सोशल मीडिया

Throwback Thursday: मधुमक्खी पालने का काम करते थे दो डिविजन के ONE वर्ल्ड चैंपियन आंग ला न संग

दो डिविजन के ONE वर्ल्ड चैंपियन आंग ला न संग अब म्यांमार के एक आइकॉनिक स्पोर्ट्स फिगर बन गए हैं लेकिन कुछ साल पहले वो एक साधारण मार्शल आर्टिस्ट ही थे, जो मधुमक्खी पालने का काम करते थे।

2008 “द बर्मीस पाइथन” की जिंदगी का वो वक्त था, जब वो अमेरिका में अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर को संवार रहे थे।

म्यांमार के एथलीट ने अपनी स्किल को बढ़ाने में कई नई तकनीकें जोड़ीं। उन तकनीकों का मैचों में टेस्ट किया और अमेरिका में सफलता हासिल की।

उस दौरान उन्होंने फ्लोरिडा के फेल्डा में ईसेल हनी और बी पॉलिनेशन कंपनी के लिए एक मधुमक्खी पालने वाले के रूप में भी काम किया।

View this post on Instagram

After college in 2008, I ending up working for Eisele Honey and Bee Pollination company. I lived in a small trailer park in Felda, Florida ???????? and worked as a beekeeper ????. I got stung almost everyday but I enjoyed it. I loved working outdoors, making honey ???? and pollinating almonds in California, cranberries in Wisconsin, blue berries in Michigan and orange ???? in Florida. The nomadic life style felt very carefree. However, I felt like my life was passing before me because my passion for MMA was taking a backseat while I worked as a beekeeper. So I had to give up this ???? life to pursue my passion ????. I’m super grateful for this journey and thankful my ex-boss Steve Eisele for hiring me and also for sending me these photos this morning.

A post shared by Aung La Nsang (@aunglansang) on

हालांकि, आंग ला न संग इससे होने वाली एक स्थिर आय से खुश थे लेकिन मधुमक्खी पालक के रूप में फुल टाइम जॉब मिलने के बाद उनकी जिंदगी खानाबदोश जैसी हो गई। इस चीज ने उनका मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स की तरफ झुकाव और बढ़ा दिया।

आखिरकार “द बर्मीज़ पाइथन” ने एक निर्णय लेने का फैसला किया और मधुमक्खी पालक की नौकरी छोड़ दी। इसके बाद उन्होंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में सुपरस्टार बनने के अपने सपने का पीछा करना शुरू कर दिया।

ये एक साहसी कदम था क्योंकि उनके जैसे कई एथलीट्स इस रास्ते पर गए थे। हालांकि, खुशकिस्मती से उन्होंने जो कदम उठाया, उसने उन्हें मंजिल तक पहुंचा दिया।

आज 34 वर्षीय एथलीट ONE मिडलवेट और लाइट हेवीवेट वर्ल्ड चैंपियन हैं। साथ ही इस खेल के इतिहास में म्यांमार के पहले वर्ल्ड चैंपियन भी हैं।

ऊपर दिए गए इंस्टाग्राम पोस्ट को जिंदगी में एक रिमाइंडर की तरह रख सकते हैं कि आप हमेशा अपने जीवन की यात्रा को बदल सकते हैं। अगर आप कड़ी मेहनत करने में सक्षम हैं तो आपको अपने सपनों को पाने से कोई नहीं रोक सकता है।

ये एक #ThrowbackThursday पोस्ट हो सकता है लेकिन हम भविष्य की तरफ देख सकते हैं।

ONE Championship आंग ला न संग और उनकी पत्नी केटी को बेटी सैन सेंग ग्रेस न सांग के जन्म पर बधाई देना चाहती है।

मनीला | 31 जनवरी | ONE: FIRE & FURY | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं