विशेष कहानियाँ

एडी अल्वारेज़ ने दृढ़ संकल्प के साथ मुश्किल पड़ोसी को दी चुनौती

बेहतर या बदतर के लिए एडी “अंडरग्राउंड किंग” अल्वारेज़ अपने ही परिवेस की एक उपज है। एक अनुभवी दावेदार, जो पूर्व ONE लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियन एडुआर्ड “लैंडस्लाइड” फॉलयांग के खिलाफ ONE: डॉन ऑफ हीरो में फिर से लौट रहे हैं।

वह संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे मुश्किल पड़ोसियों में से एक में विकसित हुआ है। उत्तरी फिलाडेल्फिया के एक क्षेत्र केंसिंग्टन की अपराध दर संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रीय औसत से 83 प्रतिशत अधिक है।

Eddie Alvarez's quest for redemption begins with a legendary lightweight showdown with Eduard Folayang on 2 August!

Eddie Alvarez's quest for redemption begins with a legendary lightweight showdown with Eduard Folayang on 2 August! ????: Manila | 2 August | 7PM | ONE: DAWN OF HEROES????: Get your tickets at ???? http://bit.ly/oneheroes19????: Check local listings for global TV broadcast????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp ????‍????: Prelims LIVE on Facebook | Prelims + 2 Main-Card bouts LIVE on Twitter

Posted by ONE Championship on Thursday, 18 July 2019

अल्वारेज़ के अनुसार जब उनका परिवार पहली बार वहां गया तब उनका गृहनगर उतना बुरा नहीं था, लेकिन कुछ साल बाद इसका नाटकीय रूप से बदलाव हो गया।

अल्वारेज ने बताया कि उत्तरी फिलाडेल्फिया में पड़ोस में पलना व बढ़ना था और जब वह 7-8 साल के थे तो एक बड़ा बदलाव हो गया। वह क्षेत्र वास्तव में नशीली दवाओं से ग्रस्त हो गया। हेरोइन ने पड़ोस में अपना रास्ता बना लिया और मूल रूप से पूरे पड़ोस को सिर्फ गरीबी से त्रस्त व नशीली दवाओं से संचालित क्षेत्र में बदल दिया।

अल्वारेज़ बताते हैं कि उनके माता-पिता ने केंसिंग्टन के बाहर एक निजी स्कूल में उनका दाखिला कराकर अपने बेटे के लिए सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश की। इसका मतलब था कि वह एक बेहतर शिक्षा तक पहुंच रखते थे और बहुत परेशानी से दूर हो जाते थे, लेकिन उन्हें बाहरी व्यक्ति की तुलना में अपने आसपास के अन्य बच्चों की तुलना समृद्ध पृष्ठभूमि से होती थी।

उनके माता-पिता ने उन्हें कैथोलिक स्कूल में रखने के लिए पर्याप्त धन बचाया। अगर वह बहुत कम बच्चों के साथ स्कूल में नहीं होते तो बहुत कुछ नहीं होने से आसानी से निपटा जा सकता था।

उन्होंने बताया कि वह अपने आस-पड़ोस के पब्लिक स्कूल में थे तो उन्हें लगता था कि उन पर इसका बुरा असर नहीं होगा, लेकिन जब आपके पास बहुत कुछ नहीं है और आप ऐसे लोगों के आसपास हैं जिनके पास बहुत कुछ है और अतिरिक्त है। ऐसे में यह चीज यह एक बच्चे के रूप में आपके साथ बहुत कुछ गलत कर सकती है।

अल्वारेज़ को पता था कि वह एक ऐसी जगह पर है जो लंबे समय में उसे लाभ पहुंचाती रहेगी और वह इस अवसर का अधिकतम लाभ उठाने के लिए दृढ़ था। वह सफल होने का प्रयास करता रहा क्योंकि वह जानता था कि जीवन में पीछे छूटने से बचने का यह अच्छा तरीका था।

केंसिंग्टन के बच्चे ने कुछ लोगों के भाग्य के बारे में डरावनी कहानियों को सुना था जो उसके आसपास बड़े हो गए थे और आखिरी चीज जो वह चाहते थे कि एक और युवा जो ड्रग्स पर बर्बाद कर रहा है या अपराध के जीवन में खींच रहा है क्योंकि कोई और चारा नहीं था।

Despite suffering a heartbreaking setback in his ONE debut, Eddie Alvarez's goal remains unchanged — to become a ONE World Champion! He faces Eduard Folayang on 2 August with a spot in the ONE Lightweight World Grand Prix final on the line!

