ONE Friday Fights 33 में बेलिको की डेब्यू में शानदार जीत और ओटॉप ने शिबाता को एक मिनट के अंदर फिनिश किया

BB 1541

15 सितंबर को लुम्पिनी बॉक्सिंग स्टेडियम में एशियाई प्राइमटाइम पर प्रसारित हुए ONE Friday Fights 33 ने ONE Championship के व्यस्त शेड्यूल की शुरुआत की है।

13 मॉय थाई और MMA मुकाबलों में फैंस को शुरू से लेकर अंत तक धमाकेदार एक्शन देखने को मिला। किसी ने जबरदस्त वापसी करते हुए जीत दर्ज की तो किसी ने नॉकआउट स्कोर किया।

अब सबकी नजरें 22 सितंबर को ONE Friday Fights 34 में होने वाले रोडटंग जित्मुआंगनोन vs. सुपरलैक कियातमू9 के ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच पर टिकी होंगी।

यहां जानिए ONE Friday Fights 33 में क्या-क्या हुआ।

बेलिको ने 3 राउंड्स तक योड-आईक्यू को झकझोरा

अलेक्सी बेलिको को मेन इवेंट में योड-आईक्यू पीके साइन्चाई से कांटेदार मुकाबले की उम्मीद थी और असल में भी इस 150-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मुकाबले में ऐसा ही हुआ।

बेलिको निरंतर ताकत से भरी स्ट्राइक्स लगाकर अटैकिंग रणनीति अपनाए हुए थे। उनकी लंबाई अपने प्रतिद्वंदी से कम थी, इसके बावजूद उन्होंने निडरता से खतरनाक हुक्स को लैंड करवाना जारी रखा। मगर इस दौरान उन्हें थाई फाइटर की कई खतरनाक किक्स का शिकार भी बनना पड़ा।

मगर इससे रूसी स्टार को ज्यादा फर्क नहीं पड़ा, जिन्होंने हर बार मौका मिलते ही खतरनाक स्ट्राइक्स लगानी जारी रखीं। उन्होंने यहां तक कि दूसरे राउंड में PK Saenchai टीम के प्रतिनिधि को नॉकडाउन भी किया।

इस बीच योड-आईक्यू एक या 2 प्रभावशाली स्ट्राइक्स लगाने में सफल रहे, लेकिन उनके अटैक्स कभी बेलिको के लिए मुश्किल खड़ी कर ही नहीं पाए।

3 राउंड्स के जबरदस्त एक्शन के बाद जजों ने Tiger Muay Thai के एथलीट के पक्ष में फैसला सुनाया। ये बेलिको के करियर की 21वीं जीत रही और ONE करियर की शुरुआत शानदार अंदाज में की।

वटचाराफोन ने अपिवट को सर्वसम्मत निर्णय से हराया

BB 1083

वटचाराफोन सिंघा माविन ने जुलाई में किए डेब्यू में बड़ी जीत दर्ज की थी। अब उन्होंने 3 राउंड तक चले 129-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में अपिवट सोर सोमनक को हराकर जीत की लय को बरकरार रखा है।

वटचाराफोन के लंबे हाथ और पैरों ने मैच की दिशा तय की। उनकी ओर से आ रहे दबाव के कारण अपिवट अथक प्रयासों के बाद कभी लय प्राप्त कर ही नहीं पाए।

3 राउंड के एक्शन के बाद तीनों जजों ने वटचाराफोन के पक्ष में फैसला सुनाया। इस जीत के साथ उनका ONE रिकॉर्ड 2-0 और करियर रिकॉर्ड 72-8-2 का हो गया है।

पैंथेप ने शानदार वापसी करते हुए चालमखाओ को हराया

BB 9763

पैंथेप वीके खाओयाई ने पिछले मैच में हार से उभरते हुए चालमखाओ पीके साइन्चाई के खिलाफ सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की।

21 वर्षीय Singpatong और Sitnumnoi Muay Thai Gym के प्रतिनिधि ने 124-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मुकाबले में शुरुआत से ही खुद को आक्रामक तरीके से अटैक करने की स्थिति में पाया।

दोनों फाइटर्स ने खतरनाक तरीके से नी, पंच और एल्बो स्ट्राइक्स लगाईं और सही समय आने पर काउंटर अटैक भी करते रहे।

