विशेष कहानियाँ

ONE फेदरवेट विश्व खिताब का निर्विवाद इतिहास

Aug 3, 2019

शुक्रवार, 2 अगस्त को वियतनामी-ऑस्ट्रेलियाई योद्धा मार्टिन “द सीटू-एशियन” गुयेन ने फिलीपींस के मनीला में स्थित एशिया एरिना के मॉल में जापानी स्टार कोओमी “मौशिगो” मत्सुशिमा के खिलाफ तीसरी बार अपनी ONE फेदरवेट विश्व चैम्पियनशिप का बचाव किया।

ONE: डॉन ऑफ हीरोज के कार्ड पर स्थित मुख्य इवेंट में दो शानदार एथलीटों का सामना हुआ। जिसमें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मार्शल हीरो गुयेन ने जीत हासिल करते हुए अपनी काबीलियत दिखाई।

इस जीत के साथ गुयेन तीन बार फेदरवेट विश्व खिताब का बचाव करने वाले पहले एथलीट बन गए हैं। हालांकि, मत्सुशिमा ने उन्हें कड़ी टक्कर दी, लेकिन गुयेन के घातक हमलों का उनके पास कोई जवाब नहीं था।

आईए वर्ष 2013 में अपनी स्थापना के बाद से ONE फ़ेदरवेट विश्व चैम्पियनशिप बेल्ट के इतिहास पर नजर डालें।

बानारियो ने पहना था पहले ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन का ताज

honorio "the rock" banario

पहले ONE फ़ेदरवेट विश्व चैम्पियनशिप का फैसला तब हुआ था जब फरवरी 2013 मलेशिया के कुआलालंपुर में ONE: रिटर्न ऑफ वॉरियर्स पर आनोरियो “द रॉक” बनारियो ने एरिक “द नेचुरल” केली को परास्त किया था।

ऑल-फिलिपिनो घटनाक्रम चार राउंड में समाप्त हो गया था। टीम लाकी स्टैंडआउट ने केली को टीकेओ के जरिए रोक दिया था। दुर्भाग्य से बनारियो का वह राज थोड़े ही समय तक रहा। मई में दूसरे राउंड में “द रॉक” को पछाड़ने के बाद सोना कोजी ओशी के पास चला गया।

सात महीने बाद, जापानी एथलीट सोने का सफलतापूर्वक बचाव करने वाला पहला एथलीट बन गया। उन्होंने बेंगुएट के अपने प्रतिद्वंद्वी के साथ ONE: मूमेंट ऑफ ट्रूथ पर फिर से हैड टू हैड किया था। मनीला में बानारियो का हमवतन लोगों की एक भीड़ के बीच ओशी ने फिर से तीसरे राउंट में नॉकआउट कर परास्त कर दिया।

पहले मंगोलियाई ने ONE फ़ेदरवेट विश्व चैंपियन का ताज पहना

अपने विश्व खिताब के बचाव के लिए अपनी दूसरी फाइट में ओशी ने 29 अगस्त 2014 को दुबई में ONE: रेन ऑफ चैंपीयंस पर नेरंग्लॉग “तुंगा” जदम्बा से मुकाबला किया था।

बैक-एंड-एक्शन के पांच राउंड के बाद जदम्बा ने अगला ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन बनने के लिए सर्वसम्मत निर्णय की जीत का दावा किया। इसके साथ ही वह ONE फेदरवेट विश्व चैंपीयन बनने वाले पहले मंगोलियाई मिक्सड मार्शल हीरो बन गए।

अंतरिम ONE फेदरवेट विश्व खिताब के लिए एक फाइट

27 सितंबर 2015 को फेदरवेट का खिताब जीतने के एक साल बाद जदम्बा पहली बार इंडोनेशिया के जकार्ता में ONE: ओडीसी ऑफ चैंपीयंस पर अपनी बेल्ट का बचाव करने के लिए रूसी ग्रेपलर मराट “कोबरा” गैफुरोव के खिलाफ रिंग में उतरे थे।