Despite suffering a heartbreaking setback in his ONE debut, Eddie Alvarez's goal remains unchanged — to become a ONE World Champion! He faces Eduard Folayang on 2 August with a spot in the ONE Lightweight World Grand Prix final on the line!????: Manila | 2 August | 5PM | ONE: DAWN OF HEROES????: Get your tickets at ???? http://bit.ly/oneheroes19????: Check local listings for global TV broadcast????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp ????‍????: Prelims LIVE on Facebook | Prelims + 2 Main-Card bouts LIVE on Twitter

Posted by ONE Championship on Friday, 19 July 2019

अल्वारेज़ बताते हैं कि वह बहुत कम उम्र में इसकी ओर चले गए थे। उन्हें समझ में आया कि वह कहाँ से है। असफलता बहुत आम थी और यह अधिक संभावना थी कि अच्छा करने के बाद भी वह विफल हो जाएं। यह उनके जीवन का एक बहुत बड़ा प्रेरक कारक था।

अल्वारेज ने बताया कि उन्हें दो बार कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी। तीसरी बार जितनी मुश्किल हर किसी को इसे बनाने के लिए या कम से कम उस पड़ोस से बाहर निकलने के लिए।

वह उसके द्वारा प्रेरित थे और वह 12 या 13 साल के भी नहीं थे। उन्हें 7 या 8 साल की उम्र में संचालित किया गया था। वह एक संचालित बच्चा थे। अल्वारेज़ ने उस दृष्टिकोण को प्रदर्शित किया जब उन्हें जीवन का पहला स्वाद उस कैथोलिक स्कूल में एक खेल टीम के सदस्य के रूप में मिला।

मार्शल आर्ट्स की खोज करने से पहले, अल्वारेज़ एथलेटिक्स में अपने स्कूल की ट्रैक टीम में शामिल हो गए। इसके बाद उन्होंने अपने पिता के मार्गदर्शन के लिए धन्यवाद दिया और तुरंत काम की नैतिकता को दिखाते हुए उसमें सफलता हासिल की।

अल्वारेज ने बताया कि वह एक ट्रैक टीम में शामिल हो गए और स्कूल तीन मील दूर था। उनके पिताजी बताते उन्हें दौड़ने के अभ्यास के लिए कहते थे कि उन्हें स्कूल जाने के लिए सवारी की आवश्यकता नहीं है। वह पिताजी की कही बात का अर्थ समझते थे।

इसलिए वह अपना बैग लेकर 8 साल की उम्र में स्कूल जाने के लिए लगभग तीन मील तक की दौड़ लगाते थे। इसके बाद वह पसीने से तर कपड़ो को बदलकर स्कूल की ड्रैस पहनकर स्कूल जाते थे। उन्होंने बताया कि वास्तव में युवा होना, बहुत ज़िम्मेदार होना, बहुत जवाबदेह होना और ऐसी चीज़ें करना जो वयस्क भी बहुत कम उम्र में करने के लिए प्रेरित नहीं होंगे।

For Eddie Alvarez, it was never about the fame and the fortune… it was about being a role model.

For Eddie Alvarez, it was never about the fame and the fortune… it was about being a role model. ????: Manila | 2 August | 7PM | ONE: DAWN OF HEROES????: Get your tickets at ???? http://bit.ly/oneheroes19????: Check local listings for global TV broadcast????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp ????‍????: Prelims LIVE on Facebook | Prelims + 2 Main-Card bouts LIVE on Twitter

Posted by ONE Championship on Wednesday, 17 July 2019

बड़े होने के साथ आगे चलकर वह कुश्ती में शामिल हो गए और फिर उन्होंने अन्य मार्शल आर्ट सीखे। यह उसके स्वभाव में था कि वह जो कुछ भी चाहता है उसके लिए लड़ाई करना उसका हिस्सा है।

अल्वारेज़ उसी पड़ोस से आया था जहाँ प्रसिद्ध बॉक्सिंग फिल्म रॉकी को फिल्माया गया था और वह उससे प्रेरित था। उसे हमेशा ऐसा लगता था कि वह उसी कहानी को जी रहा है, जो रैंकों के ऊपर उठती है। अल्वारेज कहते हैं, “नॉर्थ फिलाडेल्फिया में रॉकी को मेरे पड़ोस में फिल्माया गया था, इसलिए हमने जो किया, उससे लड़ रहे हैं।”