न्यूज़

बोझेना एंटोनियर ने बताया कि उन्होंने कैसे बीआई गुयेन के खिलाफ बढ़त हासिल की

जुलाई 27, 2019

बोझेना “टोटो” एंटोनियर को शुक्रवार, 12 जुलाई को पहली बार एक मिक्स्ड मार्शल हीरो के रूप में लम्बी फाइट करनी पड़ी और इसने उन्हें अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए मजबूर किया।

म्यांमार की नायक को और अधिक शानदार जीत मिली सकती थी, लेकिन ONE: मास्टर्स ऑफ डेस्टीनी में वह अभी तक अपने सबसे कठिन प्रतिद्वंद्वी के साथ कांटे के मुकाबले की ओर बढ़ गई तथा जीत के लिए अपने गेम प्लान को अंजाम दिया।

वह दो बार की राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियन बी “किलर बी” गुयेन के साथ अपने मैच से पहले आत्मविश्वास से भरी हुई महसूस कर रही थी, लेकिन वह जानती थी कि जब वह खेल में अधिक अनुभव वाली महिला के साथ भिड़ेगी तो उसे सावधान रहना ही होगा।

बोझेना एंटोनियर की पहली चेतावनी शुरुआती मिनट में ही उस समय मिल गई थी जब विरोधी ने अपने बाएं हाथ से उनकी पीठ पर एक मजबूत काउंटर हमला किया।

हालांकि, वह एक पल में अपने पैरों पर खड़ी हो गई और फिर वियतनामी-अमेरिकी को पछाड़ने की रणनीति को लागू करने की ओर बढ़ने लगी। इससे उनका काम आसान हो गया क्योंकि गुयेन, जिसने अपना पहला ONE Championship मैच ग्राउंड और पाउंड के साथ समाप्त किया था, ने खुद की हड़बड़ी का उपयोग करने की कोई चेतावनी नहीं दी।

टोटो ने बताया कि “मुझे लगता है कि उसने मुझसे फाइट करने के लिए कड़ी मेहनत की, लेकिन मुझे उसके किक्स को ध्यान में रखना था, क्योंकि वह मॉय थाई में पारंगत थी।

“मुझे उससे मुकाबला करना मुश्किल नहीं था, लेकिन वह एक पॉवरहाउस एथलीट है। इसलिए मुझे हर समय उसकी शक्ति से सावधान रहना पड़ रहा था।”

अपने प्रतिद्वंद्वी के “आर्ट ऑफ एट लिम्ब्स” में प्रशिक्षण के इतिहास के बावजूद बोझेना एंटोनियर अपने प्रतिद्वंद्वी के साथ किक की फाइट में खुश थी। बावजूद इसके कि उनके पहले दौर के प्रयासों के बाद नॉकडाउन आ गया था।

24 वर्षीय को सबसे बड़ी सफलता तब मिली जब उसने अपने हाथ छोड़ दिए। पहले दौर के अंत तक गुयेन के चेहरे को पहले से ही दमदाद पंचों के जरिए जख्मी कर दिया गया था और दूसरे राउंड में “टोटो” को उसे अपने दक्षिणपूर्वी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ सीधे हमले करने का मौका मिल गया।

जैसे ही फाइट चालू हुई तो बाली एमएमए प्रशिक्षित एथलीट ने अपने शक्तिशाली आक्रमण का केन्द्र सिर और शरीर को कर लिया। हालांकि उसने 15 मिनट के प्रतिस्पर्धात्मक दौर में “किलर बी” से लोहा लेना जारी रखा। तीन में से दो जजों ने सर्वसम्मति से उसके पक्ष में निर्णय दिया और इससे उन्हें जीत मिल गई।

“बोझेना का मुख्य ध्यान मुक्केबाजी में उसके साथ प्रतिस्पर्धा करना था। वह एक बॉक्सर है और स्कोरिंग प्रणाली को अच्छी तरह से जानती है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी ताकत अधिक खत्म नहीं होने दी, लेकिन मैं पूरे मुकाबले में स्कोर करने की कोशिश कर रही था। जब रैफरी ने विभाजन का निर्णय दिया तो मुझे बहुत खुशी हुई।”

“टोटो” को उस समय सबसे अधिक खुशी हुई जब रैफरी ने उनकी जीत के लिए उनका हाथ उठा दिया। यह जीत The Home Of Martial Arts में उनकी तीसरी जीत है।

जब उनकी टीम ने उनके कंधों पर अपने राष्ट्र का झंडा फहराया तो खुशी में उनकी आखों से आंसू छलक पड़े। उन्होंने बताया कि वह बहुत खुश है। वह अपने देश, अपने प्रशंसकों, अपने नागरिकों और अपने परिवार के लिए यह परिणाम लेकर आई है।

उन्होंने कहा कि “मैं वास्तव में अपने प्रशंसकों के लिए बहुत खुश हूं। मैंने उनके लिए पूरी कोशिश की। वे मेरी इतनी चिंता करते हैं और वे मेरे लिए प्रार्थना भी कर रहे थे। एक मैच में कई चीजें हो सकती हैं। मैं हार भी सकती थी, लेकिन मैने अपने देश के सम्मान के लिए पूरी कोशिश की।”

दुनिया के सबसे बड़ी मार्शल आर्ट संगठन की सबसे होनहार नई महिलाओं की एटमवेट के खिलाफ एक जीत बोझेना एंटोनियर की ताज में एक चमकदार हीरा है। जो भविष्य में अधिक हाई-प्रोफाइल असाइनमेंट के दरवाजे खोलता है।

अपनी पीछे की पॉकेट में लगातार दो जीत के साथ वह अपने अगले मैच के लिए प्रतियोगिता में एक और कदम बढ़ा सकती है और यांगून मूल निवासी का कहना है कि वह सर्किल में जो भी उनके खिलाफ होगा, उसके लिए तैयार है।