न्यूज़

‘The Apprentice’ सलाहकार निहारिका सिंह से 9 सवाल

निहारिका सिंह ONE Championship के चेयरमैन और सीईओ चाट्री सिटयोटोंग की आंख व कान बनने को तैयार हैं।

31 साल की एग्जीक्यूटिव The Apprentice: ONE Championship Edition में सिटयोटोंग के सलाहकारों में से एक के तौर पर काम करेंगी। इस पोस्ट के लिए उनके जितना क्वालीफाइड शायद कोई और नहीं है।

निहारिका सिंह ने 2012 में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट से एमबीए किया था। इसके बाद उन्होंने मेकिन्सी एंड कंपनी और ट्रीबो होटल्स में लीडरशिप पोजिशन संभाली।

जून 2019 में भारत की रहने वाली निहारिका सिंगापुर चली गईं और ONE Championship की हेड ऑफ द प्रोडक्ट बन गईं। वहां उनका बिजनेस करियर फलता-फूलता रहा।

सिंह ने सिटयोटोंग के साथ काम करते हुए कंपनी के अभियानों को आगे बढ़ाया है, इसलिए उन्हें ये पता है कि एक अप्रैंटिस के लिए किसी तरह के व्यक्ति की जरूरत होगी।

इस तरह की जानकारी और बेहद शानदार बैंकग्राउंड के चलते सिंह सलाहकार के रोल के लिए परफेक्ट हैं और शो में वो सभी 16 प्रतियोगियों पर पैनी निगाह रखेंगी।

इस खास इंटरव्यू में सिंह ने सिटयोटोंग के साथ अपने रिश्ते, फैंस की The Apprentice: ONE Championship Edition से उम्मीदें और कुछ अन्य चीजों के बारे में बात की।

ONE Championship: आपने ONE तक का रास्ता कैसे तय किया और कंपनी की किन चीजों ने आपको आकर्षित किया?

निहारिका सिंह: कुछ भी कहने से पहले मैं आपको ये बताना चाहूंगी कि भले ही आपको सवालों के जवाब बनाए हुए मालूम चलें  लेकिन मैं आपको विश्वास दिलाती हूं ये 100 प्रतिशत सच है।

ONE Championship मुझे पूरी तरह से इत्तेफाक से मिली। मुझे एक कॉमन फ्रेंड ने इंट्रोड्यूस करवाया। मुझे लगता है कि ये मेरे लिए ‘पहली नजर का प्यार’ जैसा है। इसमें मुझे पक्के तौर पर लगा कि जो आप उम्मीद करते हैं, वो सब यहां था। इसमें पांच बजे की कॉल, काफी सारा जुनून, इस बारे में सोचने से खुद को रोक पाने जैसी बातें, विदेशी फ्लाइट पाने के लिए की गई हड़बडी जैसी चीजें शामिल थीं। ये सब सच में काफी अचानक हुआ।

जब मुझे इस कंपनी से मिलाया गया, तभी लग गया था कि मैं इसका हिस्सा बनना चाहती हूं। इसके साथ ही ONE Championship की काफी बातें आकर्षक हैं। इसमें बेहतरीन ग्लोबल टीम, बहुत बेहतरीन इंडस्ट्री और विनिंग बिजनेस मॉडल हैं लेकिन जो बात मुझे सबसे अच्छी लगी वो है कंपनी का मूल विज़न।

मैं उम्मीदों और सपनों में विश्वास करने वालों में से हूं। इन सबके बिना मेरे लिए जीवन का कोई मूल्य नहीं है। फिर ONE Championship के मूल्यों ने मुझे अंदर तक प्रभावित किया है, खासकर यहां के लचीलेपन ने।

ONE: जब आप चाट्री से पहली बार मिलीं तो किसी तरह का आप पर प्रभाव पड़ा?

निहारिका सिंह: मैं मनीला में चाट्री से एक डिनर पर मिली थी, वहां उन्होंने मुझे ONE Championship के इवेंट में आने का न्योता दिया था।

जिस चीज ने मुझे प्रभावित किया, वो ये थी कि चाट्री अभी भी ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्होंने अपने दिल से सोचना नहीं छोड़ा है। हमने कई सारी चीजों पर बातें कीं, इसमें बिजनेस से ट्रैवल तक, किताबों, आध्यात्म और असल जिंदगी की कहानियां तक शामिल रहीं। बिजनेस में काफी सफलता हासिल करने के बाद और एक बड़े कॉरपोरेट एम्पायर को चलाने वाले शख्स को इतने दिल से बात करते देख मैं काफी प्रभावित हुई थी। ये बात मेरे दिल को छू गई थी।

दूसरी चीज जो मुझे उस शाम काफी अच्छी लगी, वो ये रही कि वहां एक ऐसा व्यक्ति मिला, जिसके कहने और करने में फर्क नहीं था। उस समय ये साफ हो गया कि कंपनी के सपने और मूल्य मुझे बहुत प्रभावित कर रहे हैं। वो ऐसा है कि मानो सच्चे मन से लिखे गए नियमों को वो जीते हैं और हर रोज उनका जश्न मनाते हैं।

ONE: तो अब उनके साथ काम करके कैसा लग रहा है?

