समाचार

मोंगकोलपेच ने सर्वसम्मत निर्णय से जोसेफ लसीरी को चटाई धूल

सितम्बर 7, 2019

मोंगकोलपेच पेचैंडी अकादमी और जोसेफ “द हरिकेन” लसीरी ONE: इम्मोर्टल ट्राइंफ पर हुई एक शानदार बाउट में लगातार आगे-पीछे हुए, लेकिन अंत में थाई स्टार ने तीन राउंड के बाद बढ़त हासिल कर ली।

यह ONE सुपर सीरीज फ्लायवेट मुवा थाई मैच-अप शुक्रवार को पूरी प्रतियोगिता का सबसे कांटे का मुकाबला हुआ था, लेकिन बैंकाक के 24 वर्षीय फाइटर ने अपने उत्कृष्ट किकिंग कौशल के कारण बढ़त हासिल कर ली।

Mongkolpetch claims a majority decision win over Joseph Lasiri to get Team Thailand ???????? its first win of the night!

Mongkolpetch claims a majority decision win over Joseph Lasiri to get Team Thailand ???????? its first win of the night!????: Check local listings for global broadcast details????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp????: Shop Official Merchandise ???? http://bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Friday, 6 September 2019

लसीरी ने अपने एजेंडे को वियतनाम की हो ची मिन्ह सिटी में पहले राउंड की घंटी बजने के साथ ही प्रदर्शित करना शुरू कर दिया था। उन्होंने ल्यूम्पिनी स्टेडियम मुवा थाई विश्व चैंपियन पर लगातार पंचों से हमला किया।

हालांकि, मोंगकोलपेच भी इस दबाव के आगे झुके नहीं और अपने किक्स का बेहतरीन इस्तेमाल किया। इसमें उनके द्वारा अपने विरोधी के चेहरे पर किया गया एक शानदार हमला भी शामिल था।

पेचैंडी अकादमी के प्रतिनिधि के पहले राउंड में सबसे प्रभावी स्ट्राइक लीड जांघ पर मारे गए घातक किक थे। इस दौरान दोनों फाइटरों ने अपनी-अपनी कोहनियों से भी एक-दूसरे पर शानदार हमले किए, लेकिन फु थो इंडोर स्टेडियम के अंदर मुख्य लड़ाई “द हरिकेन” के वर्क-रेट और थाई के लेग स्ट्राइक के बीच थी।

Mongkolpetch Petchyindee Academy kicks Joseph Lasiri at ONE IMMORTAL TRIUMPH

लसीरी ने दाएं हाथ बड़े हमले करते हुए दूसरे राउंड की शुरुआत की और अपने ऊपर आए दबाव को कम करने का प्रयास किया। मोंगकोलपेच ने भी जवाब में अपने पंचों की बारिश की और विरोधी को पैरों को अपनी पिंडली में दबा लिया।

हालांकि, “द हरिकेन” पर इसका कुछ खास प्रभाव नहीं पड़ा। वह अपने प्रतिद्वंद्वी को हमलों से बचते हुए आगे बढ़ने का प्रयास करते रहे। इस दौरान उन्होंने कई मौकों पर क्लिनिक विशेषज्ञ को कैनवास पर गिरा भी दिया।

डब्ल्यूबीसी मुवा थाई सुपर बैंटमवेट विश्व चैंपियन आत्मविश्वास से लबरेज थे और जब वह अंतिम राउंड के लिए रिंग के बीच पहुंचे तो उन्होंने अपने ताकतवर पंचों का इस्तेमाल शुरू कर दिया। इसमें उनको सफलता भी मिली, लेकिन मोंगकोलपेच ने अच्छी तरह से मुकाबला किया।

Mongkolpetch Petchyindee Academy gets the decision against Joseph Lasiri at ONE IMMORTAL TRIUMPH

थाई दिग्गज ने अपने विरोधी के हमलों का जवाब किक से दिया और उसे गिराने के लिए कुछ चालाकी भरे दाव-पेच दिखाए। तीन राउंड की कांटे की टक्कर के बाद रैफरियों से निर्णय मांगा गया। इस पर उन्होंने थाईलैंड के फाइटर के पक्ष में फैसला दे दिया।

इसके साथ ही मोंगकोलपेच ने The Home Of Martial Arts में अपनी दूसरी जीत हासिल की और अपना रिकॉर्ड 112-40 पर पहुंचा दिया।