हालांकि, जदम्बा वीजा की परेशानियों में फंस गए और उन्हें बाउट से बाहर होना पड़ा। उस दौरान अपराजित रहे गुयेन को उनके खिलाफ रिंग में उतरना पड़ा। इसके बाद दोनों ने विश्व फेदरवेट चैंपीयंस के खिलाब के लिए एक दूसरे से जमकर लोहा लिया।

अंतत: गफुरोव ने अंतरिम खिताब हासिल करने के लिए सिर्फ 41 सेकेंड में “द सीटू-एशियन” को हराकर खिताब पर कब्जा जमा लिया।

एक नई प्रतिस्पर्धा ने लिया रूप

21 नवंबर 2015 को वन फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन जदंबा और अंतरिम वर्ल्ड चैंपियन गैफ्रोव ने दो बेल्ट्स को एक बनाने के लिए ONE: डेस्टीनी ऑफ चैंपीयंस (बीजिंग) में मुकाबला किया।

गैफरोव ने चौथे दौर में निर्विवादित ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन बनने के लिए मंगोलियाई को रियर नैक चोक के जरिए पराजित कर दिया।

दो एथलीटों ने इस बाउट के चार राउंडो में तक संघर्ष किया जब तक रूसी ने रियर नैक चोक से उसे क्रैक नहीं किया। इसके साथ ही चौथे राउंड में “टुंगा” को सबमिशन के जरिए रौंदते हुए गोल्ड को एक कर लिया।

27 मई 2016 को थाइलैंड के बैंकाक में “कोबरा” ने तब पहली बार ONE: किंगडम ऑफ चैंपीयंस पर निर्विवाद रूप से ONE फ़ेदरवेट विश्व खिताब का बचाव किया था।

मुकाबला केवल साढ़े पांच मिनट तक चला। हालांकि, गाफरोव ने दो राउंड में रियर नैक चोक के जरिए अपने जापानी प्रतिद्वंद्वी को धराशाही कर दिया। जैसा कि रूसी ने अपने परिश्रम के फल का आनंद लिया, जदंबा ने कोत्त्सु बोकू और केली के खिलाफ बैक-टू-बैक जीत हासिल की।

दो जीत की वजह से जादंबा ने ONE गोल्ड में एक और शॉट कमाया और 11 नवंबर 2016 को सिंगापुर में ONE: डिफेंडिंग ऑनर ​​में अपनी ONE फिदरवेट विश्व चैम्पियनशिप के लिए गाफरोव को चुनौती दी।

गुयेन ने लिया हार का बदला, बेल्ट पर जमाया कब्जा

“द सीटू-एशियन” ने खुद को 18 अगस्त 2017 को कुआलालंपुर में ONE: क्वेस्ट फॉर ग्रेटनेस के साथ रीमेक तैयार किया। गैफ्रोव ने पहले दौर को नियंत्रित किया, लेकिन दूसरे राउंट में गुयेन ने समायोजन किया और एक शानदार ओवरहैंड के जरिए रूसी एथलीट को बाहर का रास्ता दिखा दिया।

जीत से, वियतनामी-ऑस्ट्रेलियाई ने न केवल गैफ्रोव से 2015 में मिली हार का बदला लिया, बल्कि उन्होंने वन फेदरवेट चैंपियनशिप का खिताब भी हासिल कर लिया।

फेदरवेट का सोना जीतने के तीन माह बाद गुयेन ने लाइटवेट डिवीजन को चुनौती देने के लिए एडुअर्ड “लैंडस्लाइड” फोलयांग को ONE लाइटवेट विश्व खिताब के लिए मनीला में आयोजित ONE: लिजेंड ऑफ द वर्ल्ड इन मनीला में चुनौती दे दी।

