न्यूज़

डिमिट्रियस जॉनसन ने दांव-पेंच से डैनी किंगड को ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री फाइनल में किया बाहर

अक्टूबर 13, 2019

डिमिट्रियस जॉनसन “माइटी माउस” ने प्रतिष्ठित ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री जीतकर ONE Championship में अपना पहला मिशन पूरा कर लिया है। जॉनसन ने 13 अक्टूबर, रविवार को ONE: CENTURY I में टोक्यो, जापान के रयगोकू कोकुगिकन में प्रतियोगिता के फाइनल में शुरुआती घंटी से ही शानदार प्रदर्शन करते हुए डैनी किंगड “द किंग” पर सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की।

???? ONE FLYWEIGHT WORLD GRAND PRIX CHAMPION ????

???? ONE FLYWEIGHT WORLD GRAND PRIX CHAMPION ????"Mighty Mouse" Johnson claims the inaugural tournament crown with an awesome performance against a game Danny Kingad!????: Check local listings for global broadcast details????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp????: Shop Official Merchandise ???? http://bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Saturday, 12 October 2019

यह टीम लाकी के फिलिपिनो स्टार ने जॉनसन पर प्रहार करते हुए आक्रामक तरीके से शुरुआत की। जैसा कि उन्होंने पहले दावा किया था कि वह ऐसा करेंगे। लेकिन “माइटी माउस” को वापसी करने में लम्बा समय नहीं लगा। अमेरिकन ने एक टेकडाउन और गहरे किमुरा के साथ मैच को पलट दिया। इस वार से बचने में किंगड को काफी मुश्किल हुई।

पहले राउंड में “माइटी माउस” शीर्ष पर था और किंगड बचाव की स्थिति में रहा। जॉनसन ने अधिक आक्रामक तरीके से दूसरे राउंड की शुरुआत की। लेकिन एक टेडकाउन देने से पहले उन्हें “द किंग” के एक भारी बाएं हुक को झेलना पड़ा। इसके बाद उन्होंने फिलिपिनो को काबू में कर लिया।

Demetrious Johnson

अपनी अजीब एथलेटिक प्रतिभा को प्रदर्शित करते हुए 33 वर्षीय फाइटर ने जमीन पर बगुइओ सिटी निवासी पर लगातार हमला किया। एक सही हाथ के हमले से पहले उन्होंने ग्राउंड और पाउंड का भी इस्तेमाल किया। किंगड ने भी हाथ का हमला कर बचने का प्रयास किया, लेकिन जॉनसन ने संयम बरतते हुए बचाव कर लिया। वे दूसरे राउंड के अंत में घंटी बजने तक शीर्ष पर रहे।

एएमसी पेंक्रेशन और इवॉल्व एमएमए स्टार तीसरे राउंड में आक्रामक रहे। इस बार “द किंग” को किनारे की स्थिति से नियंत्रित किया गया। वहां से वह कोहनी और घुटनों के बल गिरा।

Demetrious Johnson

तीन राउंड में किंगड के अपने दम पर थे। जब ग्राउंड पर उसने अपनी पीठ से गुस्सा उतारते हुए क्षण भर में जॉनसन को नीचे ले लिया। यह मैच का पहला और एकमात्र टेकडाउन था। उनकी यह सफलता लंबे समय तक बरकरार नहीं रही। अमेरिकी ने संघर्ष करते हुए प्रमुख स्थिति में वापस आ गया।

जॉनसन को सर्वसम्मत निर्णय से विजेता घोषित किया गया। इस जीत के साथ 12 बार के फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियन ने अपने रिकॉर्ड को 30-3-1 तक पहुंचा दिया। और अब वह ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियन एड्रियानो मोरेस “मिकीन्यो” के खिलाफ प्रदर्शन के लिए तैयार हैं।