Mixed Martial Arts

कुआलालंपुर में मुश्किलों भरी रही अगिलान थानी की तीन राउंड वाले मुकाबले की जीत

कुआलालंपुर के एशिता एरिना में प्रशंसक होमटाउन योद्धा अगिलान थानी “एलीगेटर” का उत्साहवर्द्धन पूरे जोश के साथ कर रहे थे। ऐसे में MARK OF GREATNESS में थानी ने भी प्रशंसकों को निराश न करते हुए डांटे स्कीरो के खिलाफ अपने चौथे मुकाबले में शानदार जीत हासिल की।

शुक्रवार, ,6 दिसंबर को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के तीन क्लोज राउंड के बाद कुआलालंपुर के योद्धा ने विभाजन के फैसले के बाद जीत दर्ज की।

Agilan Thani ???????? sends the hometown crowd into a frenzy with a hard-fought split decision win over previously undefeated Dante Schiro!

Agilan "Alligator" Thani ???????? sends the hometown crowd into a frenzy with a hard-fought split decision win over previously undefeated Dante Schiro!????: How to watch ???? http://bit.ly/ONEMOGHowToWatch????: Book your hotel ???? bit.ly/ONEhotelplanner????: Watch on the ONE Super App ???? bit.ly/ONESuperApp????: Shop official merchandise ???? bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Friday, December 6, 2019

थानी ने एक शानदार शुरुआत करते हुए विपक्षी से अपनी दूरी को खत्म किया और मैट पर उसे पटक दिया। फिर भी अमेरिकी योद्धा ने तेजी से अपने पैर जमा लिए। दोनों एथलीटों ने घेराबंदी कर एक-दूसरे पर प्रहार किए। थानी के एक और टेकडाउन स्कोर से पहले दोनों योद्धा ने एक-दूसरे पर शक्तिशाली अपरकट्स आजमाए।

मोनार्की एमएमए प्रतिनिधि शुरुआत से ही सक्रिय रहा लेकिन शिरो ने कोहनी से प्रहार किया और गिलोटिन चोक के साथ हमला कर यह पक्का कर दिया कि मुकाबला आगे और भी दिलचस्प होने वाला है।

दूसरे दौर के आने से पहले दोनों योद्धा पूरी तरह लय में आ चुके थे। थानी ने ओवरहैंड राइट, लेफ्ट हुक और लोअर किक्स के साथ मुकाबले में खुद को मजबूत किया, जबकि विस्कॉन्सिन के विपक्षी ने अपरकेस और स्ट्रेट राइट्स के साथ स्कोर किया।

“एलीगेटर” ने टेकडाउन से एक और स्कोर बनाया, जब उसने विपक्षी की किक पकड़ ली लेकिन उसके बाद स्थिति के पलटने पर होने वाले हमले को निष्क्रिय करने में वह असफल साबित हुआ। वह खतरे में पड़ गया क्योंकि शिरो उसकी पीठ पर कूद गया। उसने त्रिकोणीय आकार से उसे लॉक कर दिया और रियर नेक्ड चोक के लिए करीब आता गया।

हालांकि, अपनी स्थानीय भीड़ को देखते हुए सेंटुल मूल के योद्धा ने विपक्षी के हमलों को रोक दिया।

आखिरी फ्रेम की शुरुआत में “एलीगेटर” ने फिर से कठिन ओवरहैंड अधिकारों के साथ वापसी की और एक बार फिर से कुश्ती की ट्रिक्स को आजमाने की कोशिश की। शिरो ज्यादातर पिछले पैरों पर थे लेकिन उन्होंने भरपूर टेकडाउंस इस्तेमाल किए और घंटी बजने तक बराबरी से टक्कर दी।

15 मिनट बाद मैच समाप्ति की ओर आते ही प्रशंसक यह जानने के लिए खड़े हो गए कि मैच का रुख किस योद्धा की तरफ जाएगा। मैच में दोनों ही योद्धाओं ने शानदार मुकाबला दिया, जिससे फैसले का इंतजार प्रशंसकों को बेसब्र करने लगा।

कुछ देर के इंतजार के बाद थानी के पक्ष में फैसला आया, जिसमें उन्होंने अपने पेशेवर रिकॉर्ड को 11-4 से सुधार लिया।