विशेष कहानियाँ

मार्टिन गुयेन ने विश्व चैंपियन के रूप में अपने सबसे बड़े बलिदान का खुलासा किया

जुलाई 25, 2019

जैसा कि मार्टिन “द सीटू-एशियन” गुयेन शुक्रवार 2 अगस्त को अपनी ONE वर्ल्ड फ़ेदरवेट चैम्पियनशिप का बचाव करने के लिए तैयार है। उन्होंने बताया कि कैसे उनका परिवार ही उनका सबसे बड़ा बलिदान और उनकी सबसे बड़ी प्रेरणा का स्रोत भी है।

जापान के कोओमी “मौशिगो” से अपने करियर की सबसे कठिन परीक्षा के साथ मात्सुशिमा ने फिलिपिन्स के मनीला में ONE: डॉन ऑफ हीरोज में उनका इंतजार किया है। गुयेन ने फिर से हार्डकनॉक्स 365 में अपने कौशल को सुधारने के लिए अमेरिका की यात्रा की।

फ्लोरिडा में कई सप्ताह बिताने के बाद वियतनामी-ऑस्ट्रेलियाई का मानना ​​है कि वह पहले से कहीं ज्यादा तेज है, लेकिन उन्हें सुधार के लिए कीमत चुकानी पड़ी है। प्रशिक्षण के लिए दुनिया भर में सैर करने के लिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में अपनी पत्नी ब्रुक और अपने तीन बच्चों को छोड़ना पड़ा।

उन्होंने बताया कि उन्हें एक बात है जो सबसे ज्यादा याद आती है, वह है फ्लोरिडा में परिवार के साथ होना। जब प्रशिक्षण की बात आती है तो आप वही करते हैं जो आपको करना है, लेकिन मुझे अपने परिवार के आसपास रहना पसंद है। मैं एक पिता होने के साथ-साथ एक एथलीट भी हूं।

“मैं एक पारिवारिक व्यक्ति हूं, मैं हमेशा जो कुछ भी आवश्यक है उन्हें चाहता हूं, लेकिन उनसे दूर होने का मतलब है कि मैं अपने बच्चों को स्कूल नहीं ले जा पा रहा हूं। उन्हें उठाना और बिस्तर पर सुलाना आदि कई छोटी चीजें हैं। जिनकी लोग सराहना नहीं करते हैं।”

गुयेन एक मेहनती प्रतियोगी और समर्पित परिवार से जुड़े हैं। अक्सर ये दोनों चीजे एकसाथ नहीं होती है, लेकिन लेकिन 30 वर्षीय गुयेन एक परिवार के लिए भाग्यशाली है जो अपने लक्ष्यों को पूरा करने पर ध्यान केन्द्रीत करते हैं और समझते है कि उन्हें हासिल करने के लिए क्या आवश्यक है।

उन्होंने बताया कि वास्तव में उनकी पत्नी ब्रुक ही थी जिसने उन्हें फोर्ट लौडरडेल के लिए 15,000 किलोमीटर की उड़ान भरने के लिए प्रोत्साहित किया ताकि वह अपनी तकनीक में सुधार कर सके। “मैं अपनी पत्नी की अब और अधिक सराहना करता हूं कि उसने बच्चों की देखभाल की जिम्मेदारी उठाई। हम दोनों एक टीम के रूप में काम करते हैं।”

मेरी पत्नी ने कहा कि तुम्हे आगे बढ़ना है तो आपको मेहनत करनी होगी। आपको इस परिवार को सभी खुशियां देने के काबिल होने के लिए एक एथलीट के रूप में सफलता हासिल करनी होगी। अन्यथा, हम बस उसी नकारात्मकता के साथ यहीं फंसे रह जाएंगे।

वह व्यक्तिगत रूप से अपने परिवार के पास नहीं पहुंच सकते हैं, लेकिन जब वह दूसरे महाद्वीप में होते हैं तो वहीं करते हैं जो उनके बच्चों के पालन-पोषण के लिए किया जा सकता है।

