समाचार

युसुप सादुल्लाव मानते हैं कि उन्हें विश्व खिताब की चुनौती के लिए एक और जीत चाहिए

अगस्त 23, 2019

यह सोचना गलत होगा कि सिर्फ इसलिए युसुप “मेस्त्रो” सादुल्लाव को ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड में एक देर से प्रतिस्थापन का सामना करना पड़ा। वह एक रात को आसान बनाने के लिए तैयार था।

पिछले शुक्रवार 16 अगस्त को बैंकॉक, थाइलैंड में हुए आयोजन से कुछ दिन पहले रूसी मूल के प्रतिद्वंद्वी- शुया “स्टेल्थ” कामिकुबो को “ओटोगी” डाई हवन किम द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था।

दक्षिण कोरियाई फाइटर पूर्व ONE बैंटमवेट वर्ल्ड खिताब चैलेंजर है और कामिकुबो के दांव-पेंच की भारी पहुंच के बजाय स्ट्राइक का पक्षधर है। इसलिए सादुल्लाव को एक नई चुनौती का सामना करने के लिए जल्दी से तैयार होना पड़ा।

हालांकि अनुभवी पहलवान ने सर्वसम्मत निर्णय से जीतने के लिए स्थिति को स्वीकार करते हुए अपना अच्छा प्रदर्शन दिखाया और बेल्ट के शॉट के करीब पहुंचने के लिए एक कदम आगे बढ़ते हुए द होम ऑफ मार्शल आर्ट के बैंटमवेट वर्ग में अपनी चौथी जीत दर्ज की।

अब जबकि उसे इम्पैक्ट एरिना में अपनी 15 मिनट की लड़ाई से उबरने का मौका मिला है। 34 वर्षीय खुलासा करता है कि एक अव्यवस्थित आयोजन सप्ताह के दौरान क्या हुआ था? और उसने जीत के लिए अपना हाथ उठाने लिए कैसे खुद को समायोजित किया।

ONE चैंपियनशिप: आपको प्रतिद्वंद्वी के बदलाव के बारे में कब पता चला और इसने आपको कैसे प्रभावित किया?

युसुप सादुल्लाव: इसने मेरे वजन को प्रभावित किया। मुझे आधिकारिक वेट-इन से एक रात पहले ही पता चला कि मेरे प्रतिद्वंद्वी की आंखों में संक्रमण है और इसलिए वह नहीं लड़ेंगे।

मुझे विश्वास नहीं था कि ONE इतनी अल्पावधि में अच्छी फार्म और वजन वाले को ढूंढने में सक्षम होगा। इसलिए मैंने उस दिन थोड़ा आराम किया और थोड़ा खाना भी खाया। तब मुझे वजन कम करने में थोड़ी परेशानी हुई।

ONE: क्या आपको एक ऐसे प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ एक आसान रात की उम्मीद थी, जिसके पास तैयारी करने का अधिक मौका नहीं था?

युसुप: ओह नहीं, मैं निश्चित नहीं था! कोई भी मिक्सड मार्शल आर्ट विशेषज्ञ जो ONE का अनुसरण नहीं करता। वह मुझसे जल्दी जीतने की उम्मीद करता है – किम वास्तव में शीर्ष लोगों में से एक है। मुझे लगता है कि कामिकुबो की शैली मेरे अनुकूल थी। मुझे खुशी है कि यह हुआ और मुझे अपने स्ट्राइकिंग कौशल का प्रदर्शन करने का मौका मिला।

ONE: क्या आपने किम के स्टैंड-अप कौशल के लिए अपने गेम प्लान में कोई बदलाव किया है?

युसुप: हां, मैंने कुछ बदलावों के बारे में सोचा और मानसिक रूप से आवश्यक समायोजन किया, लेकिन विडंबना यह है कि जब हम लड़े, मैंने कामिकुबो के परिदृश्य का उपयोग किया।

कामिकुबो के साथ मेरी मूल योजना थी कि खड़े होकर उसे घूंसे मारकर दूरी पर रखने की कोशिश की जाए। उसके पास एक अद्भुत ग्राउंड गेम है। पहलवान के साथ कुश्ती करने के लिए बहुत अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है।

मैंने सोचा था कि मैं किम के साथ उल्टा करूंगा- मैं उसे मुक्के मारने के लिए नजदीक नहीं आने दे सकता था। इसलिए मेरी योजना उसे नीचे गिराकर फर्श पर लड़ने की कोशिश करने की थी लेकिन किसी तरह मैंने अभी भी योजना “ए” का पालन किया।

ONE: क्या आपको अपनी टीम के साथ अपनी नई रणनीति बनाने के लिए बहुत समय मिला?

