विशेष कहानियाँ

लिटो आदिवांग ने ओडब्ल्यूएस को दिया उन्हें विश्व स्तर पर पहुंचाने का श्रेय

सितम्बर 29, 2019

लिटो आदिवांग “थंडर किड” तीन बेहतरीन प्रदर्शनों के बाद ONE Championship से अनुबंध हासिल करने वाले नवीनतम ONE वारियर सीरीज़ (OWS) फाइटर हैं।

फिलिपिनो के उभरते हुए स्टार 13 अक्टूबर को CENTURY PART I पर पेंक्रेसे फ्लायवेट वर्ल्ड चैंपियन सेन्जो इकेदा के खिलाफ विश्व स्तर पर अपना पदार्पण करेंगे।

“थंडर किड” मुख्य रोस्टर के लिए नए एथलीट हो सकते हैं, लेकिन वह अनुभवहीन नहीं है और वह यह साबित करने के लिए दृढ़ है कि वह अब दुनिया में सर्वश्रेष्ठ एथलीटों से मुकाबले के लिए तैयार है।

उनका कहना है पहली से छठी कक्षा तक के प्राथमिक स्कूल में उनके पुराने शिक्षा प्रारूप का उपयोग किया जाता था। उन्हें लगता है कि उनकी शुरुआत पांचवीं कक्षा से ही हो रही है। उन्हें लगता है कि अपने सर्वश्रेष्ठ के करीब है, लेकिन पूरी तरह से वहां नहीं पहुंचे हैं।

उन्होंने अभी-अभी अपने कौशल पर कड़ी मेहनत की है और वह बस एक मौके का इंतजार कर रहे हैं। वह यह नहीं कह सकते कि वह पूर्ण रूप से कुशल है और उनमें अभी और सुधार की जरूरत है। उन्हें लगता है कि उनके पास प्रतिभा और जुनून है।

26 वर्षीय स्वयं के कौशल को निखारने का सही अवसर देने के लिए ओडब्लूएस को श्रेय देते है और जब उन्होंने पहली बार रिंग में प्रवेश किया तो वह जमीन पर थे।

पृथ्वी पर सबसे अच्छी और आने वाली प्रतिभा के लिए ONE पर आने से पहले तथा दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन के लिए अपने रिकॉर्ड बनाने के लिए उन्होंने फिलीपींस, मलेशिया और थाईलैंड में प्रतिस्पर्धा की थी।

हालांकि, उनके 6-2 रिकॉर्ड के बावजूद टीम लॉकी प्रतिनिधि को मैचमेकर्स द्वारा अनदेखा किया गया था। इसके बाद दिसंबर 2017 में मनीला में शो में आने के लिए रिच फ्रैंकलिन और ओडब्ल्यूएस टीम द्वारा उन पर ध्यान दिया गया।

उन्होंने कहा कि उस दौरान उनमें से कई फाइटर ऐसे थे जिन्हें नहीं चुना गया था। कई अन्य टीमों को उन पर तरहीज देते जुए चुन लिया गया था। यह उन सबके लिए एक बड़ा झटका था।

हालांकि, उन्हें लगता है कि यह उन्हें मानसिक रूप से मजबूत करने के लिए अच्छी चुनौती थी। उन्होंने यह समझना सीख लिया कि यह खेल
केवल शारीरिक रूप से सबसे मजबूत लोगों के लिए नहीं है और यदि आप वास्तव में इसे अपने जिंदगी बनाचा चाहते हैं या फिर इस खेल का चैंपीयन बनना चाहते हैं तो आपका मानसिक रूप से भी मजबूत होना बहुत जरूरी है।



हम भी यही साबित करने आए थे, क्योंकि हमने प्रशिक्षण तब तक जारी रखा जब तक कि वे बगुइयो के पास नहीं आए और वो उन्हें इवेंट में
नहीं ले गए। आदिवांग के लिए इससे बेहतर कुछ भी नहीं था कि उन्होंने अपने पहले दो ओडब्ल्यूएस मुकाबलों में नॉकआउट के जरिए जीत हासिल की थी।

