विशेष कहानियाँ

कैसे मार्शल आर्ट्स ने जोनाथन हेगर्टि को जीवन में सही राह दिखाई

जोनाथन “द जनरल” हेगर्टि के इस दृष्टिकोण उसे ना केवल मार्शल आर्ट की दुनिया में सबसे ऊपर पहुंचाया बल्कि जीवन सही राह भी दिखाई।

वन फ्लाईवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन- जिसमें वह रॉटांग “द आयरन मैन” जीटम्यूगनॉन के खिलाफ पहली बार ONE: डॉन ऑफ हीरोज
में अपनी बेल्ट का बचाव करने उतरेगा।

जोनाथन लंदन के घाट रोड इलाके में बढ़े हुए। उन्होंने उस हर चीज के लिए विश्लेषणात्मक दृष्टिकोण का इस्तेमाल किया जो जेल में बंद उनके दोस्तों के साथ देखी थी।

British prodigy Jonathan Haggerty was destined for greatness in the sport. He defends his ONE Flyweight Muay Thai World Title against Rodtang in a battle for the ages!

British prodigy Jonathan Haggerty was destined for greatness in the sport. He defends his ONE Flyweight Muay Thai World Title against Rodtang in a battle for the ages!????: Manila | 2 August | 7PM | ONE: DAWN OF HEROES????: Get your tickets at ???? http://bit.ly/oneheroes19????: Check local listings for global TV broadcast????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp ????‍????: Prelims LIVE on Facebook | Prelims + 2 Main-Card bouts LIVE on Twitter

Posted by ONE Championship on Tuesday, July 16, 2019

उन्होंने बताया कि यह मेरे क्षेत्र में किसी न किसी तरह का था। या तो आप खराब मार्ग पर चले गए या अच्छे मार्ग। मैंने हमेशा यह देखा कि लोगों ने जो भी किया गलत किया। मैं अपने परिणामों को देखता हूं और अपने बारे में सोचता हूं।

मैं यह नहीं देखता कि लोग जीवन से कैसे गुज़रे। उन्होंने संघर्ष किया क्योंकि उन्होंने बुरा मार्ग चुना था। मैंने सोचा कि शायद अगर मैं सही मार्ग पर जाता हूं मैं बड़ा बन सकता हूं।

जोनाथन बचपन लंदन में अन्य की तरह था। पढ़ाई के दौरान स्कूल में उनके दोस्त भी थे। उनका खाली समय फुटबॉल खेलने में बीता। हालांकि उन्होंने अपने दोस्तों को भी अपराधों की तरफ मुड़ते देखा था।

पैसे और प्रतिष्ठा के लोभ में कई युवा एक अंधेरे रास्ते की तरफ खिंचते चले गए।लेकिन “जनरल” ने कभी भी ऐसा नहीं किया। उसने कुछ लोगों के भविष्य में गिरफ्तारी और जेल का समय देखा। वह अपने और दोस्तों के लिए ऐसा नहीं चाहता था।

The razor-sharp elbows of ONE Flyweight Muay Thai World Champion Jonathan Haggerty collide with red-hot Rodtang on 2 August!

The razor-sharp elbows of ONE Flyweight Muay Thai World Champion Jonathan Haggerty collide with red-hot Rodtang on 2 August! ????: Manila | 2 August | 7PM | ONE: DAWN OF HEROES????: Get your tickets at ???? http://bit.ly/oneheroes19????: Check local listings for global TV broadcast????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp ????‍????: Prelims LIVE on Facebook | Prelims + 2 Main-Card bouts LIVE on Twitter

Posted by ONE Championship on Wednesday, July 10, 2019

उन्होंने बताया कि “मैं कुछ लोगों को जानता हूं जिन्होंने गलत विकल्प चुना और अब वे जेल में हैं। मैंने उन्हें अच्छे मार्ग लाने का प्रयास किया, लेकिन आप उन्हें मजबूर नहीं कर सकते । मैं अभी भी उनसे बात करता हूं, लेकिन उम्मीद है कि वे सही रास्ते पर जाएंगे।

हैगर्टी ने 8 साल की उम्र में अपने पिता के पदचिन्हों पर चलते हुए मार्शल आर्ट के क्षेत्र में कदम रखा। इस पर ध्यान केंद्रित करने के लिए उन्हें एक सही दिशा में चलना होगा। उन्होंने 12 साल की उम्र में मय थाई में प्रतिस्पर्धा करना शुरू कर दिया था।

इसके बजाय, 22 वर्षीय में मार्शल आर्ट की महिमा किसी भी “स्ट्रीट क्रेड”से अधिक है। इसलिए जब वह विचलित हुआ तो उसने पुरस्कार पर अपनी निगाहें नहीं गढ़ाई।

उन्होंने बताया कि मॉय थाई ने मुझे व्यस्त रखा। अगर मैं व्यस्त नहीं होता, तो मेरा दिमाग कहीं और होता। कौन जानता कि मैं जिम, मेरे पिता, और मेरे परिवार के बिना कहां खत्म हो जाता।

“जनरल” ने नकारात्मक प्रभावों के बारे में स्पष्ट रूप अपने चक्र को छोटा रखना सीख लिया। अपने करियर पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अल्पकालिक लाभ को छोड़कर दिमाग लगाया। यह बताता है कि हेगर्टि अपनी किशोरावस्था में एक मय थाई विश्व चैंपियन क्यों है? क्यों वह अब अपने शुरुआती 20 के दशक में दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन में शीर्ष पर है।

अब वह यह सुनिश्चित करने के लिए भी समय लगा रहा है कि लंदन में अगली पीढ़ी को परेशानी से बाहर रखने के लिए कुछ हो। स्वयं के प्रतिस्पर्धी करियर के साथ वह अपने परिवार के जिम में युवाओं को कोचिंग देने में समय बिताते हैं।

हैगर्टी सोचता कि वह उनका जीवन कैसे बदल सकता है। अपनी स्थिति के साथ वह दूसरों को एक उसी राह पर चलने के लिए प्रेरित कर सकता है।

उन्होंने कहा कि यह कठिन था, लेकिन जहां मेरे पिताजी ने कदम रखा और उनके मार्गदर्शन से मैं सही रास्ते पर चला गया। जिसका मैं आज भी शुक्रगुजार हूं। मैं जेल वाली स्थिति नहीं रहना चाहता था। बल्कि उसमें रहना चाहता हूं जिसमें अब हूं।