युसुप: मुझे उसका जायजा लेने के लिए समय की आवश्यकता नहीं थी क्योंकि वह उसी कार्ड पर मुझसे दो या तीन बार लड़ चुका था। मैं उसे कुछ समय से देख रहा था। इसलिए मुझे एक आसान जीत मिलने की उम्मीद नहीं थी। मुझे पता था कि वह एक उच्च स्तरीय ताइक्वांडो और मय थाई कलाकार है जो ब्राजील के जिउ-जित्सु में एक ब्राउन बेल्टधारी है।

कई बार के विश्व चैम्पियन लिएंड्रो इसा सहित कई शीर्ष पहलवानों ने उन्हें हराने की कोशिश की लेकिन असफल रहे। उसके पास अद्भुत बचाव क्षमता है। वह जानता है कि कब धमाका करना है। वह बहुत जल्दी खड़ा हो सकता है।

ONE: क्या आप उसके किसी घूंसे से आहत थे?

युसुप: मैं उससे मजबूत घूंसे पड़ने की उम्मीद की थी। मुझे पता था कि वह एक बेहतरीन स्ट्राइकर है। उसके घूंसे भारी हैं और इसी तरह से उसकी किक हैं। एक बार मेरे ऊपरी शरीर पर घूंसा पड़ा तो मैंने अपनी सांस खो दी थी। मैंने अपने सिर के ऊपर दो बार उसकी कोहनी को भी पकड़ा जिससे दो बड़ी गांठ भी बन गई। उसने मेरी एक आंख भी काली कर दी लेकिन ईमानदार से कहूं तो यह इतना बड़ा नहीं था। मैं उसके किसी भी घूंसे से गंभीर रूप से चोटिल नहीं था।

Russian martial artist Yusup Saadulaev hugs South Korean athlete Dae Hwan Kim

ONE: आप दो दौर में थके हुए लग रहे थे लेकिन फिर आपमें दोबारा दम भरने लगा – क्या हुआ?

युसुप: यह लड़ाई कठिन थी। दो राउंड में मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं हार रहा हूं क्योंकि पहले राउंड में मेरे हाथ कुश्ती से बहुत भारी हो गई थे। मैंने उसे सबमिशन देने के लिए दबाव डालना बंद करने का फैसला किया। क्योंकि वह मेरे हमलों और सेट-अप से बचता रहा। मैं थका हुआ था इसलिए मैंने लड़ाई को स्टैंड-अप में स्थानांतरित करने का फैसला किया और तीसरे राउंड में खुद को मजबूत महसूस किया।

ONE: वर्ल्ड टाइटल शॉट के लिए आपकी तलाश पर आपके लिए इस जीत के क्या मायने हैं?

युसुप: मुझे नहीं लगता कि इसने मुझे वर्ल्ड टाइटल शॉट के करीब पहुंचा दिया है। पिछले दिनों किम को कामिकुबो ने हराया था लेकिन यह एक अच्छी लड़ाई थी। किम पहले ही एक विश्व खिताब के लिए लड़ चुके हैं- वह (बीबियानो) फर्नांडीस से हार गए लेकिन उन्होंने केविन बेलिंगन को हराया।

हालांकि मेरा मानना ​​है कि भविष्य में कामिकुबो को हराकर मुझे वर्ल्ड टाइटल शॉट मिलेगा और उम्मीद है कि यह इस साल के अंत तक हो सकता है। मैंने फुकेत में रहने, खाने, और धूप सेंकने के लिए एक सप्ताह की छुट्टी ली है। फिर मैं मॉस्को और मखचकाला जाऊंगा- वापस कोचिंग के लिए।

मैं कामिकुबो के साथ अपनी लड़ाई के लिए जोर दे रहा हूं- मैं चाहूंगा कि यह इस साल के अंत से पहले हो। इसलिए मैं शरद ऋतु में इसके लिए प्रशिक्षण शुरू कर सकता हूं।