हालांकि वह शुरू में थोड़ा निराश थे कि उन्होंने अगस्त में एंथनी डू के खिलाफ अपना मैच खत्म नहीं किया था। वह उनका सबसे पूर्ण प्रदर्शन था, उस निराशा को दूर करने के लिए उनके पास बहुत सारी सकारात्मकताएं भी थी।

उन्होंने बताया कि उन तीन मुकाबलों में से आखिरी ने उन्हें वास्तव में बहुत कुछ सिखाया। उन्होंने अपनी बाउट में उन कमियों को देखा, जिन्हें सुधारने की बहुत अधिक आवश्यकता थी। क्योंकि वह उन गलतियों को फिर से कर सकते थे।

उनकी आखिरी बाउट जब खत्म हुई तो वह बहुत परेशान थे। उन्हें पता था कि वह अभी भी बहुत कुछ कर सकते हैं, लेकिन वह थकान के कारण अपना कौशल दिखाने में सक्षम नहीं थे।

इन सब में एक सबसे अच्छी बात यह रही कि भले ही यह पहरे राउंड में खत्म नहीं हुई। ऐसे में वह बहुत कुछ हासिल करने में सक्षम थे। उन्होंने मैच से बहुत कुछ सीखा। उस दौरान वह जो कर सकते थे वह करने में सक्षम थे। वह यह भी साबित करने में सक्षम थे कि वह दूरी बना सकते हैं।

“थंडर किड” अब आभारी है कि वह कुछ अतिरिक्त सीज़निंग का मौका पाने से पहले The Home Of Martial Arts के मार्की इवेंट ONE में नहीं पहुंचे।

हालांकि उन्हें लगा कि यह एक झटका है। उनका मानना ​​है कि पिछले अक्टूबर में ओडब्ल्यूएस रस्सियों के माध्यम से कदम रखने के बाद से उनके पास जो अनुभव है उसने उन्हें एक बेहतर एथलीट बना दिया है और अब वह सबसे बड़े इवेंट में अपना वन डेब्यू कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि उन्हें बात का पछतावा नहीं है कि उन्हें कोई फोन नहीं आया। उन्हें लगता है कि यह उनके लिए बड़ी लीग में शामिल होने का सही समय है।

उन्हें अपने मैचों के लिए तैयार किए गए प्रमोशन और प्रशंसकों के समर्थन के कारण जो प्रर्दशन किया, वह वास्तव में अविश्वसनीय था।

उन्हें अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जाना जाता है। उन्होंने देश के बाहर प्रतिस्पर्धा की है। स्थानीय स्तर पर वह वास्तव में ज्यादा लोकप्रीय नहीं है, लेकिन ओडब्ल्यूएस का हिस्सा होने के बाद से लोग अचानक उनका समर्थन करने लगे हैं।

उन्हें लगता है कि वह सिर्फ एक उदाहरण है। यदि वह तुरंत मुख्य रोस्टर में शामिल हो जाते तो उनके पास सही मानसिकता और कौशल नहीं होता। ओडब्ल्यूएस एक बेहतरीन स्टेपिंग स्टोन हो सकता है, जहां कोई इन सभी कौशलों को बेहतर बना सकता है जब तक कि वो वास्तव में बड़ी प्रतियोगिता के लिए तैयार न हों।

यह भी पढ़ें: डैनी किंगड को मार्शल आर्ट के सर्वोत्तम फाइटर के खिलाफ मुकाबले की नहीं है परवाह

टोक्यो | 13 अक्टूबर | ONE: CENTURY | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट: https://onechampionship.zaiko.io/e/onecentury

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट शैलियों का प्रदर्शन करेंगे। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप इवेंट आयोजित नहीं किए हैं।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रोयोगोकू कोकूगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच लाने के साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन पर दस्तक देगा।