Muay Thai

कैसे सांगमनी साथियान युवाओं के लिए एक रोल मॉडल बने

“द मिलियन डॉलर बेबी” सांगमनी साथियान मॉय थाई ने अपने परिवार के जीवन को बेहतर बनाने के सपने देखे, जब इसके लिए उन्होंने 6 साल की उम्र में प्रतिस्पर्धा करनी शुरू कर दी थी। अपने देश में बेहतर प्रदर्शन कर मिली सफलता से उन्होंने परिवार की आर्थिक स्थिति को बेहतर किया।

22 साल के एथलीट सांगमनी बैंकॉक के इम्पैक्ट एरीना में केंटा यमाडा का अगले शुक्रवार, 10 जनवरी को ONE: A NEW TOMORROW में सामना करेंगे। इस दौरान उनको होमटाउन हीरो के रूप में देखा जाएगा। अपने अविश्वसनीय करियर में 180 से ज्यादा बाउट्स जीतने के साथ-साथ उन्होंने कई खिताब जीते हैं।

अगर इस बार उनके खाते में जीत आती है तो वो अपने करियर के सबसे बड़े सम्मान ONE Super Series वर्ल्ड टाइटल की ओर सकारात्मक कदम बढ़ा देंगे। इसके साथ ही वो अपने परिवारवालों के लिए एक बेहतर भविष्य हासिल करेंगे।

वास्तव में बैंकॉक तक की यात्रा खोन केन के रहने वाले इस एथलीट के लिए एक संस्कार की तरह रही।

“आठ अंगों की कला” के कोई भी प्रैक्टिशनर, जो अपना नाम बनाना चाहते हैं, उन्हें पता है कि खेल के सभी दिग्गजों की मेजबानी करने वाले स्थानों से उन्हें गुजरना ही पड़ेगा।

जब सांगमनी 14 साल के थे, तब उनको थाईलैंड की राजधानी के विश्व प्रसिद्ध Lumpinee Stadium में मैच का हिस्सा बनने का मौका मिला था, अपने इलाका मेंं मिलने वाली रकम से कहीं ज्यादा पैसा उन्हें यहां मिले।

युवा एथलीट के कंधों पर बहुत दबाव था लेकिन वो इस मौके पर रुके नहीं बल्कि आगे बढ़ते गए।

वो बताते हैं, “मैं वास्तव में लड़ने के लिए उत्साहित और घबराया हुआ था। वहां पुराने Lumpinee में बहुत सारे लोग थे।”

“मैं पॉइंट्स से जीता था। उस वक्त मैं बैंकॉक और इसान दोनों जगह लड़ रहा था।”

जिस तरह वो अपने मैचों में लगातार जीत हासिल करते हुए आगे बढ़ते रहे, उनके पुरस्कारों में भी बढ़ोत्तरी होती गई, जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी।



बड़े पुरस्कारों का मतलब कई बार बेहद मुश्किल मुकाबले होते थे लेकिन “द मिलियन डॉलर बेबी” ने उन चुनौतियों का सामना करना जारी रखा। वो हमेशा उन चुनौतियों के सामने डटकर खड़े रहे।

उन्होंने अपने डेब्यू के ठीक एक साल बाद 105 पाउंड Lumpinee Stadium मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल हासिल किया। स्पोर्ट्स राइटर्स ने इस उपलब्धि पर उन्हें थाइलैंड फाइटर ऑफ द ईयर का खिताब दिया, जो देश का सबसे फेमस मॉय थाई सम्मान था।

सांगमनी को देखकर ऐसा लग रहा था कि उन्हें किसी का भी सामना करने में कोई दिक्कत नहीं थी। हालांकि, वो इस बात का भी खुलासा करते हैं कि इतनी उपलब्धियों के बावजूद ये एक युवा लड़के के लिए कठिन जीवन था।

“उस वक्त बेशक सब कुछ मुश्किल था। कठिन ट्रेनिंग, वजन में कटौती, पढ़ाई सब कुछ लेकिन कुछ करने के लिए आपको समय के साथ चलना होगा और अपने वक्त की जिम्मेदारी लेनी होगी।”

“आपका पूरी तरह से अनुशासित होना बहुत जरूरी है। मेरे लिए सबसे कठिन हिस्सा स्कूल और होमवर्क को मैनेज करना था।”

ये एक नाजुक और संतुलनकारी काम था, जिसने युवा स्टार को अपनी पढ़ाई की गतिविधियों को बनाए रखने और सफल होने के लिए पर्याप्त ट्रेनिंग की अनुमति दी।

वो हर महीने होने वाले मैचों के शेड्यूल में व्यस्त रहते थे। इसका मतलब था कि आमतौर पर एक बच्चे के जीवन में जो गतिविधियां होती हैं, उसे उन्हें त्यागना पड़ा था। यहां तक कि उन्होंने नए साल के जश्न भी नहीं मनाए। हालांकि, लक्ष्य को पाने के दृढ़ संकल्प ने उन्हें कभी अपने रास्ते से भटकने नहीं दिया।

वो कहते हैं, “मेरा स्वभाव ही ऐसा नहीं था, जो दोस्तों के साथ बाहर जाना चाहता हो इसलिए ये मेरे लिए बहुत बड़ी बात नहीं थी।”

“मैं कभी आलसी नहीं रहा या ड्रग्स जैसी गलत संगत का शिकार नहीं हुआ। मैंने हमेशा अपने काम को बहुत गंभीरता से लिया है।”

हाईस्कूल छोड़ने से पहले सांगमनी के अनुशासन का परिणाम भी मिला, जहां उन्होंने तीन Rajadamnern Stadium मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल और एक S-1 वर्ल्ड टाइटल जीता।

उन्होंने आगे के सालों में अपने खाते में कुछ वर्ल्ड चैंपियनशिप भी शामिल कीं। इसने उन्हें The Home Of Martial Arts के बाद ONE Super Series में लॉन्च करने के काबिल बनाया।

फिलीपींस में अपनी सफल ONE की शुरुआत के बाद बेंटमवेट स्टार बैंकॉक में जापानी विरोधी के खिलाफ फेहरिस्त में एक और जीत जोड़कर अपनी गति को बढ़ाना चाहते हैं, जहां उन्होंने अपनी सफलता का भरपूर आनंद लिया है।

हालांकि, अब वो ग्लोबल स्टेज पर हैं। फिर भी वो अपने देशवासियों के समर्थन पर भरोसा कर सकेंगे क्योंकि वो एक और जीत का दावा करने की कोशिश करेंगे, जो उन्हें इस खेल के टॉप पुरस्कारों को पाने के लिए प्रेरित करेगा।

“द मिलियन डॉलर बेबी” कहते हैं, “मैं दुनिया की फेमस प्रोमोशन के लिए बाउट्स को लेकर बहुत खुश था। ये मेरे लिए बिल्कुल नया अनुभव था।”

“मैं थाइलैंड में अपने घर पर बाउट लड़ने के लिए खुश हूं। मेरे बहुत सारे प्रशंसक हैं, जो मुझे देखने आ रहे हैं। मैं हर हाल में थाईलैंड में जीत हासिल करना चाहूंगा।”

ये भी पढ़ें: अपने सपनों को पूरा करने के लिए पूजा तोमर को करने पड़े हैं कई सारे त्याग

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें