विशेष कहानियाँ

पहले विश्व खिताब के लिए लंबे इंतजार ने दिया सैम-ए की महानता को आकार

अक्टूबर 6, 2019

सैम-ए गैयानघादाओ को मॉय थाई विश्व चैंपियन के रूप में इसे बनाने के लिए आवश्यक एकाग्रता व शक्ति की मात्रा से बेहतर पता है।

पूर्व ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन जो रविवार, 13 अक्टूबर को ONE: CENTURY PART I पर पहले स्ट्रॉवेट मुकाबले में ONE सुपर सीरीज के लिए डैरन रोलैंड का सामना करेंगे।

सैम ए ने स्वीकार किया कि उनके करियर में एक समय ऐसा था कि उन्हें लगने लगा था कि वह कभी भी विश्व चैंपियन नहीं बन पाएंगे। इसके पीछे सबसे बड़ा कारणा था कि वह बड़े मैचों में कई बार पटखनी खा चुके थे।

उन्होंने बताया कि जब वह किशोरावस्था में थे तो उन्होंने अपना पहला शॉट एक लुम्पिनी स्टेडियम मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल में अर्जित किया था, लेकिन वह भविष्य के दिग्गज योदसंकलाई फेयरटेक्स “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” से हुए मुकाबले में मामूली अंतर हार गए।

उनकी हार ने उन्हें हतोत्साहित नहीं किया, लेकिन जब उन्होंने अपने खेल के सबसे शानदार सम्मानों में से एक में दो और शॉट्स खो दिए तो उन्हें लगा कि उनके शीर्ष पर पहुंचने की संभावना खत्म हो गई है। वह वास्तव में हतोत्साहित हो गए थे। उन्हें लगा कि वह कभी प्रमुख चैंपियन नहीं बनेंगे।

उन्होंने कहा कि वह पहले भी चैंपियन को हरा चुके थे, लेकिन हमेशा खिताबी मुकाबलों में उन्हें हार झेलनी पड़ती थी।यह कौशल का मुद्दा नहीं था, यह सिर्फ उनकी किश्मत का दोष था।



उनके हतोत्साहित होने के बाद भी उन्होंने ने जिम में कड़ी मेहनत करना जारी रखा और थाईलैंड में शीर्ष दावेदारों में से एक के रूप में अपनी स्थिति बनाए रखने के लिए जीत को कभी नहीं रोका।

उनकी निरंतर सफलता का मतलब था कि उन्हें एक और बेहतदीन प्रदर्शन की जरूरत थी। जब उन्हें पेच पोर पुरापा का सामना करने के लिए कॉल मिला तो 115 पाउंड के लुम्पीने स्टेडियम मॉय थाई विश्व खिताब के लिए वह चौथी बार भाग्यशाली बनाने के लिए दृढ़ संकल्पित थे।

सैम-ए ने पहले भी दो बार पेच को हरा चुके थे, लेकिन उन्हें भी एक बार उनसे हार का सामना करना पड़ा था। इसलिए उन्होंने अपनी प्रतियोगिता से पहले भावनाओं को मिला दिया था।

उन्होंने कहा कि यह उनकी चौथी खिताबी लड़ाई थी और उन्हें लगा कि उनके पास 50-50 प्रतिशत मौका हैं। पांच शानदार राउंडों के बाद सैम-ए ने अपने अविश्वसनीय कौशल के माध्यम से जीत हासिल की और प्रसिद्ध बेल्ट को अपनी कमर पर सजा लिया। यह थाई हीरो के लिए एक जीवन बदलने वाला क्षण था।

उन्होंने कहा कि जीत के बाद वह बहुत खुश थे। उन्होंने बाउट से पहले ही खुद को एक चैंपीयन के रूप में देख लिया था। उन्हें एहसास हुआ कि वह ऐसा कर सकता हैं और चैंपीयन बन सकते हैं। पहली बेल्ट सबसे मुश्किल थी, लेकिन उसके बाद यह सिर्फ उनके लिए लगातार आती गई और वह आगे बढ़ते गए।

सैम-ए ने तीन राष्ट्रीय खिताब जीते, एक और लुम्पिनी स्टेडियम मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल – जिसे उन्होंने कई बार डिफेंड किया – और ONE सुपर सीरीज़ वर्ल्ड चैंपियनशिप का पहला खिताब जीता। अपने 366-47-9 के शानदार रिकॉर्ड के साथ उन्होंने अपनी विरासत को अपने खेल के सच्चे महानों में से एक के रूप में प्रतिष्ठित किया।

वह अपनी सफलता के लिए शुरुआत में मिली तीन असफलताओं को पूरा श्रेय देते हैं। हर बार जब बहुत कम अंतर से हार जाते थे तो बुरीराम मूल निवासी अपने आप में सुधार के लिए जुट जाते थे। इसके साथ उन्होंने अपने कौशल को मजबूत किया और आखिरकार खिताब पर कब्जा जमाया।

उन्होंने कहा कि शुरुआती हार ने उन्हें दृढ होना सिखाया था। आपको हर दिन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहिए और प्रत्येक दिन आपका सर्वश्रेष्ठ पिछले से बेहतर होना चाहिए। यह कठिन है, लेकिन आप हतोत्साहित नहीं हो सकते, क्योंकि एक दिन आखिरकार आपका ही होगा।

उन्होंने कहा कि उस दौरान उन्होंने जो सबक सीखा, वह उनके करियर की संपूर्णता के लिए साथ रहा। हर दिन आपके लिए सही नहीं होता है तो आपको इंतजार करना चाहिए और अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

यह भी पढ़ें:  जापान में अपना सबसे बड़ा सपना पूरा करने के लिए उत्साहित है जेनेट टॉड

ONE: CENTURY | ONE Championship का 100 वां लाइव इवेंट | टिकट खरीदने के लिए यहां क्लिक करें

  • यूएसए में PART I 12 अक्टूबर को 8 ईएसटी पर और PART II 13 अक्टूबर को सुबह 4 बजे ईएसटी पर देखें
  • भारत में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 5:30 बजे IST और PART II 1:30 बजे IST पर देखें
  • जापान में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 9 बजे JST और PART II को शाम 5 बजे JST में देखें
  • इंडोनेशिया में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 7 बजे WIB और PART II 3pm WIB पर देखें
  • सिंगापुर में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे एसजीटी और PART II 4 बजे एसजीटी पर देखें
  • फिलीपिंस में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे पीएचटी और PART II 4 बजे पीएचटी पर देखें

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट शैलियों का प्रदर्शन करेंगे। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप इवेंट आयोजित नहीं किए हैं।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रोयोगोकू कोकूगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच लाने के साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन पर दस्तक देगा।