समाचार

बोझेना एंटोनियार नैरोली ने 15-मिनट की रोमांचक फाइट के बाद बी गुयेन को हराया

जुलाई 26, 2019

बोझेना “टोटो” एंटोनियार को तीन मुश्किल राउंडों में बी “किलर बी” गुयेन ने पूरी तहर से पस्त कर दिया था, लेकिन उन्होंने स्पीलिट निर्णय पाने लायक ही कार्य किया।

मलेशिया के कुआलालंपुर में शुक्रवार, 12 जुलाई को ONE: मास्टर्स ऑफ डेस्टीनी में म्यांमार की योद्घा ने एक रोमांचक फाइट के बाद ONE Championship के महिला एटमवेट में अपनी तीसरी जीत हासिल की।

बोझेना एंटोनियार ने एक्सिटा एरिना में बेल की आवाज के साथ ही आक्रामक अंदाज में फाइट शुरू की, लेकिन उनकी प्रतिद्वंद्वी को पहले मिनट में ही अपने घातक पंचों के जरिए उन्हें हराने की जल्दी थी। इस पर गुयेन ने एक बेहतरीन काउंटर हमला किया, लेकिन “टोटो” फिर से खड़ी हो गई।

“किलर बी” अपने बाएं हाथ से यांगून मूल के पंचों के दम पर सफलता हासिल करना जारी रखा। जैसे-जैसे राउंड आगे बढ़ा, बोझेना एंटोनियार ने अपनी मुक्केबाजी दिखाने के लिए रिंग के चारों ओर घूमने लगी, लेकिन वियतनामी-अमेरिकी ने दूर जाकर किक से जवाब दिया।

जैसे ही दूसरा राउंड शुरू हुआ तो “टोटो” ने अपने पंचों को थोड़ा ऊपर की ओर कर दिया और अपने अन्य हमलों के लिए जगह बनाई। हालाँकि उसे अभी भी अपने प्रतिद्वंद्वी के हमलो से सावधान रहना था।

ऐसा कहीं दिन दिख रहा था कि कोई भी प्रतियोगी एक टेकडाउन या क्लिनिकल के लिए आगे बढ़ रहा है। किकबॉक्सिंग की लड़ाई शुरू हो गई और बाली एमएमए-प्रशिक्षित स्टार ने गुयेन को अपने अंदर के लेग किक के साथ धकेल दिया। हालांकि वह अपने पंचों के संयोजन के साथ ज्यादा खतरनाक दिख रही थी।

अंतिम चरण के शुरू होने के बाद भी यह किसी भी एक का मैच नहीं लग रहा था और और टाइगर मॉय थाई के “किलर बी” ने उस दौर में एक बड़ा झटका दिया जब उसने अपने प्रतिद्वंद्वी के सिर को पीछे की ओर से धकेलते हुए मजबूत काउंटर अटैक कर दिया।

हालांकि, बोझेना एंटोनियार ने उन कौशल का प्रदर्शन जारी रखा जिसने उन्हें दो बार म्यांमार की राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियन बनाया था। उसने अक्रामण को बढ़ाते हुए अपने अन्य दांव पेचो का अच्छा उपयोग किया। इससे उन्होंने एक अच्छा आउटपुट बनाए रखा।

उनके हमलों के बाद भी 24 वर्षीय यांगून निवासी किसी भी समय फाइट से बाहर नहीं दिखी। गुयेन ने इसे एक आगे-पीछे की लड़ाई बना दिया और उसने बाएं हाथ के ताकतवर हुक के साथ एक बार फिर पंचों की झड़ी लगा दी।

न्यायाधीशों ने उन्हें तब अलग किया जब उन्हें 15 मिनट के बाद निर्णय लेने के लिए बाध्य होना पड़ा। उनमें से एक ने “किलर बी” का समर्थन किया, लेकिन दो ने बोझेना एंटोनियार का साथ दिया। इससे बोझेना को रोमांचक मैच में जीत नसीब हो गई। यह म्यांमार नायक की लगातार दूसरी जीत थी, जिसने उसके रिकॉर्ड को 3-1 कर दिया।