मॉय थाई

अच्छा मॉय थाई स्टांस कैसे तैयार करें

जुलाई 12, 2021

जब भी कोई व्यक्ति मॉय थाई सीखना शुरू करता है तो उसे सबसे पहले अच्छे स्टांस की जरूरत पड़ती है।

खुद को अच्छी पोजिशन में रखे बिना आप ना तो अटैक और ना ही खुद को डिफेंड कर पाएंगे, इससे आपको स्पारिंग करने में निराशा होने लगेगी और ना ही आप अपनी ताकत को बढ़ा पाएंगे।

एक अच्छी शुरुआत के लिए ध्यान में रखिए कि मॉय थाई में स्टांस बहुत अधिक मायने रखता है।

ऑर्थोडॉक्स और साउथपॉ स्टांस

वेस्टर्न बॉक्सिंग की तरह मॉय थाई में एथलीट्स दायें हाथ के (ऑर्थोडॉक्स) होते हैं या बाएं हाथ के (साउथपॉ) होते हैं और ये ही 2 स्टांस के नाम हैं।

ऑर्थोडॉक्स अपने बाएं पैर को आगे रखते हैं और उनके शरीर के दायें हिस्से में ज्यादा ताकत होती है। वहीं साउथपॉ फाइटर्स अपने दायें पैर को आगे रखते हैं और उनके बाईं ओर से आने वाला अटैक अधिक प्रभावशाली होता है।

कुछ मॉय थाई फाइटर्स अपने ज्यादा ताकतवर पैर में अलग-अलग तरह की चीजें पहनते हैं। “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” योडसंकलाई IWE फेयरटेक्स अपने पिछले पैर की तुलना में बाएं पैर में एक अजीब रंग का एंकलेट पहनते हैं।

आप चाहे ऑर्थोडॉक्स हों या साउथपॉ, लेकिन ऐसे कई नियम हैं जिन्हें आपको अपनी बॉडी को अच्छी पोजिशन में लाने के लिए ध्यान रखना चाहिए।

पैर की पोजिशन

Muay Thai legend Nong-O Gaiyanghadao fights Rodlek PK.Saenchai Muaythaigym at ONE: COLLISION COURSE

कहा जाता है कि एक फाइटर को अपने पैरों को कंधे की चौड़ाई से भी थोड़ा अधिक दूरी पर रखना चाहिए। मगर कई टॉप लेवल के फाइटर्स जैसे ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन नोंग-ओ गैयानघादाओ अपने पैरों को अन्य एथलीट्स की तुलना में ज्यादा दूर रखते हैं।

चौड़े स्टांस से नोंग-ओ का किक्स के खिलाफ डिफेंस अच्छा हो जाता है और बैलेंस भी नहीं बिगड़ता। दूसरी ओर, कई मौकों पर टीप्स लगाने से पहले वो अपने पैरों की दूरी को कम कर लेते हैं।

फिलहाल के लिए आपको अपने पैरों को कंधों की चौड़ाई से थोड़ा दूरी पर ही रखना चाहिए और साथ ही अपने घुटनों को मोड़ कर रखें। एक बार आपने इस स्टांस में रहना सीख लिया तब आप आसानी से पैरों की दूरी में बदलाव कर पाएंगे।

बॉक्सिंग स्टांस से उलट अपने हिप्स को अपने विरोधी के हिप्स के सामने रखें।

अंत में आप अपने पैरों की मदद से ही किसी मूव को अच्छे से लगा पाएंगे और यही चीज आपके हाथों के लिए भी कही जा सकती है।

बाजू, कोहनी, हाथ और हेड पोजिशन

Muay Thai fighter Saemapetch Fairtex goes for the punch

मार्शल आर्ट्स पर आधारित फिल्म और वीडियो गेम्स में मॉय थाई फाइटर्स के स्टांस को काफी बढ़ा-चढ़ाकर बताया है।

कई एथलीट्स अपने हाथ और एल्बोज़ को अपनी बॉडी से काफी दूर रखते हैं, वहीं कुछ अपने सिर के सामने रखते हैं। लेकिन ये खुद को सामने से आ रहे प्रभावशाली अटैक से बचाने के लिए सही पोजिशन नहीं है।

इसके बजाय आप अपने अंगूठों को अपनी भौंहों के सामने लाएं, हथेली एक-दूसरे के सामने रहनी चाहिए और अपने हाथों के नेचुरल पोजिशन में नीचे लेकर आएं। ऐसा करने के बाद आपकी कोहनियों के बीच की दूरी हाथों की दूरी से थोड़ी ज्यादा होनी चाहिए।