गुयेन ने दो बार के विश्व चैंपियन बनने के अपने ट्रेडमार्क ओवरहैंड राइट के साथ फॉयलांग को दो राउंड में हरा दिया।

इसके बाद वह बैंटमवेट में चले गए, जहां उन्होंने 24 मार्च 2018 को बैंकाक में अपने ONE बैंटमवेट विश्व खिताब के लिए बीबियानो “द फ्लैश” फर्नांडिस को चुनौती दी। बाउट बहुत करीबी रही, लेकिन गुयेन ने एक रेज़र-थिन स्प्लिट निर्णय खो दिया।

तीन-डिवीजन वर्ल्ड चैंपियन बनने की असफल कोशिश के बाद, वियतनामी-ऑस्ट्रेलियाई ने एक बार फिर अपनी फेदरवेट बेल्ट का बचाव करने पर ध्यान केंद्रित किया।

18 मई 2018 को गुयेन ने अपने पुराने दुश्मन ईसाई “द वॉरियर” ली के साथ सिंगापुर में आयोजित ONE: अनस्टॉपेबल में मुकाबला किया। प्रतियोगिता ने पांच राउंड से अधिक तक चली और अंत में शीर्षकधारक ने एक सबमिशन निर्णय की जीत हासिल की।

अपने वर्ल्ड टाइटल डिफेंस के बाद, गुयेन ने 27 जुलाई 2018 को मनीला के ONE: रेन ऑफ किंग्स में बैंटमवेट गोल्ड में एक और शॉट लिया।

हालांकि, वह सर्वसम्मति से निर्णय लेकर केविन बेलिंगन के पास गिर गए। इसके तुरंत बाद, उन्होंने लाइटवेल बेल्ट को छोड़ दिया और अपने प्राकृतिक वजन वर्ग में सबसे प्रमुख योद्घा बनने की कसम खाई। इसके बाद 12 अप्रैल 2019 को गुयेन ने उस वादे को पूरा कर दिया।

one featherweight world champion martin nguyen

उन्होंने फिलीपींस में आयोजित ONE: रूट्स ऑफ ऑनर में जदम्बा के खिलाफ अपनी वन फेदरवेट विश्व चैम्पियनशिप बेल्ट का बचाव किया।

“द सीटू-एशियन” ने पैर की किक के साथ जदंबा को जकड़ लिया और फिर दूसरे राउंड दो में हवा में उछलकर घुटने से किए गए शानदार हमले के साथ विरोधी को धूल चटा दी।

इस जीत के साथ उन्होंने सबसे अधिक तीन ONE फेदरवेट विश्व खिताब जीतने के लिए गैफ्रोव के रिकॉर्ड की बराबरी की तथा दो बार उसका बचाव किया।

गुयेन ने तीसरी बार किया अपने ONE फेदरवेट वर्ल्ड टाइटल का बचाव

martin nguyen one featherweight world champion

ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन मार्टिन “द सीटू-एशियन” गुयेन ने शुक्रवार 2 अगस्त को फिलीपींस के मनीला में ONE: डॉन ऑफ हीरोज पर अपनी प्रतिष्ठित बेल्ट को बनाए रखने के लिए शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने मॉल ऑफ एशिया एरिना में हुए अपने मुख्य इवेंट में जापानी चैलेंजर कोयोमी “मौशिगो” मत्सुशिमा के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन किया।

30 वर्षीय वियतनामी-ऑस्ट्रेलियाई ने अपने प्रतिद्वंद्वी के हमलों को पूरी तरह से विफल कर दिया। इसके बाद उन्होंने ONE Championship के प्रतिभा संपन्न फेदरवेट डिवीजन के शीर्ष पर रहने के लिए ताकतवर हमलों से योकोहामा निवासी को चारो खाने चित कर दिया।

डिविजन के बादशाह ने जीत के साथ अपना रिकॉर्ड 13-3 कर लिया और अब उनके पास इतिहास में सबसे अधिक वन फेदरवेट विश्व खिताब है।