिंग शुरू की और आज तक मार्शल आर्ट्स से जुड़ा हुआ हूं।”

उस दिन को 24 साल बीत चुके हैं। उनका करियर 2 दशकों से भी लंबा चला है और उससे भी खास बात यह है कि इस दौरान उन्हें बशूकी पार्सवानिया ही ट्रेनिंग देते आए हैं।

कीरिया ने आगे कहा, “मेरे माता-पिता हैं, लेकिन अपने कोच को भी मैं अपने पिता जैसा दर्जा देता हूं। उन्होंने मेरे जीवन को नई राह दिखाई और आगे बढ़ने के लिए हमेशा प्रेरित किया है। आज मैं जो कुछ भी हूं, बशूकी की वजह से हूं।”

“वो 2007 में मुझे हॉलैंड में स्थित Golden Glory Gym में लेकर आए थे और यहीं से मेरे प्रोफेशनल किकबॉक्सिंग करियर की शुरुआत हुई।”

उनके कोच ने उन्हें सफलता प्राप्त करने में बहुत मदद की। हॉलैंड में रहते समय उन्हें एक महिला से प्यार भी हुआ। उन्होंने एक-दूसरे को डेट किया और कीरिया इस रिलेशनशिप को आगे बढ़ाना चाहते थे।

मगर उन्हें डर था कि दोनों की संस्कृति और परंपराओं में अंतर दिक्कतें पैदा करेगा इसलिए वो सलाह लेने अपने कोच के पास पहुंचे।

कीरिया ने कहा, “बशूकी ने मुझसे कहा कि मुझे अपनी भावनाओं पर विश्वास करना चाहिए। मैंने उनकी बात मानी और अब मैं बहुत खुश हूं। हमने शादी की और अब हमारे 2 बच्चे भी हैं।”



बच्चों के लिए कुछ करना चाहते हैं

https://www.instagram.com/p/CSbcwnsKAZQ/?utm_source=ig_web_copy_link

कीरिया के दोनों बच्चे उन्हें सबसे बड़े किकबॉक्सिंग टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

एक तरफ वो केह्ल को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश करते हुए सिल्वर बेल्ट जीतने के करीब पहुंचना चाहते हैं। वहीं उनके फाइटिंग से जुड़े रहने का एक और बड़ा कारण भी है।

कीरिया ने कहा, “मैं केवल वर्ल्ड टाइटल्स जीतने के लिए फाइट नहीं कर रहा हूं। ये चीजें खुद आपके पास चलकर आती हैं, लेकिन मैं एक चीज जरूर करना चाहता हूं।”

“मैं अपनी सफलता को अपने परिवार और अपने करीबियों के साथ शेयर करना चाहता हूं और मेरा सपना इस खेल में सबसे बेस्ट बनना है। ऐसा कुछ करना चाहता हूं जिससे युवा पीढ़ी को प्रेरित कर सकूं। अगर मैं ऐसा कर पाया तो शायद दुनिया का सबसे खुश इंसान बन जाऊंगा।”

कम से कम वो अपने शहर के लोगों को कुछ अच्छा करने के लिए प्रेरित कर पाएंगे क्योंकि उनके शानदार सफर की शुरुआत वहीं से हुई थी। हालांकि अब वो जॉर्जिया की राजधानी तिब्लिसी में जा बसे हैं, लेकिन हाल ही में उन्हें अपने होमटाउन जाने का मौका मिला था।

अपने निवास स्थान पर वापस गए

https://www.instagram.com/p/CTOwisjK5NQ/?utm_source=ig_web_copy_link

जब जॉर्जिया में COVID-19 महामारी ने दस्तक दी, तब कीरिया को तिब्लिसी में स्थित आपे जिम को बंद करना पड़ा था और ज़गडीडी में वापस घर जाकर ट्रेनिंग करनी पड़ी। कोच और ट्रेनिंग पार्टनर्स उनके साथ थे और तभी से सभी उनके घर में साथ रह रहे हैं।

अपने निवास स्थान पर आकर भी वो बहुत अच्छा महसूस कर रहे हैं, जिससे उन्हें प्रोत्साहन भी मिल रहा है।

उन्होंने कहा, “अपने घर पर आकर ट्रेनिंग करना मेरे लिए बेहद भावुक लम्हा रहा क्योंकि पिछले 5-6 साल से मैंने यहां ट्रेनिंग नहीं की थी।”

“यहां ट्रेनिंग करने का समय मुझे याद आता है। अब मेरे पड़ोस के लोग और मेरे समर्थक जानते हैं कि जल्द ही मेरी अगली फाइट होने वाली है। इसलिए जब भी मेरी उनसे मुलाकात होती है, वो मुझे शुभकामनाएं देते हैं।

“वो मेरा मनोबल बढ़ाते हैं। मेरा कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है क्योंकि सभी मुझे जीतते हुए देखना चाहते हैं।”

ONE में उनका फ्यूचर

इसी साल फरवरी में कीरिया ने #1 रैंक के फेदरवेट किकबॉक्सर जियोर्जियो “द डॉक्टर” पेट्रोसियन के खिलाफ अपना ONE डेब्यू किया था। पेट्रोसियन, जो ONE: FIRST STRIKE में सबसे पहले ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच मैच में सुपरबोन से भिड़ने वाले हैं।

हालांकि उन्होंने अपने पुराने प्रतिद्वंदी को कड़ी टक्कर दी, लेकिन अंत में उन्हें पेट्रोसियन के खिलाफ हार मिली। अब ONE में अपने दूसरे मैच में वो केह्ल को हराकर वो टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश करना चाहेंगे।

अगर वो क्वार्टरफाइनल मैच जीत पाए तो सेमीफाइनल में उनकी भिड़ंत #4 रैंक के कंटेंडर सिटीचाई “किलर किड” सिटसोंगपीनोंग और #5 रैंक के कंटेंडर टायफुन “टरबाइन” ओज़्कान के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगी।

कीरिया, केह्ल को कम आंकने की भूल नहीं करना चाहते और उनका उन लोगों से भी ध्यान नहीं हटा है जिन्होंने उन्हें बड़ा स्टार बनाया है। जॉर्जियाई स्टार अपने शहर के युवाओं के जीवन में सुधार लाना चाहते हैं।

कीरिया ने कहा, “मेरा सपना है कि मैं लोगों के जीवन में कुछ बदलाव ला पाऊं। ऐसा करने से मुझे बहुत खुशी मिलेगी।”

“जीवन में मुझे कई जिम्मेदारियां निभानी हैं, खासतौर पर मुझे अपने शहर के बच्चों और युवाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना है।”

ये भी पढ़ें: सर्कल से बाहर की दुनिया में लोगों की सुरक्षा के लिए अपना जीवन दांव पर लगाते हैं एनरिको केह्ल

किकबॉक्सिंग में और

Alaverdi Ramazanov Mavlud Tupiev ONE Friday Fights 8 21
Hiroki Akimoto Petchtanong Petchfergus ONE163 1920X1280 31
Jonathan Di Bella Danial Williams ONE Fight Night 15 73 scaled
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 142
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 59
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 137
Tawanchai PK Saenchai Jo Nattawut ONE 167 78
Mikey Musumeci Gabriel Sousa ONE 167 11
Rodtang Jitmuangnon Edgar Tabares ONE Fight Night 10 36
Johan Ghazali Edgar Tabares ONE Fight Night 17 21 scaled
Superlek Kiatmoo9 Rodtang Jitmuangnon ONE Friday Fights 34 80
Kompet Fairtex Kongchai Chanaidonmueang ONE Friday Fights 58 10