पैंथेप के दृढ़ रवैये ने चालमखाओ की मुश्किलें बढ़ानी शुरू कर दी थीं और स्कोरकार्ड्स में तीनों जजों ने उन्हीं के पक्ष में फैसला सुनाया।

इस जीत के साथ थाई एथलीट का मॉय थाई रिकॉर्ड 47-19-2 पर पहुंच गया है।

टुबटिमथोंग के लेफ्ट हुक के सामने चित हुए सकोलपट

112-पाउंड कैचवेट मॉय थाई बाउट में टुबटिमथोंग सोर जोर लैकमुआंगनोन ने सकोलपट चोटबांगसाइन को पहले राउंड में नॉकआउट करते हुए अपनी जीत की लय को कायम रखा है।

उन्होंने अपनी यादगार डेब्यू जीत की तरह इस बार भी शुरुआत से फाइट को फिनिश करने के मौके तलाशने शुरू कर दिए थे। मैच को शुरू हुए 30 सेकंड हुए थे, तभी टुबटिमथोंग ने अपने प्रतिद्वंदी की ओर आगे आकर राइट एल्बो-लेफ्ट हुक कॉम्बिनेशन लगाकर उन्हें नॉकडाउन किया।

जब सकोलपट ने वापसी का प्रयास किया, तब टुबटिमथोंग ने तेजी के साथ उनके करीब आकर राइट अपरकट और लेफ्ट हुक लगा दिया, जिसके प्रभाव से सकोलपट पहले राउंड में 1 मिनट 38 सेकंड के समय पर हार मान बैठे।

टुबटिमथोंग के ONE में लगातार दूसरे फिनिश से उनका रिकॉर्ड 58-11-1 का हो गया है और इसी के साथ ONE के सबसे दिलचस्प स्टार्स में से एक बन गए हैं।

ओन्दाश ने पलांगबून को 3 राउंड तक चले मैच में हराया

BB 8105

अब्दुल्ला ओन्दाश और पलांगबून वोर सैनटाई के बीच 126-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में कांटेदार टक्कर देखने को मिली, लेकिन अंत में ओन्दाश विभाजित निर्णय से जीत दर्ज करने में सफल रहे।

दोनों खतरनाक फाइटर्स ने शुरुआत में अटैक के बदले अटैक की रणनीति अपनाई। पलांगबून की स्ट्राइक्स क्लीन तरीके से लैंड हो रही थीं, लेकिन ओन्दाश की लेग किक्स उनके प्रतिद्वंदी की मूवमेंट को कमजोर कर रही थीं।

पलांगबून के कॉम्बिनेशंस उन्हें दूसरे राउंड तक खींच ले गए, मगर ओन्दाश को अंतिम राउंड में पूरी ताकत के साथ अटैक करना पड़ा।

उन्होंने जबरदस्त अंदाज में मूव्स लगाते हुए वापसी की और जीत भी दर्ज की।

3 में से 2 जजों ने ओन्दाश के पक्ष में फैसला सुनाया, जिससे अब उनका ONE रिकॉर्ड 2-0 और करियर रिकॉर्ड 18-1 का हो गया है।

सिंग ने विन को 3 राउंड तक झकझोरे हुए जीता मैच

PU 7105

सिंग सोर चोकमिचाई अपने ONE Friday Fights डेब्यू में सबकी उम्मीदों पर खरे उतरे हैं।

20 वर्षीय थाई स्टार ने 127-पाउंड कैचवेट मॉय थाई बाउट में विन सिटयानिम को सर्वसम्मत निर्णय से हराया, लेकिन इस जीत के लिए उन्हें कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

शुरुआत में दोनों फाइटर्स को अटैक करने का मौका मिला। एक तरफ सिंग ने 8-काउंट स्कोर किया। वहीं विन ने रेफरी के काउंट का जवाब देते हुए सिंग को पंच और नी स्ट्राइक्स लगाकर जबरदस्त अंदाज में वापसी की।

मगर Sor Chokmeechai टीम के प्रतिनिधि द्वारा स्कोर किए गए नॉकडाउन और जोरदार पंचों ने उन्हें स्कोरकार्ड्स में बढ़त दिलाए रखी। अंत में तीनों जजों ने उन्हीं के पक्ष में फैसला सुनाया।

इस जीत के साथ सिंग का स्ट्राइकिंग रिकॉर्ड 51-9-1 का हो गया है।

योडनमचाई ने चालमखाओ को दूसरे राउंड में स्टॉपेज से हराया

योडनमचाई फेयरटेक्स और चालमखाओ जित्मुआंगनोन के रूप में 2 युवा थाई स्टार्स 116-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में आमने-सामने आए, लेकिन अंत में योडनमचाई बेहतर साबित हुए।

पहले मिनट में अपने प्रतिद्वंदी की मूवमेंट को परखने के बाद योडनमचाई ने खतरनाक लेफ्ट एल्बो लगाईं, जिन्होंने चालमखाओ को नॉकडाउन कर दिया था।

चालमखाओ ने दूसरे राउंड में निडर होकर फाइट की, लेकिन उनके प्रतिद्वंदी पीछे हटने को तैयार नहीं थे। उन्होंने चालमखाओ को दूसरे राउंड में 48 सेकंड के समय पर नॉकआउट किया।

इस यादगार जीत ने 19 वर्षीय स्टार के करियर रिकॉर्ड को 61-20 पर पहुंचा दिया है।

ओटॉप ने 60 सेकंड के अंदर शिबाता को 3 बार नॉकडाउन किया

ओटॉप ओर क्वानमुआंग ने 143-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में शिंगो शिबाता को 59 सेकंड के अंदर 3 बार नॉकडाउन करते हुए दिखाया कि क्यों वो इस खेल के सबसे उभरते हुए फाइटर्स में से एक हैं।

मैच शुरू होने के बाद 17 वर्षीय स्टार ने शिंगो की किक को काउंटर करते हुए ओवरहैंड राइट लगाया। उन्होंने कुछ देर बाद कई दमदार शॉट्स लगाए, जिसके कारण उनके प्रतिद्वंदी के लिए दूसरी बार काउंट शुरू किया गया।

उस समय जापानी एथलीट की मुश्किलें बढ़ चुकी थीं। वहीं ओटॉप ने कई पंच और एल्बोज़ लगाते हुए तकनीकी नॉकआउट से जीत प्राप्त की।

अपने प्रोमोशनल डेब्यू में जीत के साथ थाई एथलीट ने अपने रिकॉर्ड को 64-15-2 पर पहुंचा दिया है।

यामिन ने एल्बो लगाकर झांग को फिनिश किया

यामिन पीके साइन्चाई ने अपने ONE डेब्यू में 4-औंस के ग्लव्स के साथ तालमेल बैठाने में समय लिया। मगर एक बार लय प्राप्त करने के बाद उन्होंने फ्लाइवेट मॉय थाई मैच में झांग जिन्हु को हराकर ही दम लिया।

यामिन को पहले राउंड में चीनी एथलीट के कई खतरनाक मूव्स का प्रभाव झेलना पड़ा, लेकिन उन्होंने धैर्य से काम लेकर अपने मौके का इंतज़ार किया।

इससे थाई स्टार को दूसरे राउंड में अच्छा करने में मदद मिली। उन्होंने हेड और बॉडी किक्स लगाकर अच्छी लय प्राप्त की।

यामिन का आत्मविश्वास तीसरे राउंड में सातवें आसमान पर पहुंच चुका था। उन्होंने मौका मिलते ही शॉर्ट एल्बो लगाकर झांग के डिफेंस को चकनाचूर कर दिया और अंतिम राउंड में 23 सेकंड के समय पर नॉकआउट स्कोर किया।

थाई एथलीट का रिकॉर्ड अब 83-26-2 पर पहुंच गया है।

तियाई ने एक्शन से भरपूर मॉय थाई मैच में अलबद्र को हराया

BB 4052

थाई सनसनी तियाई पीके साइन्चाई ने स्ट्रॉवेट मॉय थाई मैच में आयद अलबद्र पर जीत हासिल कर अपने अपराजित रिकॉर्ड को कायम रखा है।

शुरुआती राउंड में अलबद्र बेहतर साबित हुए, जहां उन्होंने स्ट्रेट पंच और किक्स लगाते हुए अपने विरोधी को झकझोरा।

मगर तियाई ने दूसरे और तीसरे राउंड में तेजी से मूव्स लगाकर वापसी की और अलबद्र को डिफेंड करने पर मजबूर किया।