निहारिका सिंह: अगर आप चाट्री के साथ काम करने जा रहे हैं, तो आपको अपने जीवन में गजब की तेजी लाने और अपने स्तर को किसी पायदान पर उठाने की तैयारी कर लेनी चाहिए। कमजोर दिलवालों को ऐसा करने की सलाह मैं बिल्कुल नहीं देना चाहूंगी।

उनके साथ काम करना मेरे लिए काफी सम्मान भरा अनुभव है। इसमें वो सभी चीजें शामिल रहीं, जिनकी मुझे उम्मीद थी बल्कि उससे ज्यादा ही मिलीं। काफी सारी चीजें करने में व्यस्त और एक ही समय कई जगह मौजूदगी दर्ज करा उन्होंने अपने मेंटॉर के रोल को काफी गंभीरता से लिया है। मैं उनकी इस बात से भी प्रभावित हूं कि वो अपनी बेहिसाब मेहनत और समय इसमें झोकने को तैयार रहते हैं। मैंने उनकी मेंटॉरशिप में काफी सारी चीजें सीखीं हैं। उन्होंने मुझे काफी सारी चीजें सिखाई हैं।



ONE: वो कौन सी बड़ी चीजें हैं, जो आपने चाट्री के साथ काम करते हुए सीखी हैं?

निहारिका सिंह: मैंने चाट्री से काफी सारी चीजें सीखी हैं। उनके साथ करीब से काम करने और सीधे उन्हें रिपोर्ट करने से मुझे उनके दिमाग को समझने का मौका मिला कि वो कैसे चीजें चलाते हैं और चीजों को लीड करते हैं।

उन्होंने मुझे सिखाया कि किस तरह जनता को प्रभावित करने वाले शब्द एक ताकतवर औजार के तौर पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं। कैसे सीधे विचार और संवाद कंपनी का भविष्य तय कर सकते हैं। उन्होंने मुझे सिखाया कि कैसे तगड़े प्रेशर में काम करना होता है और सही फैसले लेने होते हैं। उन्होंने मुझे सिखाया कि कब आपको सच में विश्वास करना होता है और सबसे मुश्किल फैसले लेते हुए भी अपनी कंपनी के मूल्यों का सम्मान करना होता है, ताकि वो आपको रास्ता दिखा सकें। ये उस वक्त के लिए है, जब आप अपने बिजनेस के लिए सबसे कठिन फैसले ले रहे हों।

सबसे जरूरी चीज, जो उन्होंने मुझे सिखाई वो ये कि समय की कीमत कैसे पहचानें। मैं ये पहले से भी जानती थी लेकिन उतना नहीं, जितना मुझे पता था। वो काफी व्यस्त रहते हैं लेकिन बिजनेस में ये चीजें अपनाते हुए कभी इसका अहसास नहीं होने देते हैं। उनके साथ काम करते हुए मेरे कम्युनिकेशन और एग्जीक्यूशन स्किल्स और तेज हो गए हैं। इसकी वजह से ही अब मैं और तेजी से जरूरी जानकारी और बिजनेस के लिए अहम फैसले ले पाती हूं।

ONE: जब उन्होंने पहली बार आपसे The Apprentice: ONE Championship Edition का जिक्र किया और आपको अपने सलाहकारों में से एक बनने को कहा, तो आपके क्या विचार थे?

निहारिका सिंह: सच कहूं तो मुझे लगा कि वो मजाक कर रहे हैं। मैं कैमरे को ज्यादा पसंद नहीं करती हूं और हेड ऑफ द प्रोडक्ट होने के चलते काफी सारी जिम्मेदारियों से घिरी रहती हूं। ऐसे में मुझे लगा कि पूरा घटनाक्रम ही काफी अजीब है लेकिन यही वो कारण बन गया, जिसकी वजह से मैंने इसको चुना और कुछ ही सेकंड में “हां” बोल दिया।

ONE: कई सारे लोग इस प्रतियोगिता को जीतने की कोशिश करेंगे। आपके विचार में अच्छा अप्रैंटिस कैसे बना जा सकता है और एक अच्छे प्रतियोगी में आप क्या देखना चाहेंगी?