यह अतीत में संभव नहीं होगा, लेकिन आधुनिक तकनीक के लिए धन्यवाद। हर कोई अपने पिता को देखने व उनका प्यार पाने के लिए बस एक फोन कॉल की दूरी पर है।

गुयेन ने बताया कि “मैं यहां भले ही प्रशिक्षण ले रहा हूं, लेकिन मेरी आत्मा अभी भी अपने परिवार के साथ है। मेरे बच्चों के पास उनके पिता नहीं हैं और मेरी पत्नी को बुरे समय में किसी अपने से बात करने व उसके समर्थन की जरूरत होती है। प्रौद्योगिकी के विकास के लिए भगवान का शुक्र है, क्योंकि अब हम प्रतिदिन वीडियो कॉल कर एक दूसरे को देख सकते हैं और बात कर सकते हैं।

गुयेन ने बताया कि “मैं अपनी पत्नी के दिए गए समय पर हमेशा उपलब्ध रहता हूं। खासकर तब जब मेरे बच्चे कुछ अलग कर रहे होते हैं और मेरी पत्नी चाहती है कि मैं उन्हें देखूं और उनसे बात करूं”

“उन्हें अपने आईपैड मिल गए हैं। ऐसे में मैं अब उन्हें सीधे फोन कर सकता हूं और उनके साथ नियमित रूप से बात कर सकता हूं। इसके जरिए मैं यह भी देख सकता हूं कि वो कैसे चलते हैं या गुड मॉर्निंग बोलते हैं। इसके अलावा यह भी पता चल जाता है कि वह स्कूल में कैसे दिन बिता रहे हैं।”

गुयेन खुद एक मजबूत पिता के होने का महत्व जानते हैं। उनके माता-पिता वियतनाम युद्ध से गुजरे थे और फिर बेहतर जीवन के लिए ऑस्ट्रेलिया चले गए थे। उसके बाद उन्होंने अपने बच्चों को अच्छा जीवन देने के लिए कड़ी मेहनत की थी।

अफसोस की बात है कि 2013 में उनके पिता की मृत्यु हो गई और वो यह नहीं देख पाए कि गुयेन मार्शल आर्ट के शीर्ष पर पहुंच गए हैं। लेकिन “द सीटू-एशियाई” ने उनसे बहुत कुछ सीखा और एक भूमिका के रूप में अपनी विरासत को जारी रखना चाहते हैं। अपने भाई के लिए एक रॉल मॉडल।

वह कहते हैं कि “मेरे पिता ने जिस प्रकार अपने परिवार को देने के लिए एक कठिन यात्रा शुरू की थी, आज भी उनके नक्शे कदम पर चलते हुए अपने परिवार को सर्वश्रेष्ठ देने के लिए प्रयासरत हैं।

“एक युवा के रूप में मेरे पिता की मजबूत मानसिकता थी जो बताती है कि वह अपने परिवार के लिए कितने समर्पित थे। यह एथलीट और अपनों के लिए अगल धारणा होती है, लेकिन उनकी समझ व सकारात्मक मानसिकता तथा उनके पिता द्वारा निर्धारित उदाहरण ने उन्हें दीर्घकालिक और अल्पावधि के लिए अपने लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित करने में सक्षम बना दिया।

अगले सप्ताह गुयेन फिलीपीन मार्शल आर्ट इतिहास में सबसे बड़ी रात में अपनी बेल्ट का बचाव करने पर ध्यान केंद्रित करने में लगे हैं और यह उस विरासत में योगदान देगा जो उसके परिवार को जीवन के लिए सुरक्षा प्रदान करेगा। वो पूरी तरह से समझते हैं कि विश्व चैंपियन बनने के लिए क्या करना है।

मनीला | 2 अगस्त | 7PM | डॉन ऑफ हीरोज | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट: http://bit.ly/oneheroes19