9 मिनट के जबरदस्त एक्शन के बाद PK Saenchai टीम के प्रतिनिधि ने जीत दर्ज कर अपने ONE और करियर रिकॉर्ड को क्रमशः 4-0 और 59-2-12 पर पहुंचा दिया है।

जूनियर ने बॉडी शॉट्स लगाकर दोगन को फिनिश किया

एटमवेट मॉय थाई मुकाबले में जूनियर फेयरटेक्स ने ज़ेहरा दोगन को तकनीकी नॉकआउट से हराकर ONE Friday Fights में लगातार तीसरी जीत दर्ज की।

दोगन ने शुरुआत में पंचिंग कॉम्बिनेशंस और पुश किक्स लगाकर थाई एथलीट के डिफेंस को झकझोर दिया था, लेकिन जूनियर ने हार ना मानते हुए धमाकेदार अंदाज में वापसी की।

दूसरे राउंड में एक परफेक्ट स्ट्रेट राइट के प्रभाव से टर्किश एथलीट मैट पर जा गिरीं। वहीं मिडसेक्शन पर लगे कुछ मूव्स ने जूनियर को दूसरे राउंड में 2 मिनट 36 सेकंड पर जीत दिलाई।

ये उनके करियर की 23वीं जीत रही और अब बिना कोई संदेह उनकी नजरें ONE Championship का कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने पर हैं।

खान ने चो को सबमिशन से हराकर डेब्यू मैच जीता

इस्माइल खान और चो जून गन फ्लाइवेट MMA मैच में अपने-अपने गेम पर अमल करते दिखाई दिए, लेकिन अंत में खान की ग्रैपलिंग उनके प्रतिद्वंदी के स्ट्राइकिंग गेम पर भारी पड़ी।

खान जानते थे कि चो द्वारा खतरनाक पंचों के इस्तेमाल से पहले उन्हें फाइट का कंट्रोल अपने हाथों में लेना होगा। उन्होंने पहले और दूसरे राउंड में हर मौके पर 17 वर्षीय एथलीट के मूव्स को काउंटर किया।

खान ने अंतिम राउंड में दक्षिण कोरियाई एथलीट पर दबाव बनाने का प्रयास किया। आखिरकार इस आक्रामक रणनीति की मदद से उन्होंने अंतिम राउंड में रीयर-नेकेड चोक लगाकर 1 मिनट 10 सेकंड के समय पर जीत हासिल की।

इस डेब्यू जीत के साथ पाकिस्तानी स्टार का रिकॉर्ड 6-0 का हो गया है।

धांत ने डोंगक को तीसरे राउंड में स्टॉपेज से हराया

शो की शुरुआत एक फ्लाइवेट MMA मैच से हुई, जिसमें रबिंद्र धांत ने अपने प्रोमोशनल डेब्यू में रूसी एथलीट टोरेप्ची डोंगक का सामना किया।

ये एक क्लासिक ग्रैपलर vs स्ट्राइकर मैच साबित हुआ। नेपाली स्टार ने शुरुआत में शानदार तरीके से अपने गेम पर अमल किया। वो टेकडाउन स्कोर करते हुए फाइट को ग्राउंड पर लेकर आए, जहां उन्होंने डोंगक पर खतरनाक ग्राउंड-एंड-पाउंड अटैक किया।

इन खतरनाक स्ट्राइक्स के दम पर धांत ने अंतिम राउंड में 1 मिनट 55 सेकंड के समय पर स्टॉपेज से अपनी जीत सुनिश्चित की।

इस जीत से 24 वर्षीय स्टार ने अपने रिकॉर्ड को 6-0 पर पहुंचा दिया है।

न्यूज़ में और

Ritu Phogat
Tye Ruotolo Izaak Michell ONE Fight Night 21 64
Nakrob Fairtex Muangthai PK Saenchai ONE Friday Fights 10
Mikey Musumeci Gabriel Sousa ONE 167 14
Kade Ruotolo Blake Cooper ONE 167 69
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 59
Tawanchai Beats SmokingJo 1920X1280
Mikey Musumeci Gabriel Sousa ONE 167 11
Akram Hamidi Kongchai Chanaidonmueang ONE Friday Fights 66 14
TawanchaiPKSaenchai SmokinJoNattawut 1920X1280
Kongchai AkramHamidi 1920X1280
Kade Ruotolo Francisco Lo ONE Fight Night 21 60