निहारिका सिंह: अप्रैंटिस को सीधे चाट्री के साथ काम करने का मौका मिलेगा और ये बहुत बड़ा मौका होगा। इसका मतलब ये भी है कि इसका स्तर काफी ऊंचा होगा और उम्मीदें सोच से परे होंगी।

अप्रैंटिस के पास वो हर काबिलियत होनी चाहिए, जो हम हायर करने से पहले देखते हैं, अच्छे मूल्य, पीएचडी फैक्टर (गरीब, भूखा और दृढ निश्चय वाला- भावनात्मक तौर पर) और जीतने की प्रबल इच्छा वाला। हम ऐसे लोगों की तलाश में भी रहते हैं, जिनमें अपने सपनों को पूरा करने की भूख रहती है, ताकि उनके सपने सच में बदल सकें।

इसके अलावा, अब अप्रैंटिस सीधे चाट्री के साथ काम करेंगे। ऐसे में तीन चीजों पर सबसे ज्यादा जोर दिया जाएगा। पहला है जुझारुपन। मैं आपसे पूरे विश्वास के साथ कहती हूं कि चाट्री के साथ काम करना आसान नहीं है इसलिए आपके पास पहले से ही काफी सारी तगड़ी ट्रेनिंग होनी चाहिए। दूसरा है निडरता। चाट्री को अपने आसपास हां में हां मिलाने वाले लोग पसंद नहीं आते। आपको उनके सामने सही चीज कहनी आनी चाहिए। तीसरी व आखिरी खासियत, जो कि काफी असंभव है वो ये कि दिमाग के दाएं और बाएं हिस्से का तेजी से काम करना और काफी अच्छी मात्रा में आईक्यू और ईक्यू रखना।

ONE: ONE लैंगिक समानता की काफी वकालत करता है लेकिन दुनिया भर के बिजनेस में ऐसा देखने को नहीं मिलता है। तो क्या आपको लगता है कि ये मंच इस चीज से लड़ने के लिए अच्छा है?

निहारिका सिंह: ONE Championship न सिर्फ लैंगिक समानता बल्कि सभी लोगों में समानता की तगड़ी वकालत करता है। हम विविधता की ताकत में विश्वास करते हैं। इस बात का अहसास आपको ONE में काम करने वाले हर कर्मचारी को देखकर मिल जाएगा। हम पक्षपात नहीं करते हैं। हम हर समय हर तरह के पक्षपात के खिलाफ रहते हैं, जो चीज हमारे लिए सबसे ज्यादा मायने रखती है, वो है दिमाग, शरीर और आत्मा।

The Apprentice: ONE Championship Edition के लिए भी हम तगडे़ दिमाग और फिट बॉडी वाले की तलाश करेंगे, जिसकी आत्मा अटूट हो। किसी का रंग, जाति, धर्म, जेंडर, सेक्शुअल ओरियंटेशन या कोई बाहरी चीज हमारी कंपनी के लिए कभी मायने नहीं रखती है और शो में भी इन चीजों के मायने नहीं होंगे।

ONE: ये बेशक आपकी इंटरनेशनल प्रोफाइल को ऊंचा करेगा। ऐसे में जो लोग आपको टीवी पर देखेंगे उनके लिए आप क्या मैसेज देना चाहेंगी?

निहारिका सिंह: प्रतियोगियों, अंतिम 16 प्रतिभागियों और अपने फैंस को ये मैसेज देना चाहती हूं कि भले ही आप ये शो देखें या नहीं, हालांकि मैं चाहूंगी कि आप इसे देखें और जानें कि व्यक्तिगत तौर पर हमारे पास हमेशा चुनने के लिए विकल्प होते हैं। यहां तक कि जब हमारी परिस्थितियां नियंत्रण से बाहर हों, तब भी हमारे पास उन हालातों में अपनी तरह से प्रतिक्रिया करने का विकल्प रहता है। हर रोज हम हजारों फैसले लेते हैं और हर फैसला विकल्प को दर्शाता है। मुझे लगता है कि हमारे पास विकल्प हैं। ये जानकारी ही अपने आप में काफी ताकतवर होती है।

और इसके बाद हमारा दिमाग, हमारा दिल और हमारा अंतरमन ये तीन सबसे असरदार और कभी-कभार अकेले तरीके होते है अपना फैसला लेने के लिए। इस वजह से इनका मूल्य समझें, इनको पोषित करें और सबसे ज्यादा जरूरी है कि इन पर विश्वास करें।

ONE: अंत में आप The Apprentice: ONE Championship Edition के बारे में हमें और क्या बताना चाहेंगी?

निहारिका सिंह: मैं आपको ये बताना चाहूंगी कि हम प्रतियोगियों के चुनाव करने की प्रक्रिया में हैं। इन प्रतियोगियों की क्वालिटी बता रही है कि हम सारे रिकॉर्ड तोड़ने वाले हैं! यहां तक कि चाट्री भी प्रतियोगियों को शॉर्टलिस्ट करने में व्यक्तिगत तौर से शामिल हो रहे हैं। इस वजह से मैं प्रतियोगियों को जल्दी से एक सलाह देने जा रही हूं। इस बात को पक्का कर लें कि आप अपने सबमिशन को कम से कम 10 बार जरूर पढ़ लें क्योंकि उन बारीकियों पर ध्यान देना बहुत जरूरी है।

इसके साथ ही अपने दिमाग और बॉडी को ट्रेन करते रहें। मैं आपको आगाह करना चाहती हूं कि ये मुकाबला काफी बेरहम होगा और टेस्ट आपकी सीमा के परे तक लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें: ONE:IGNITE वेबिनार सीरीज़ का पहला एडिशन