आपको ऐसा नहीं लगना चाहिए कि आप अपनी एल्बो को जबरदस्ती अंदर या बाहर की तरफ करने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ ऐसे मौके आएंगे जब आपको डिफेंस के लिए अपने हाथों को बॉडी के करीब लाना होगा, इसके अलावा अन्य मौकों पर आपको एल्बोज़ को खुद से दूर ही रखना चाहिए।

आपके हाथ सिर के सामने होने चाहिए और ठोड़ी इतनी झुकी होनी चाहिए कि आप अपने कंधों को मूव कर हुक्स से खुद को बचा सकें। चेस्ट की ओर ठोड़ी को थोड़ा झुकाएं और ध्यान रहे कि ठोड़ी आपकी चेस्ट को ना छुए।

स्टांस और बॉडी को अच्छी पोजिशन में लाने के बाद आपको ध्यान रखना होगा कि आपका बॉडीवेट किस तरह आपको फायदा दिला सकता है।

बॉडीवेट को कैसे मैनेज करें

Live action shots of Muay Thai fighters Sam-A Gaiyanghadao and Josh Tonna from ONE: REIGN OF DYNASTIES on 9 October!

आमतौर पर, आप दोनों पैरों पर बराबर भार के साथ खड़े होने की कोशिश करते हैं। अगर आप झुक कर खड़े होंगे तो आपके प्रतिद्वंदी को फायदा होगा। खासतौर पर लो किक्स से आपको काफी क्षति पहुंच सकती है क्योंकि बॉडीवेट आगे होने से समय रहते किसी भी एथलीट के लिए पीछे आना मुश्किल होता है।

दूसरी ओर, पिछले पैर पर ज्यादा जोर देने से आपके मूव्स का प्रभाव कम हो जाएगा, खासतौर पर आपके पंच।

अब सवाल है कि किस तरीके से बॉडीवेट को बैलेंस किया जाए। कब अगले पैर पर ज्यादा जोर देना चाहिए और कब पिछले पैर पर। ये सब स्थिति पर निर्भर करता है और ज्यादा अनुभव ही ऐसा करने में आपके लिए मददगार रहता है।

2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन सैम-ए गैयानघादाओ बॉडीवेट को पिछले पैर पर रखते हुए लीड लेग-टीप्स लगाते हैं। वही स्ट्रेट लेफ्ट लगाते समय वो बॉडी वेट को फ्रंट लेग पर भी ले आने में महारत रखते हैं।

मॉय थाई फुटवर्क

एक ऐसा समय आएगा जब आप मॉय थाई स्टांस के बेसिक्स सीख चुके होंगे और उसके बाद फुटवर्क में सुधार लाने की कोशिश कर रहे होंगे। ध्यान रहे कि मॉय थाई और बॉक्सिंग का फुटवर्क बहुत अलग होता है।

बॉक्सिंग में बहुत कम मौकों पर फाइटर्स को निरंतर मूवमेंट करते देखा जाता है, लेकिन मॉय थाई में मूवमेंट किसी फाइटर को बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाती है।

आगे, पीछे और साइड मूवमेंट करते समय भी आपको मॉय थाई स्टांस में बने रहना होता है।

उदाहरण के तौर पर, आगे आने के लिए पहले अपने पिछले पैर का इस्तेमाल मत कीजिए। इसके बजाय अगले पैर को पहले आगे रखिए और उसके बाद पिछले पैर को उठाइए। वहीं पीछे जाते समय पिछले पैर को पहले उठाइए। साइड मूवमेंट करने के लिए उस तरफ के पैर को पहले मूव करिए जिस तरफ आप मूवमेंट करने वाले हैं।

आपको इस सफर में कई अनुभवी एथलीट्स भी देखने को मिलेंगे, जिनका फुटवर्क शानदार है। किस तरह फ्रंटफुट की मदद से किक से बचा और उसे काउंटर भी किया जा सकता है, ठीक उसी तरह जिसकी मदद से “द किकिंग मशीन” सुपरलैक कियातमू9 ने “द एंजेल वॉरियर” पानपयाक जित्मुआंगनोन को हराया था।

ये भी पढ़ें: ONE सुपरस्टार्स द्वारा कही गईं 10 सबसे प्रेरणादायक बातें

और लोड करें

Stay in the know

Take ONE Championship wherever you go! Sign up now to gain access to latest news, unlock special offers and get first access to the best seats to our live events.
By submitting this form, you are agreeing to our collection, use and disclosure of your information under our Privacy Policy. You may unsubscribe from these communications at any time.