समाचार

बंगप्लिनोई ने खुलासा किया कि लियाम नोलन के खिलाफ उन्हें कैसे जीत का रास्ता मिला

अगस्त 22, 2019

बंगप्लिनोई पेटीचिंडी एकेडमी को पता था कि लियाम नोलन के खिलाफ आसानी से जीत नहीं मिलेगी लेकिन ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड में उसके प्रदर्शन ने साबित कर दिया कि वह विश्व चैंपियन क्यों है।

पिछले शुक्रवार 16 अगस्त को 25 वर्षीय को बैंकाक, थाईलैंड में स्थानीय दर्शकों के सामने विपरीत परिस्थितियों से उबरते हुए ONE सुपर सीरीज मुकाबले के तीन कठिन दौर के बाद अपने अंग्रेजी प्रतिद्वंद्वी को हराया।

यह लड़ाई 72 किलोग्राम के कैच वेट पर लड़ी गई थी जो कि दो-डिवीजन डब्ल्यूएमसी मय थाई वर्ल्ड चैंपियन के लिए इस्तेमाल की जाने वाली फेदरवेट सीमा से थोड़ी अधिक है। मैच-अप को स्वीकार करने में उन्हें कोई हिचक नहीं थी लेकिन बंगप्लिनोई स्वीकार करते हैं कि उन्हें सर्किल में अंग्रेज फाइटर से मुकाबला करने से पहले चिंता थी।

वे कहते हैं कि “लड़ाई में जाने से पहले प्रतिद्वंद्वी का कद और आकार मेरे दिमाग पर भारी पड़ रहा था। वह मुझसे बहुत बड़ा था।”

रोक के बावजूद थाई नायक नोलन के खिलाफ कांटे की टक्कर में था लेकिन जल्द ही उसे पता चला कि उसके हाथों में प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ लड़ने के लिए ना तो अच्छा तरीका था और ना ही खतरनाक तकनीकों की एक विस्तृत श्रृंखला थी।

वह कहते हैं कि “मेरे प्रतिद्वंद्वी के पास वास्तव में अच्छी तकनीक थी और वह वास्तव में अच्छी तरह से लड़ रहा था। पहला राउंड वास्तव में बराबरी का मुकाबला था। उन्होंने कहा कि उसने मुझे पहले दौर के अंत में बहुत अच्छी कोहनी से मारा जिसने मुझे नीचे गिरा दिया। हालांकि मैं सही तरीके से वापस खड़ा हो गया और यह गिना नहीं गया था लेकिन मुझे नहीं पता था कि यह कैसे स्कोर करेगा। ”

Bangpleenoi Petchyindee Academy defeats Liam Nolan via unanimous decision at ONE DREAMS OF GOLD

बैंगप्लिनोई और उनकी टीम पहले तीन मिनट की लड़ाई की घटनाओं से बहुत चिंतित नहीं थे लेकिन उन्होंने मान लिया कि अगर उन्हें जीत तय करनी है तो दूसरे दौर में कुछ बदलाव करना होगा।

अपने कोने से कुछ समझदारी भरे शब्दों के बाद पेटीचिन्डी अकादमी के प्रतिनिधि नए फोकस के साथ दूसरे स्टेंजा में आया जिसने उन्हें अपने प्रतिद्वंद्वी को और अधिक नुकसान पहुंचाने और हमलों का अच्छी तरह से बचाव करने में मदद दी।

वह कहता है कि “मेरे प्रशिक्षकों ने मुझे ध्यान केंद्रित करने और अपना बचाव कमजोर ना पड़ने देने के लिए कहा। मैं इस लड़ाई के दौरान बिल्कुल भी लापरवाह नहीं होना चाहता क्योंकि मुझे पता था कि मेरे प्रतिद्वंद्वी में बहुत ताकत है और वह मुझसे बड़ा था।“

“मैंने दूसरे दौर में जाने के लिए बहुत अधिक आत्मविश्वास महसूस किया। जैसे-जैसे दौर आगे बढ़ा मुझे लगा कि मैं जीत के करीब पहुंच रहा हूं। इसके लिए मैं रास्ता खोजने लगा था जबकि पहले दौर में मैंने और संघर्ष किया। मेरी किक ने वास्तव में अच्छा काम किया।“

उन्होंने कहा कि “मैं उस पर एक उछलते हुए घुटने का प्रहार करने का इंतजार कर रहा था क्योंकि मैंने उसे पिछली लड़ाई में इसका इस्तेमाल करके देखा था। मुझे लगता है कि मैं उसे खत्म करने में सक्षम था क्योंकि वह मुझ पर एक प्रहार नहीं कर पा रहा था।”

बचे हुए दो राउंड के लिए उनकी सफलता का मतलब यह था कि जब जजों के फैसले की घोषणा होने का समय आया तो बंगप्लिनोई जीत के लिए आश्वस्त हो गए लेकिन उन्होंने माना कि उनके मन में कुछ संदेह था कि क्या जीत के लिए उन्होंने पर्याप्त किया है।

Bangpleenoi Petchyindee Academy defeats Liam Nolan via unanimous decision at ONE DREAMS OF GOLD

एक बहुमत निर्णय के साथ जब स्कोरकार्ड उनके पक्ष में गया तो यह स्पष्ट था कि बैंकॉक के व्यक्ति को थोड़ी राहत मिली लेकिन उस भावना ने आनंद की राह दी।

उन्हें याद करते हुए कहा कि “मुझे लगता है कि मैंने पहला राउंड खो दिया है लेकिन मुझे विश्वास था कि मैं दूसरा और तीसरा राउंड दोनों जीता जाऊंगा। निर्णय से पहले मैं करीब 80 फीसदी निश्चित था कि मैं जीत रहा हूं लेकिन जब तक निर्णय नहीं सुनाया गया तब तक निश्चित नहीं था।

“मैं जीत हासिल कर बहुत खुश था। यह पूरी लड़ाई करीब-करीब थी लेकिन मुझे वास्तव में ऐसा लग रहा था कि मैंने उसे दूसरे और तीसरे दौर में बाहर कर दिया था।”

रोअर कॉम्बैट लीग विश्व चैंपियन के खिलाफ एक जीत के साथ उनकी रिज्यूम में वृद्धि हुई और 122-50-10 के एक नए और बेहतर रिकॉर्ड के साथ बेंगप्लिनोई को द होम ऑफ मार्शल आर्ट्स फेदरवेट डिवीजन के बड़े मामलों में पहुंचा दिया।

चमकदार रोशनी में दो प्रतियोगिताओं के बाद वह वैश्विक मंच पर प्रतिस्पर्धा के दबाव के साथ सहज महसूस कर रहा है। इसने उसे सबसे बड़े, सबसे हाई-प्रोफाइल कार्यक्रम के लिए तय कर दिया है।

Bangpleenoi Petchyindee Academy defeats Lian Nolan at DREAMS OF GOLD

वह कहते हैं कि “सब कुछ के साथ मेरी ONE में पिछली लड़ाई से बहुत बेहतर लगा। मैं इस समय बहुत अधिक सहज था। जब मैंने फ़िलीपीन्स में लड़ाई की तो मैंने थाईलैंड में बहुत अधिक आजादी महसूस की। यह मेरे लिए बहुत मज़ेदार था। मुझे लगता है कि मैंने वास्तव में अच्छी तरह से संघर्ष किया और मुझे अपने प्रदर्शन पर गर्व है।

“मैं ONE में जीत बनाए रखना चाहता हूं और किसी दिन विश्व खिताब के लिए लड़ने के अवसर की उम्मीद करता हूं।”