नाटावट को हराने के बाद सुपरबोन पर ही टिकी हैं तवनचाई की नजरें – ‘दिमाग में उनके अलावा कोई और नहीं है’

Tawanchai PK Saenchai Jo Nattawut ONE Fight Night 15 32 scaled

शनिवार, 7 अक्टूबर को तवनचाई पीके साइन्चाई ने जीत हासिल कर किकबॉक्सिंग बेल्ट पाने की तरफ एक और कदम बढ़ा दिया है।

मौजूदा ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन ने ONE Fight Night 15: Le vs. Freymanov में शॉर्ट नोटिस पर मिली फाइट में  “स्मोकिन” जो नाटावट का सामना किया और तीन राउंड तक चले कड़े मुकाबले में उन्हें मात दी।

तवनचाई शुरुआत में सुपरबोन सिंघा माविन के खिलाफ अपनी मॉय थाई बेल्ट को डिफेंड करने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन सुपरबोन को लगी चोट की वजह से अपना नाम वापस लेना पड़ा।

नतीजतन, पटाया निवासी एथलीट को किकबॉक्सिंग में तैयारी का बहुत कम समय मिला और वो “स्मोकिन” जो जैसे मजबूत प्रतिद्वंदी को हराकर खुश हैं। उनका ये भी मानना है कि परफॉर्मेंस बेहतर हो सकती थी।

24 वर्षीय एथलीट ने onefc.com को इस बाउट के बारे में बताया:

“मुझे तालमेल बैठाकर खुद को जो नाटावट के खिलाफ बाउट के लिए तैयार था। मुझे खुद पर ज्यादा गर्व नहीं है। मैं 80 फीसदी ही खुद से संतुष्ट हूं। मुझे लगता है कि इस खेल में मेरा अनुभव कम है।”

तवनचाई की हालिया फॉर्म और अपने ONE किकबॉक्सिंग डेब्यू मैच में डेविट कीरिया के खिलाफ किए गए प्रदर्शन की वजह से फैंस का मानना था कि नाटावट के खिलाफ भी इसी तरह का नतीजा आ सकता है।

हालांकि, 34 वर्षीय धुरंधर ने अपने युवा प्रतिद्वंदी को बहुत पुश किया, हेवी शॉट्स खाए और जीत की तलाश में अटैक के बदले अटैक किया।

तवनचाई ने अपने प्रतिद्वंदी की दृढ़ता को लेकर कहा:

“वो मेरी उम्मीद से कहीं ज्यादा मजबूत थे। जब मैंने उनके शरीर को देखा तो लगा कि वो काफी समय से ट्रेनिंग कर खुद को तैयार कर रहे हैं।”

तवनचाई का ध्यान अब भी सुपरबोन पर

एक और किकबॉक्सिंग जीत के बाद तवनचाई पीके साइन्चाई ONE Championship में 2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन बनने के काफी करीब पहुंच गए हैं, लेकिन वो अभी इसको लेकर ज्यादा चिंतित नहीं हैं।

सुपरबोन सिंघा माविन के खिलाफ अपना बहुप्रतीक्षित ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल मैच रद्द हो जाने के बाद भी वो उसी मैच के बारे में सोच रहे हैं।

उन्होंने बताया:

“(सुपरबोन के साथ वर्ल्ड टाइटल फाइट) ऐसी चीज है जो मैं चाहता था क्योंकि फैंस इस मैच के लिए उत्सुक हैं।

“फिलहाल मेरी लिस्ट और दिमाग में उनके अलावा कोई और नहीं है। मैं सुपरबोन के खिलाफ अपनी फाइट चाहता हूं।”

बीते शनिवार को किए गए अच्छे प्रदर्शन की वजह से थाई स्टार को ज्यादा अनुभव होता जा रहा है और इसका मतलब है कि सुपरबोन को मुकाबले के दौरान दिक्कतें हो सकती हैं।

तवनचाई को फिलहाल इस बारे में नहीं पता कि वो अपने करियर के सबसे सर्वश्रेष्ठ दौर में पहुंचे हैं या नहीं, लेकिन वो एक एक करके अपने सामने आने वाली चुनौतियों को पार करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा:

“ये कहना बड़ा मुश्किल है (करियर के सबसे सर्वश्रेष्ठ दौर), लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए खुद में लगातार सुधार करता रहूंगा।”

किकबॉक्सिंग में और

Jaosuayai Sor Dechapan Petsukumvit Boi Bangna ONE Friday Fights 46 58 scaled
Jonathan Haggerty Fabricio Andrade ONE Fight Night 16 81 scaled
Rambolek Chor Ajalaboon Soner Sen ONE Friday Fights 51 12 scaled
Rambolek SonerSen ONEFridayFights51 1920X1280 scaled
Phetjeeja Anissa Meksen ONE Friday Fights 46 95 scaled
Superlek Kiatmoo9 Takeru Segawa ONE 165 18 scaled
Marat Grigorian Sitthichai Sitsongpeenong ONE 165 10 scaled
SuperlekKiatmoo9 WorldTitleWin ONE165 1200X800
Marat Grigorian Sitthichai Sitsongpeenong ONE 165 9 scaled
Yoshihiro Akiyama Nieky Holzken ONE 165 11 scaled
Superlek Kiatmoo9 Takeru Segawa ONE 165 2 scaled
Garry Tonon Martin Nguyen ONE 165 3 scaled