न्यूज़

एलेक्स सिल्वा ने स्टीफर रहार्डियन पर सबमिशन जीत के लिए किया बीजेजे कौशल का बेहतरीन प्रदर्शन

Aug 17, 2019

पूर्व ONE स्ट्रॉवेट विश्व चैंपियन एलेक्स “लिटिल रॉक” सिल्वा ने ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड पर खतरनाक इंडोनेशियाई स्टार स्टीफ़र “द लायन” रहार्डियन को धराशाही करते हुए बेल्ट की ओर एक बड़ा कदम बढ़ा दिया है।

सिल्वा और राहार्डियन ने शुक्रवार, 16 अगस्त को थाईलैंड के बैंकॉक में इम्पैक्ट एरिना में ONE स्ट्रॉवेट प्रतियोगिता में मुकाबला किया। इसमें दूसरे राउंड में शानदार जीत हासिल करने के लिए ब्राजीलियाई जिउ-जित्सु विश्व चैंपियन ने अपने बेहतरीन कौशल का प्रदर्शन किया।

राहार्डियन ने सिल्वा को जल्दी सबमिशन करने के साथ चौंका भी दिया। इसका कारण यह था कि उन्होंने गिलोटिन चोक के साथ अपने टेकडाउन के प्रयासों का मुकाबला करने की कोशिश की थी, लेकिन पूर्व विश्व चैंपियन ने बड़ी ही बुद्धिमानी के साथ अपने प्रयास किए।उन्होंने इंडोनेशियाई के शुरुआती खतरे को कम कर दिया और फिर अपने स्वयं के बेहतरीन दांव पेचों के साथ उन पर हावी हो गए।

जैसे ही राउंड शुरु हुआ तो सिल्वा ने अपने विश्वस्तरीय बीजेजे को रहार्डियन आजमाना शुरू कर दिया। इससे वह अपने प्रतिद्वंद्वी को मैट पर ले गए और फिर शीर्ष पर समाप्त किया। इतना ही नहीं उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी की पीठ पर तेजी से हमला किया और रियन नेक चोक करने का भी प्रयास किया।

हालाँकि, जब यह लग रहा था कि “लिटिल रॉक” हार मानने वाला है तो उसी दौरान राउंड खत्म होने की बेल बच गई।

Alex Silva defeats Stefer Rahardian by armbar submission at ONE DREAMS OF GOLD

दोनों योद्घाओं ने दूसरे राउंड में भी शानदार संघर्ष दिखाया, लेकिन दोनों जल्दी ही मैट पर चले गए। जैसा कि हमने शुरुआती दौर में देखा, ब्राजीलियन धैर्यपूर्वक और व्यवस्थित रूप से एक सबमिशन की तलाश कर रहे थे, लेकिन उन्हें इसमें सफलता राउंड के आखिर में मिली।

एक रियर-नेक चोक को लॉक करने के निरंतर प्रयास के बाद 36 वर्षीय ने एक आर्मबार के लिए सहजता से दांव पेच दिखाए और घड़ी पर 4:55 के साथ रहर्डियन को हार मानने के लिए मजबूर कर दिया।

ALex Silva defeats Stefer Rahardian by armbar submission at ONE DREAMS OF GOLD

इस जीत ने इवॉल्व प्रतिनिधि के रिकॉर्ड में 8-4 का सुधार कर दिया। जिसने दुनिया के सामने उनका शानदार ग्राउंड गेम भी ला दिया। इसके अलावा उन्होंने यह भी साबित किया कि वह अभी भी ONE स्ट्रॉवेट डिवीजन के सबसे तेज हैं।