केंटा
यामादा

ऊंचाई
174 सेमी
भार सीमा
65.8 के.जी.
आयु
32
टीम
इ.इस.जी
से
जापान
ऊंचाई
174 सेमी
भार सीमा
65.8 के.जी.
आयु
32
टीम
इ.इस.जी
से
जापान

के बारे में

डब्ल्यूबीसी मुवा थाई जापान चैंपियन केंटा यामाडा ने जब पहली बार के-1 विश्व ग्रांड प्रिक्स को टेलीविजन पर देखा था तब वह महज 9 साल के थे। उसके बाद से वह इसके दीवाने हो गए। उस समय के-1 में केवल हेवीवेट मुकाबले थे, इसलिए उन्होंने 2002 में जब कम वजन मैक्स के आने तक प्रतिस्पर्धा के बारे में नहीं सोचा था।

जब वह हाईस्कूल में 16 साल के थे तो यामादा ने अपने सपनों को हकीकत में बदल दिया। उन्होंने मुक्केबाजी में प्रशिक्षण शुरू किया, लेकिन जब उनके गृहनगर में एक किकबॉक्सिंग जिम खोला गया, तो उन्होंने जल्दी से उसमें स्विच कर लिया। जितनी जल्दी हो सके प्रतिस्पर्धा करने के लिए उतावले यामादा ने जनवरी 2005 में अपने पेशेवर किकबॉक्सिंग की शुरुआत की और उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

यामाडा अब किकबॉक्सिंग, मुवा थाई और शूटबॉक्सिंग नियमों के तहत एक सम्मानजनक रिकॉर्ड के बादशाह है। डब्ल्यूबीसी मुवा थाई जापान टाइटल पर कब्जा करने के अलावा, वह क्रश किकबॉक्सिंग 70 किग्रा चैंपियन भी रहे हैं। इसके साथ ही एक टू-डिवीजन न्यू जापान किकबॉक्सिंग फेडरेशन टाइटलहोल्डर भी थे। अब वह नए क्षितिज पर विजय प्राप्त करने और ONE सुपर सीरीज में अपनी विरासत का निर्माण करने की उम्मीद कर रहे हैं और वैश्विक मंच पर अपनी पहचान बनाने को आतुर है।