विशेष कहानियाँ

संगीत से लगाव कैसे नोरा चॉम्पुनिच काे ONE Championship में ले गया

सितम्बर 21, 2019

नोरा चॉम्पुनिच को अपनी आवाज को खोलने के लिए ONE Championship का सही मंच मिला है। नारा से जाने वाले उद्घोषक सभी ONE Championship आयोजन में रॉक कॉन्सर्ट का अनुभव कराने का एक महत्वपूर्ण साधन है।

उसकी बनावटी आवाज एथलीटों को रैंप से सम्मोहक बीट्स और चमचमाती रोशनी में सर्किल तक पहुंचाती है। उसकी प्रभावी आवाज और उत्साहित व्यक्तित्व नया नहीं है। यह उन्हें जीवनभार संगीत के प्रभाव में रहने से मिला है।

अमेरिका के टेक्सास के मिसौरी शहर में जन्मी और पली-बढ़ी चॉम्पुनिच की छोटी सी उम्र में ही संगीत के प्रति गहरी रुचि थी। वह गायन कला की ओर प्रवृत्त हुई, जो कि उनके बड़ी होने के साथ रचनात्मक अभिव्यक्ति का मार्ग बन गया।

उन्होंने कहा कि “जब मैं छोटी थी तब से ही मुझे संगीत के प्रति लगाव हो गया। मैं तीसरी से बारहवीं कक्षा तक गायन मंडली में थी। मैंने अमेरिका में हाई स्कूल की पढ़ाई तक गायन किया।”

उन्होंने अमेरिकन आइडल के लिए ऑडिशन दिया और शो के टॉप 60 में अपनी जगह बनाई। आधुनिक पॉप बैंडस्टैंड पर शानदार प्रदर्शन से उत्साहित होकर 24 साल की उम्र में उन्होंने अपने माता-पिता की मातृभूमि थाईलैंड के संगीत उद्योग में कदम रखा। एक साल बाद देश की सबसे बड़ी रिकॉर्ड लेबल जीएमएम ग्रैमी ने उनके साथ पांच साल की डील की।

थाईलैंड में उसने अपनी सारी ताकत संगीत में लगाई। चॉम्पुनिच ने आठ एल्बम निकाले और एशिया के सबसे हॉटेस्ट म्यूजिक फेस्टिवल में प्रदर्शन किया। उन्होंने प्रसिद्ध डीजे बनने के साथ क्लबों में अपना “एमसी नारा” उपनाम हासिल किया।



इसने उनके लिए The Home Of Martial Arts में पहुंचने रास्ता दिखाया। 2017 में सिंगापुरी नाइट क्लब में एक कार्यक्रम के दौरान ONE Championship कार्यकारी ने दुनिया के सबसे बड़ी मार्शल आर्ट संगठन में उद्घोषणा के लिए चॉम्पुनिच से संपर्क किया था।

वो याद करते हुए कहती हैं कि “एक रात को एक क्लब में मैं एक मास्टर ऑफ सेनीमोनी के रूप में काम कर रही थी। इसी दौरान कोई मेरे पास आया और मुझसे पूछा क्या आप ONE Championship की आवाज बनना चाहेंगी? इस आमंत्रण से पहले मैं कई ONE Championship आयोजन में गई थी। इसलिए मुझे पता था कि यह मेरे लिए एक शानदार मौका था। वास्तव में यह मुझे पसंद था।”

चॉम्पुनिच ने मास्टर ऑफ सेरीमोनीज के रूप में हर चीज में सही नोट्स का इस्तेमाल करने का प्रयास किया। नई भूमिका में ऑडिशन के लिए उन्होंने अपने वोकल्स की स्टूडियो में रिकॉर्डिंग तैयार की। इस प्रयास ने कंपनी की लीडरशिप टीम को इतना प्रभावित किया कि उन्होंने कुछ ही समय बाद उन्हें यह पद ऑफर कर दिया।

चॉम्पुनिच हर ONE Championship शो के लिए अलग लहजा तय किया है। हालांकि यह बदलाव चुनौतीपूर्ण होगा। इस नए मिश्रण को पूरी तरह से उनके पहले लाइव इवेंट तक बाहर नहीं आने दिया गया।

उन्होंने बताया कि “वो इसे लाइव और स्टूडियो में कर रही है। दोनों में अंतर है। जब आप वास्तविक कार्यक्रम में होते हैं तो लोगों को महसूस कर सकते हैं। भीड़ की प्रतिक्रिया के आधार पर आपको आवाज तेज और कम करनी है। यह पूरी तरह से अलग खेल है।”

वो अपनी नई भूमिका में पूरी तरह से रच-बस गईं हैं। ऊर्जावान एमसी को “The Voice Of ONE Championship” के रूप में जाना जाता है। हालांकि कुछ लोग उनकी आवाज और चेहरे के हाव-भाव मेल नहीं खाने के कारण उन्हें पसंद नहीं करते लेकिन चॉम्पुनिच को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

40 वर्षीय आगे बताती हैं कि “मेरे लिए संगीत और ध्वनि सब कुछ है। मैं प्रसिद्धि से प्रेरित नहीं हूं। मुझे एकांत पसंद है और अपने काम का आनंद लेती हूं।” चॉम्पुनिच के एमसी के रूप में कार्य के दौरान संगीत की छाप साफ छलकती है। रिंग के इंट्रोडक्शन में वो बिना रुके हिप-हॉप का तड़का लगाती हैं। यही एक नई स्टाइल उन्हें दूसरे उद्घोषकाें से अलग करती है।

एक अलग आवाज और रिंग मास्टर मिलकर हर मुकाबले को पूरी तरह से तैयार करते हैं। प्रशंसकाें के लिए एक शानदार शो पेश करने के लिए सही समय, पिच और टोन समान रूप से महत्वपूर्ण हैं। वह बताती हैं कि ” मैं एक नोटबुक में प्रत्येक फाइटर का नाम, उनके प्रवेश का संगीत और उनके उच्चारण का तरीका लिखती हूं। मैं संगीत शुरू होने से पढ़ती हूं। फिर मैं फाइटर का देश, उसका नाम और सब कुछ लिखती हूं। जब शो शुरू होता है तो मैं अपनी लिखी हुई स्क्रिप्ट को पढ़ती हूं।”

प्रशंसक चॉम्पुनिच को 13 अक्टूबर रविवार को एक बार फिर से अपने दिलचस्प अंदाज में परिचय देते हुए सुन सकते हैं। वह जापान के टोक्यो में ONE: CENTURY के प्रचार के ऐतिहासिक 100वें आयोजन में माइक के साथ रॉक करेंगी। इसको लेकर वो उत्साहित होने के साथ थोड़ा नर्वस भी हैं।

वो डबल-हेडर की तैयारी की चुनौती को हल्के में नहीं ले रहीं। वह कहती हैं कि “इस बार टोक्यो में एक दिन में दो कार्यक्रम हैं। यह निश्चित रूप से मज़ेदार है।”

टोक्यो | 13 अक्टूबर | ONE: CENTURY | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय सूची का अवलोकन करें | टिकट: https://onechampionship.zaiko.io/e/onecentury

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट का प्रदर्शर करेंग। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप के आयोजनों को बढ़ावा नहीं दिया।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रयोगोकु कोकुगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रांड प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच के साथ-साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन तलाश करेगा।