विशेष कहानियाँ

दु:खद घटनाओं ने एडुअर्ड फोलयांग को दी कभी नहीं टूटने की शक्ति

जुलाई 24, 2019

एडुअर्ड “लैंडस्लाइड” फ़ॉलयांग को विषम परिस्थितियों से निकलकर खुद को एक मजबूत प्रतियोगी के रूप में स्थापित करने वालों के रूप में जाना जाता है।

फिलिपिनो हीरो किसी भी हार के बाद (जिसने एडी “द अंडरग्राउंड किंग” अल्वारेज़ के खिलाफ ONE: डॉन ऑफ हीरोज में ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रैंड प्रिक्स सेमीफ़ाइनल में वापसी की) हमेशा बीती बातों को भूलकर व निराशाओं को छोड़कर आगे अच्छा करने के रास्ते ढूंढ लेता है।

दिल पर बार-बार आघात पहुंचाने वाले चीजों का सामना करते हुए अब उनके हौंसले बुलंद हो गए हैं। यही कारण है कि वह फिलीपींस के सबसे प्रतिष्ठित एथलीटों में से एक बनकर उभरे हैं। उन्हें बचपन की बुरी घटनाओं के साथ किए गए संघर्ष के कारण आज अलग पहचान मिली है।

फोलयांग बताते हैं कि “जब मैं छोटा था, तो मेरी माँ ने मुझे बताया था कि मेरे पांच भाई-बहनों की मौत हो गई है। उस समय मैं इतना छोटा था कि जब मैं खुद बाल्यवास्था में था और चाहकर भी कुछ नहीं कर पाया।

” जब उन्होंने अपने भाई-बहनों को खोया था तब वह उनके कुछ ही वर्ष बड़े थे। उनमें से सबसे बड़ा 7 साल, दूसरा 5 साल व तीसरा एक साल का था, जबकि दो अन्य नवजात के बराबर थे। यह सब फॉलयांग के बगुइओ सिटी जाने से पहले हुआ था, जहां उनका बेटा विश्व प्रसिद्ध टीम लेकी से जुड़कर प्रशिक्षण ले रहे थे।

पड़ोसी पर्वतीय प्रांत में एक दूरदराज के क्षेत्र में रहने का मतलब है कि उनके पास बेहतर स्वास्थ्य देखभाल की भी सीमित पहुंच थी। ऐसे में एक छोटी सी बीमारी भी उनके जीवन पर खतरा बन सकती थी।

फोलयांग ने बताया कि उनके लिए अस्पताल जाना बहुत मुश्किल होता था। वहाँ जाने के लिए करीब दो या तीन दिन की यात्रा करनी पड़ती थी। कभी-कभी आपको लगता है कि यह एक सामान्य बुखार होगा, लेकिन कभी-कभी यह उनकी अचानक मौत का कारण बन जाता है।

इस स्थिति में हमें उन्नत या आधुनिक चिकित्सा की तुलना में पारंपरिक चिकित्सा पर अधिक भरोसा करना पड़ा क्योंकि यह आसानी से सुलभ थी। इनमें चिकित्सीय पत्ते, अदरक की चाय और अन्य हर्बल जड़ी-बूटियां खेतों में आसानी से उपलब्ध थीं।

उन्होंने बताया कि उन्हें उचित स्वास्थ्य देखभाल का भी पूरा ज्ञान नहीं था। यही एक प्रमुख कारण था कि उनके भाई-बहनों की मौत हुई। उनके उपचार के लिए उन्हें चिकित्सकों की जरूरत थी, जो यह बता पाते कि उनके साथ क्या गलत हो रहा है, लेकिन अस्पताल की दूरी अधिक थी और चिकित्सक के समय पर नहीं होने के कारण उनकी मौत हो गई।

“लैंडस्लाइड” के माता-पिता अपने चार जीवित बच्चों को समृद्ध देखने के लिए दृढ़ थे। उन्होंने उनके बेहतर भविष्य के लिए वह सब कुछ किया जो वो कर सकते थे। वे बगुइओ चले गए, हालांकि वह अनपढ़ थे। ऐसी स्थिति में उनके माता-पिता ने अपने बच्चों को शिक्षा देने का एक तरीका खोजा ताकि वे कई काम करके खुद को गरीबी से बाहर निकाल सकें।

उनके अथक प्रयासों और विपरीत परिस्थितियों के माध्यम से दृढ़ रहने की क्षमता को देखते हुए उनके बेटे को उस दृष्टिकोण को सीखने के लिए प्रेरित किया, जिसने उन्हें ONE लाइटवेट चैंपीयन बनने में बड़ी मदद की।

फोलयांग का कहना है कि शहर में हमारे पास उचित स्वास्थ्य देखभाल के साथ-साथ वो सभी सुविधाएं हैं जो शिक्षा में मदद करती है। उन्होंने कहा कि उनकी कड़़ी मेहनत के कारण ही आज उन्हें बेहतर जीवन जीने का मौका मिला है।

यही कारण है कि उनके माता-पिता ने बच्चों की जरूरतों को पूरा करने के लिए सब कुछ किया। यह मुश्किल हो सकता है, लेकिन माता-पिता के रूप में उनके प्यार ने उन्हें मेज पर खाना लगाने की शक्ति में सब कुछ करने के लिए प्रेरित किया।

“यह एक ऐसी चीज है जिसके लिए वह अपने माता-पिता से सराहना करते हैं। वो कभी भी हार नहीं मानते हैं। भले ही उन्होंने अपने पांच बच्चों को खो दिया हो। फिर भी उनके पास वह जज्बा है, जिसे देखकर आज हम भी वैसे ही बन गए हैं और अपने भविष्य को मजबूती देने का प्रयास कर रहे हैं।

अपनी बच्चों को दिए गए सबक के कारण ही आज फोलयांग को सफलता की बुलंदियों की ओर बढ़ रहे हैं। हालाँकि उनकी माँ और पिता चाहते थे कि वे एक पुलिसकर्मी बनें, लेकिन उन्होंने उन्होंने एक शिक्षक के रूप में अपना करियर शुरू किया। इसके बाद उन्होंने मार्शल आर्ट की ओर रुख किया ओर आज इसने उन्हें एक राष्ट्रीय नायक बना दिया और अपने परिवार की मदद करने में मदद की।

आज फ़ॉलेयांग के माता-पिता बहुत खुश हैं और अपने स्वस्थ पोते के साथ का आनंद ले सकते हैं। वह अपने पिछले मैच में अपनी बेल्ट खो सकते थे, लेकिन जैसा कि उन्होंने पहले किया है, वह अगले शुक्रवार, 2 अगस्त को फिलीपींस के मनीला में एशिया एरिना के मॉल में अपने करियर की सबसे बड़ी जीत के साथ वापसी करने के लिए दृढ़ है।

मनीला | 2 अगस्त | 7PM | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट

: http://bit.ly/oneheroes19